समाचार
|| पहले दिन 570 स्वास्थ्य कर्मियों को लगे कोरोना के टीके || केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री आज दिल्ली रवाना होंगे || मकर संक्रांति पर सिविल डिफेंस कर्मियों का सहयोग रहा सराहनीय || कुगंवा के पास 75 लाख की नजूल भूमि से हटाये गये अवैध कब्जे || रोको-टोको अभियान : 134 व्यक्तियों से वसूला गया 13 हजार 400 रुपये का जुर्माना || कोरोना से स्वस्थ होने पर 42 व्यक्ति डिस्चार्ज || नगर निगम उपायुक्त सहित आज सत्ताईस लोगों ने लिया देहदान का संकल्प || एमपी में एक्सपर्ट महिला ड्राईवर मिलेगी, खुलेंगे ट्रेनिंग सेंटर- परिवहन मंत्री श्री गोविंद राजपूत || जिले में कोविड- 19 टीकाकरण अभियान शुरू || जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई
अन्य ख़बरें
प्रदेश COVID-19 टीकाकरण के लिये तैयार : 16 जनवरी को होगी शुरूआत
-
शहडोल | 14-जनवरी-2021
    मध्यप्रदेश COVID-19 टीकाकरण अभियान को सफलता से लागू करने के लिये पूरी तरह से तैयार है और COVID-19 टीकाकरण के सभी प्रमुख तत्वों पर काम कर रहा है। इसमें शासन और समीक्षा तंत्र, प्रशिक्षण, कोल्ड चेन और वैक्सीन लॉजिस्टिक्स प्रबंधन, COWIN पोर्टल, सत्र की योजना, AEFI प्रबंधन और संचार शामिल है।
मध्यप्रदेश 16 जनवरी से 3 लाख 31 हजार शासकीय और लगभग 85 हजार निजी क्षेत्र के, कुल 4 लाख 16 हजार स्वास्थ्य देशभाल प्रदाताओं का टीकाकरण करने जा रहा है। ये स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता 3608 राज्य और केन्द्रीय मंत्रालयों के स्वास्थ्य संस्थानों और संबद्ध आउटरीच क्षेत्र तथा 7780 निजी क्षेत्र के स्वास्थ्य संस्थानों के माध्यम से सेवाएँ प्रदान कर रहे हैं।
राष्ट्रीय लांच
   16 जनवरी, 2020 को कोविड वैक्सीन का राष्ट्रीय लांच निर्धारित किया गया है। इसके लिये मध्यप्रदेश में 302 स्थलों का चयन किया गया है। दो स्थलों, जे.पी. अस्पताल भोपाल और एमजीएम मेडिकल कॉलेज इंदौर में इवेंट की वेब-कास्टिंग के लिये विशेष टू-वे कम्युनिकेशन सिस्टम होगा।
वैक्सीन प्रशासन-विधि और समीक्षा तंत्र
   राज्य कार्य बल और संचालन समिति नियमित रूप से बैठक कर रही है। अभियान की तैयारियों की निगरानी के लिये सभी जिला टॉस्क-फोर्स और ब्लॉक टॉस्क-फोर्स का गठन किया गया है। सभी जिलों ने अभियान की तैयारियों का आकलन करने के लिये पहली टॉस्क-फोर्स की बैठक पूरी कर ली है। COVID-19 के लिये राज्य नियंत्रण-कक्ष और कमांड सेंटर की स्थापना की गई है। तैयारियों तथा कार्यान्वयन में जिलों की निगरानी और सहयोग के लिये संभागीय ओआईसी भी बनाये गये हैं।
   सभी जिला कलेक्टरों को COVID-19 टीकाकरण के लिये आवश्यक तौर-तरीकों और तैयारियों पर जानकारी दी गई है। सभी जिलों और ब्लॉकों को प्रगति की निगरानी के लिये नियंत्रण-कक्ष स्थापित करने के लिये कहा गया है। राज्य AEEF समिति का विस्तार न्यूरोलॉजिस्ट, कॉर्डियोलॉजिस्ट और अन्य विशेषज्ञों को शामिल करने के लिये किया गया है।
ड्राई रन अपडेट
   भारत सरकार के निर्देशों के अनुसार राज्य ने 2 जनवरी को राजधानी भोपाल और 8 जनवरी को सभी 51 जिलों में सफल ड्राई रन किया था। सार्वजनिक और निजी सुविधाओं में 153 सत्र स्थल पर ड्राई रन का आयोजन किया गया।
प्रशिक्षण
   राज्य ने COWIN मॉड्यूल और परिचालन दिशा-निर्देशों पर सभी जिलों को प्रशिक्षित किया है। इसके अलावा, मेडिकल कॉलेज और प्रेक्टिशनर्स की ट्रेनिंग और मीडिया ओरिएंटेशन भी किया जा रहा है। जिला-स्तर पर सभी कैस्केड प्रशिक्षण भी पूरे हो चुके हैं। ब्लॉक-स्तर पर सभी ब्लॉकों ने वैक्सीनेटर और COWIN मॉड्यूल पर प्रशिक्षण पूरा कर लिया है।
कोल्ड चेन ओर वैक्सीन लॉजिस्टिक्स मैनेजमेंट
   राज्य ने विस्तृत कोल्ड-चेन भंडारण क्षमता का मूल्यांकन किया है। रूटीन टीकाकरण टीकों के अलावा राज्य, मंडल, जिला और उप-जिला स्टोरों में 4 करोड़ 2 लाख COVID-19 खुराक भंडारण क्षमता प्राक्कलित की है। राज्य ने भारत सरकार से 311 अतिरिक्त आइस लाइनेड रेफ्रिजरेटर (ILR) तथा 86 डीप फ्रीजर्स (DF) प्राप्त किये हैं। COVID-19 टीकाकरण की माँग को ध्यान में रखते हुए सभी जिलों को ये उपकरण वितरित किये हैं।
   राज्य-स्तर के स्टोर- भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में वैक्सीन प्राप्त करने की तैयारी पूरी कर ली गई है। प्राप्त होने के 24 घंटे के भीतर सभी जिला टीका स्टोर में इन्हें ले जाने की योजना पूरी हो गई है। कोल्ड-चेन स्पेस को बहाल करने के लिये मरम्मत अभियान अक्टूबर-2020 में शुरू किया गया था। अब तक कुल 122 उपकरणों की मरम्मत की जा चुकी है। राज्य में उपकरण खराबी की दर केवल 0.6 प्रतिशत है। सीरिंज, वैक्सीन कॅरियर और अन्य लॉजिस्टिक्स के भंडारण के लिये पर्याप्त स्थान सुनिश्चित करने के लिये शुष्क स्थान का आकलन किया गया है।
COWIN पोर्टल
   राज्य ने 3608 शासकीय स्वास्थ्य सुविधाओं और 7,780 निजी स्वास्थ्य सुविधाओं में COWIN पोर्टल पर 4 लाख हेल्थ केयर वर्कर्स (> 100% HCW लक्ष्य) को पंजीकृत किया है। COVID-19 टीकाकरण के लिये COWIN पोर्टल पर 28 हजार 365 वैक्सीनेटर पंजीकृत किये गये हैं। लाभार्थी पंजीकरण और ट्रेकिंग, सत्र की योजना, सत्र संचालन, टीका एवं लॉजिस्टिक्स प्रबंधन, प्रतिकूल घटना की रिपोर्टिंग, मॉनीटरिंग के लिये डेटा एनालिटिक्स/डेशबोर्ड, कोविन पोर्टल की मदद से किया जा सकता है।
सत्र की योजना
   राज्य ने टीकाकरण के लिये सत्र स्थलों के रूप में स्वास्थ्य संस्थान की पहचान की है। इसमें जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, नागरिक अस्पताल, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र (आवश्यक बुनियादी ढाँचे और मानव संसाधन के साथ) और निजी संस्थान (जहाँ आवश्यक हो) शामिल है। राज्य ने स्वास्थ्य संस्थानवार सत्र तथा जिलावार स्थलों की आवश्यकता का अनुमान लगाया है, जो COWIN (4 लाख) पर पंजीकृत एचसीडब्ल्यू की संख्या के आधार है और नियोजन उसी के अनुसार किया जा रहा है।
   राज्य में 5 दिनों में सभी 4 लाख हेल्थ केयर वर्कर्स का टीकाकरण करने की योजना बनायी गयी है। राज्य के सत्र योजना के संबंध में प्रमुख तैयारियों जैसे सत्र स्थलों की पहचान और उनका भौतिक सत्यापन, टीकाकरण टीम के सदस्यों की पहचान और COWIN पोर्टल/एप्लीकेशन का प्रशिक्षण, COWIN पोर्टल पर टीकाकरण के लिये माइक्रो-प्लानिंग पूर्ण कर लिये गये हैं।
   कुल प्रस्तावित सत्र की संख्या 4717 है। पाँच दिन में अभियान सम्पादित करने वाले जिलों की संख्या-42 जिले (कुल प्रस्तावित सत्र-3946) है। इसी प्रकार चार दिन में अभियान सम्पादित करने वाले जिलों की संख्या-9 जिले (कुल प्रस्तावित सत्र-771) है। कुल टीकाकरण सत्र स्थल-1149 है। राष्ट्रीय शुभारम्भ के लिये प्रदेश में चयनित सत्र स्थल-302 निर्धारित है। कुल गठित टीमों की संख्या-1149 है। प्रत्येक टीम में वैक्सीनेशन ऑफिसर सहित संख्या-5 (2 एएनएम, एक आँगनवाड़ी कार्यकर्ता, एक आशा) निर्धारित की गई है।
 
(3 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2021फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer