समाचार
|| लोकोपयोगी सेवा की लोक अदालत से एक छात्रा के प्रकरण का मात्र डेढ़ माह में हुआ निराकरण "कहानी सच्ची है" || पर्यावरण मंत्री श्री डंग ने किया निर्माणाधीन गौ-शाला का निरीक्षण || राज्यमंत्री श्री कावरे ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर मैराथन दौड़ को हरी झंडी दिखाई || राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने ग्वालियर में जल संसाधन विभाग के अधिकारियों की बैठक में दिए निर्देश || अल्पसंख्यक वर्ग के लिये 4 परियोजनाओं को स्वीकृति || चहुँमुखी विकास के लिए निरंतर काम कर रही प्रदेश सरकार || अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस पर सॉची में कार्यक्रम आयोजित || सुपोषित मध्यप्रदेश बनाने के लिए कुपोषित मुक्त पंचायत और जिले बनाने होंगे || बच्चे अपनी रुचि और योग्यता अनुसार कैरियर का चयन करे- प्रमुख सचिव श्रीमती शमी || 1 फरवरी से मंडीदीप, औबेदुल्लागंज और गौहरगंज में शुरू होगा कॉविड-19 टीकाकरण
अन्य ख़बरें
पक्का मकान बना तो पूरी हुई भिण्ड के श्री सुखलाल की उम्मीद (खुशियों की दास्तां)
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान पाकर खुश है भिण्ड के जैन परिवार
भिण्ड | 14-जनवरी-2021
       भिण्ड निवासी श्री सुखलाल जैन ने कभी सोचा नहीं था कि उसका सपना पूरा होगा। प्रधानमंत्री जी की योजना ने उसकी उम्मीद पूरी की। आज वह अपने पक्के मकान में परिवार के साथ खुशियां बांट रहा है। श्री सुखलाल जी का कहना है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने योजना बनाई और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह ने इसे अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाया। इसमें नगर पालिका परिषद और आवास मित्रों ने महती भूमिका निभाई। आज इसी की बदौलत भिण्ड जैसे जिले के सैकड़ों परिवारों को पक्का मकान मिला है।
    भिण्ड जिले के नलकूप गली अग्रवाल कॉलोनी अटेर रोड़ में रहने वाला श्री सुखलाल मेहनत-मजदूरी कर अपने तथा अपने परिवार का पेट पाल रहा था। रोज मजदूरी करना और जो मिले उससे परिवार का खर्च चलाना, यही उसकी दिनचर्या का हिस्सा था। आर्थिक स्थिति इतनी कमजोर थी कि पक्का मकान बनाने की बात भी वह नहीं सोच पाता था। इसलिए कच्चे मकान में होने वाली दिक्कतों को सहना और उससे लड़ना सीखना ही उसकी मजबूरी थी। यही बात वह अपनी पत्नी और बच्चों को भी सिखाया करता था।
    फिर प्रधानमंत्री आवास योजना उसके जीवन में उम्मीद की किरण बनकर आई। पता चला कि इस योजना के तहत सहयोग राशि मिलेगी और अपने ही मकान में काम करने की मजदूरी भी। बस फिर क्या था श्री सुखलाल जी की सोच रातों रात बदल गई। उसने अपने परिवार वालों को योजना के बारे में बताया और कहा कि जल्द ही उसके खाते में पहली किस्त आने वाली है, ऐसा नगर पालिका से पता चला। उस दिन के बाद वे बैंक में हर रोज जाकर रकम के बारे में पता करने लगे। तब आवास मित्र ने बताया कि चिंता करने की आवश्यकता नहीं है, खाते में रकम आते ही उन्हें जानकारी दे दी जाएगी।
    योजना के तहत स्वीकृत एक लाख 20 हजार रुपए में से पहली किस्त के 48 हजार खाते में ज्यों ही जमा हुए श्री सुखलाल जी ने अपने घर की नींव रख दी। तेजी से काम शुरू कर दिया। मिस्त्री के नहीं आने पर वह खुद ही ईंटें जोड़ने लगता था। परिवार के बाकि सदस्य भी मजदूरी करने लगे। लेंटर का काम शुरू होने से पहले दूसरी किस्त खाते में जमा हो गई। मकान में काम करते हुए भी श्री सुखलाल जी को यकीन नहीं हो रहा था कि वह अपने मकान में काम कर रहा है। जब मकान बनकर तैयार हुआ तो आखिरी किस्त मिली। इस दौरान मनरेगा के तहत मजदूरी के 15000 रुपए भी खाते में आए।
    श्री सुखलाल जी का कहना है कि आज उसका सपना हकीकत में बदल गया। आवास मित्र और जनप्रतिनिधियों के सहयोग से प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उसका खुद का पक्का मकान बनकर तैयार है और वह अपने परिवार के साथ उसी मकान में खुशी-खुशी रह रहा है। इस खुशी का पूरा श्रेय वह प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह जी को देते हुए कहता है कि एक ने योजना बनाई तो दूसरे ने उसे अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाकर न्याय किया।
    श्री सुखलाल जी ने बताया की भिण्ड में ऐसे कितने ही परिवार हैं, जिन्हें योजना का लाभ मिला। केवल मकान ही नहीं बनाए बल्कि शौचालय का निर्माण भी कराया गया। इससे गरीब परिवारों को घर तो मिला ही शहर को खुले में शौच मुक्त भी किया गया। लोगों का कहना है कि आज पूरा शहर स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ चुका है। सभी इसमें सहयोग कर रहे हैं।
(10 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2021फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer