समाचार
|| आपके द्वार आयुष्मान कार्ड माह का आयोजन || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दिलवाया विपदाग्रस्त सहरिया परिवार को आर्थिक सहारा || दीनबंधु स्वास्थ्य परीक्षण व उपचार शिविर में आने वाले गम्भीर बीमारी से ग्रस्त हितग्राहियों का अरविंदो हॉस्पिटल से हो रहा निःशुल्क उपचार || मध्यप्रदेश के प्रत्येक ज़िले में दो तालाबों को बनाएंगे मॉडल तालाब || अब सभी पेंशन प्रकरण ऑनलाईन तैयार होंगे,भुगतान में नहीं होगा विलंब || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अमर शहीद चंद्रशेखर आजाद एवं नानाजी देशमुख को श्रद्धांजलि दी || 24 हजार रूपये कीमत की अवैध मदिरा जप्त || डायवर्सन जमा नहीं करने पर संघवी मेटल्स सील || प्रबंध संचालक ने की मध्यप्रदेश अर्बन डेवलपमेंट के कार्यो की समीक्षा || खाद्य पदार्थों के नमूनों की जाँच के लिये चलित खाद्य प्रयोगशाला
अन्य ख़बरें
कोरोना वैक्सीन सुरक्षित है, महाभियान को सफल बनाएं : मुख्यमंत्री श्री चौहान
कोरोना वैक्सीन के संबंध में वीडियो कान्फ्रेंस द्वारा कलेक्टर्स से चर्चा
टीकमगढ़ | 14-जनवरी-2021
   मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज भोपाल से  वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोविड टीकाकरण के संबंध में समस्त कलेक्टर, कमिश्नर के साथ चर्चा की। इस अवसर पर टीकमगढ़ जिले से कलेक्टर कार्यालय स्थित एनआईसी कक्ष में विधायक टीकमगढ़ श्री राकेश गिरि गोस्वामी, खरगापुर विधायक श्री राहुल सिंह, जनप्रतिनिधि, विभिन्न धर्मों के धर्मगुरू, कलेक्टर श्री सुभाष कुमार द्विवेदी, एसपी श्री प्रषांत खरे एवं संबंधित अधिकारी वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में शामिल हुये।
    मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन आ गई है जो किसी संजीवनी बूटी से कम नहीं है। नागरिकों को क्रमानुसार इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि अब हमें कोरोना महामारी का पूरी तरह समापन करना है। टीकाकरण के प्रथम चरण में प्रदेश के करीब सवा चार लाख हेल्थ केयर वर्कर्स को टीका लगाया जाएगा जिन्होंने हम सभी की जिन्दगी बचाने का कार्य किया है। कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों पूरी तरह सुरक्षित हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आव्हान किया कि जिलों के प्रशासनिक अधिकारी, जनप्रतिनिधि, मीडिया इसके बारे में किसी भ्रामक जानकारी या अफवाहों को नहीं पनपने दें और इस महाभियान को सभी मिलकर सफल बनाने में सहयोग दें। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 16 जनवरी को पहला टीका किसी सफाई कर्मचारी को लगाने का प्रयास है। यह सफाई कर्मियों की सेवाओं का सम्मान भी होगा जो कोरोना के संकटकाल में उन्होंने प्रदान की हैं।
महाभियान के विभिन्न चरण
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि 16 जनवरी से प्रारंभ हो रहे इस अभियान के लिए जिलों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। केन्द्र सरकार द्वारा वैक्सीन की सेफ्टी की पुष्टि की गई है। प्रत्येक नागरिक को इसके दो डोज लगेंगे। पहला डोज लगने के पश्चात इसे 28 दिन के पश्चात पुनरू लगाया जाएगा। इसके 14 दिन पश्चात मानव शरीर में एंटी बॉडी का निर्माण होगा, टीका लगने के बाद तत्काल प्रभाव नहीं होता है। प्रदेश में जिलावार वैक्सीन का आवंटन किया गया है। शिकायत और सुझाव प्राप्त करने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं की गईं हैं। शासकीय अस्पतालों के साथ ही निजी अस्पतालों को भी वैक्सीन लगाने के लिए चिन्हित किया गया है। प्रथम चरण में यह टीका 18 साल से कम उम्र के व्यक्ति, गर्भवर्ती महिलाओं तथा एलर्जिक व्यक्ति को नहीं लगाया जायेगा।
धर्म गुरु, समाज सेवी, नागरिकों को दें अभियान की जानकारी
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आव्हान किया कि सभी धर्म गुरु, जिला प्रशासन वैक्सीन लगाने की इस प्राथमिकता की जानकारी आमजन को दें। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस महाभियान से संबंधित कोई अफवाह फैले तो उसे सही जानकारी देकर समझाया जाए। सभी अधिकारी, जन प्रतिनिधि, आमजन सहयोग देकर इसे निर्विघ्न संपन्न करने का  कार्य करें। इस महाभियान को सफल बनाएं। किसी को यदि वैक्सीन के बाद छोटी-मोटी एलर्जी भी हो तो उस दशा में घबराने की आवश्यकता नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यापक जनहित के इस कार्य के संबंध में नकारात्मक संदेश न जाए, यह प्रयास करें। वास्तविक और प्रामाणिक जानकारी देने के लिए स्वास्थ्य विभाग भी सक्रिय रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें पूरा विश्वास है कि वैक्सीन के संबंध में मीडिया बंधु भी सही जानकारियां देंगे, यही आग्रह है। वैक्सीन सुरक्षित है। आमजन को यह जानकारी मिलना चाहिए।
(45 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2021मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer