समाचार
|| मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना तहत अब तक एक लाख 24 हजार से अधिक किसानों के खातों में राशि डाली गई || आयुष्‍मान भारत ‘’निरामयम’’ योजना का उद्देश्‍य गरीब एवं असहाय परिवारों को गुणवत्‍तापूर्ण इलाज समय पर उपलब्‍ध कराना || देवास जिले में आयोजित सैनिक भर्ती रैली में भाग लेने के लिए नौजवान 05 मार्च तक कराये पंजीयन || देवास जिले में दिव्‍यांगता प्रमाण-पत्र बनाने के लिए आयोजित होंगे शिविर || जिला पंचायत देवास की साधारण सभा की बैठक 1 मार्च को || कोविड -19 टीकाकरण के द्वितीय चरण का शुभारंभ 1 मार्च 2021 से || 8 मार्च और 5 जून को भी होगी विशेष ग्राम सभा || वृत्तिकर जमा करने की अंतिम तिथि 31 मार्च || प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 1 मार्च को करेंगे को-वैक्सीनेशन अभियान का शुभारंभ करेंगे || जन आंदोलन अभियान की कार्यशाला सम्पन्न (राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन - टीबी हारेगा, देश जीतेगा)
अन्य ख़बरें
सुकवरी साकेत के बुढ़ापे का सहारा बनी राष्ट्रीय वयोश्री योजना "कहानी सच्ची है"
-
सीधी | 17-जनवरी-2021
 
          वृद्धावस्था में सहारे की अत्यधिक आवश्यकता होती है। इस समय शरीर कमजोर हो जाता है। देखने और सुनने में भी समस्या होने लगती है। पैरों में घुटनों समस्या के कारण कहीं आने जाने में भी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले वृद्ध जनों को चिंता रहती है कि वृद्धावस्था कैसे कटेगा, उनके पास तो कृत्रिम उपकरण खरीदने के भी पैसे नहीं रहते हैं।  ऐसी ही समस्याओं का सामना कर रही थीं सीधी जिले के ग्राम रामपुर  तहसील गोपद बनास के 70 वर्षीय सुकवरी साकेत। ऐसे ही वृद्धजनों की समस्या के निवारण के लिए भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय वयोश्री योजना का संचालन किया जा रहा है।
         राष्ट्रीय वयोश्री योजना अंतर्गत बीपीएल श्रेणी के वरिष्ठ नागरिकों को निःशुल्क जीवन सहायक उपकरण वितरित किये जाते हैं। सीधी जिले में भारतीय कृत्रिम अंग निर्माण विभाग जबलपुर के सौजन्य से योजनांतर्गत जनपद पंचायतवार सर्वे कर दिव्यांगजनों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया तथा उन्हें सहायक उपकरणों के लिए चिंहांकित किया गया। इन सभी हितग्राहियों को जनपद पंचायत वार शिविरों का आयोजन कर सहायक उपकरण वितरित किए जा रहे हैं।
              ऐसे ही जनपद पंचायत सीधी में आयोजित कार्यक्रम में सुकवरी साकेत को कृत्रिम उपकरण व्हीलचेयर, वॉकिंग स्टिक, श्रवणयंत्र एवं चश्मा निःशुल्क प्रदान किया गया। कृत्रिम उपकरण मिलने से सुकवरी साकेत बहुत खुश हैं।  उन्होंने बताया कि उन्हें राज्य सरकार द्वारा सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि 600 रुपये मिलती है, खाने के लिए प्रत्येक माह 10 किलो अनाज मिलता, उज्ज्वला योजना अंतर्गत गैस का भी लाभ मिला है।  वे कहती हैं कि इन उपकरणों के मिलने से बहुत बड़ा सहारा हो गया है। अब उन्हें कहीं भी आने-जाने तथा देखने में किसी भी प्रकार की कोई कठिनाई नहीं होगी। वृद्धावस्था भी आसानी से कट जाएगी।
 
(42 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2021मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer