समाचार
|| 10 अप्रैल की ‘‘नेशनल लोक अदालत’’ के लिये बैठक आयोजित || पुनर्वास स्कूल में छात्रों को ड्रेस वितरित की गई || जिला राजगढ के आहरण संवितरण अधिकारियों ,क्रियेटर्स को ईएसएस ,एनपीएस,पेंशन माड्यूल का प्रशिक्षण सम्पन्न हुआ || जिला स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता का शुभारम्भ 8 मार्च को उत्कृष्ट विद्यालय में || महिला दिवस पर महिला संगोष्ठी का आयोजन || कोविड़-19 टीकाकरण ब्लॉक स्तर पर 8 मार्च से होगा || 08 मार्च को उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को किया जाएगा समारोह पूर्वक सम्मानित || अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर लगेगी हुनर हाट || कलेक्टर ने खिलचीपुर, जीरापुर, छापीहेड़ा क्षेत्र के गेहूँ खरीदी केन्द्र का निरीक्षण किया || कोविड-19 के विश्व में महिला नेतृत्व की समान उन्नति थीम पर मनाया जाएगा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस
अन्य ख़बरें
केन्द्रीय वित्त पोषित योजनाओं में मिलने वाले सहायक अनुदान को बढ़ाया जाये
केन्द्रीय वित्त मंत्री के साथ प्री-बजट चर्चा में वित्त मंत्री श्री देवड़ा ने दिये सुझाव, आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का होगा निर्माण
जबलपुर | 18-जनवरी-2021
   राज्य सरकार ने केन्द्रीय वित्त पोषित योजनाओं में मिलने वाले सहायक अनुदान में कमी को देखते हुए बढाने का आग्रह किया है। इसी प्रकार बिना शर्त जी.एस.डी.पी. का एक प्रतिशत अतिरिक्त ऋण और प्राप्त करने की स्वीकृति देने पर भी केन्द्र से विचार करने का आग्रह किया है।
   आज केन्द्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण से केन्द्रीय बजट के पहले राज्यों के वित्त मंत्रियों से विभिन्न बजट प्रस्तावों पर चर्चा में वित्त मंत्री श्री जगदीश देवड़ा ने राज्य सरकार की ओर से मध्यप्रदेश को केन्द्रीय बजट में जरूरत के अनुकूल बजट प्रस्तावों पर चर्चा कर महत्वपूर्ण सुझाव दिये।
आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का होगा निर्माण
   वित्त मंत्री श्री देवड़ा ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आत्मनिर्भर भारत निर्माण की दूरदृष्टि से प्रेरित होकर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आत्म निर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिये रोडमैप बनाया है। इस साल के बजट से यह कल्पना साकार होगी और शक्तिशाली आत्मनिर्भर भारत के साथ आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का भी निर्माण होगा।
   वित्त मंत्री श्री देवड़ा ने कहा कि केन्द्र प्रवर्तित एवं केन्द्र क्षेत्रीय योजनाओं के अंतर्गत भारत सरकार से सीधे बैंक खाते में राशि अंतरित की जा रही है। इन योजनाओं की राशि राज्य की समेकित निधि के माध्यम से उपलब्ध करायी जानी चाहिए। उन्होंने अधोसंरचना कार्यों से संबंधित केन्द्र प्रवर्तित एवं केन्द्र सहायतित महत्वपूर्ण योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, स्मार्ट सिटी मिशन आदि में केन्द्रांश के अनुपात में बढ़ोत्तरी करने की भी चर्चा की।
आपदाओं से निपटने राज्यों को ज्यादा राशि मिले
   मंत्री श्री देवड़ा ने केन्द्रीय वित्त मंत्री को बताया कि कीट प्रकोप एवं बाढ़ आपदा के कारण हुई क्षति के मुआवजे के रूप में भारत सरकार से 3,685 करोड़ रूपये की मांग की गई है। अभी तक 611 करोड़ रूपये मिले है। विभिन्न प्राकृतिक आपदाओं के समय राहत एवं पुनर्वास के लिये राज्यों को ज्यादा राशि उपलब्ध कराने का प्रावधान रखा जाये।
वित्त मंत्री श्री देवड़ा ने कहा कि खाद्यान्न का उपार्जन राज्य की संस्थाऐं करती हैं तथा व्यय की गई राशि की प्रतिपूर्ति, भारतीय खाद्य निगम/केन्द्र सरकार द्वारा की जाती है। उपार्जन पर हुए व्यय की स्थिति में केन्द्र सरकार को नीतिगत पहल करनी चाहिए।
बिना कटौती मिले चाही बजट राशि
   वित्त मंत्री ने कहा कि बिना किसी कटौती के मध्यप्रदेश को अनुमान की पूरी राशि मिलना चाहिए। उन्होंने इस वर्ष भी बजट अनुमान तथा पुनरीक्षित अनुमान के अंतर की राशि को अतिरिक्त ऋण के रूप में प्राप्त करने की अनुमति देने का आग्रह किया।
   राज्य सरकार की ओर से प्री-बजट चर्चा में प्रमुख सचिव वित्त श्री मनोज गोविल, सचिव वित्त श्री गुलशल बामरा, उप सचिव वित्त श्री रूपेश पटवार उपस्थित थे।
(48 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2021अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
22232425262728
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer