समाचार
|| मंत्री श्री दत्तीगांव ने बदनावर में आयोजित ISO अवार्ड समारोह कार्यक्रम में थाना प्रभारी सीबी सिंह को किया बदनावर थाने का आईएसओ प्रमाण पत्र प्रदान || पेट फिएस्टा में श्वान मालिकों ने दिखाया जबरदस्त उत्साह || अखिल भारतीय पैराडाईज गोल्ड कप क्रिकेट टूर्नामेंट का 24 वां सौपान समापन समारोह कार्यक्रम संपन्न || अब सभी पेंशन प्रकरण ऑनलाइन तैयार होंगे, भुगतान में नहीं होगा विलंब || मध्यप्रदेश के प्रत्येक ज़िले में दो तालाबों को बनाएंगे मॉडल तालाब || कोरोना से स्वस्थ होने पर 15 व्यक्ति डिस्चार्ज || आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के लिये दो वृहद औद्योगिक इकाईयों को भूमि आवंटित || राष्ट्रीय कामगार आयोग के उपाध्यक्ष श्री बब्बन रावत ने नगर निगम और नगर पालिकाओं के अधिकारियों की ली बैठक || नि:शुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अंतर्गत फीस प्रतिपूर्ति के संबंध में तिथियां जारी || उपार्जन के बाद गेहूं और धान में आई कमी के लिए कलेक्टर ने दिये समितियों एवं परिवहनकर्ता से 61 लाख 44 हजार रुपये वसूलने के आदेश
अन्य ख़बरें
नारी शक्तियों की सुरक्षा एवं सम्मान की दिशा में समाज की सोच बदलना जरूरी पंख पुस्तिका का विमोचन - राष्ट्रीय बालिका दिवस
मेरी खुशी आज असीम, जिन बच्चियों को गोद में लेकर लाड़ प्यार कर लाड़ली लक्ष्मी बनाया उनसे बात कर जहां की खुशी मिली
छतरपुर | 24-जनवरी-2021
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रीय बालिका दिवस समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि मेरी खुशी आज समीम हुई है। जिन बच्चियों को गोद में लेकर लाड़ प्यार एवं दुलार देकर लाड़ली लक्ष्मी बनाया उनसे आज संवाद करते हुए मुझे जहां की असीम खुशी मिली है। उन्होंने कहा कि नारी शक्तियों की सुरक्षा एवं सम्मान की दिशा में समाज की सोच बदलना जरूरी है।
श्री चौहान ने रविवार को भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में उज्जैन, सतना, बालाघाट, विदिशा की लाड़ली लक्ष्मी की बेटियों से संवाद स्थापित करते हुए इस योजना के लाभ, उनकी शिक्षा आगे के भविष्य में किस विधा में जाना चाहती हो तथा घर में माता-पिता भाईयों किए जाने वाले व्यवहार की जानकारी ली।
उन्होंने कहा कि बालिका दिवस मनाने की जरूरत क्यों पड़ती है क्या हर दिन बेटियों का नहीं होना चाहिए। श्री चौहान ने कहा कि लाड़ली लक्ष्मियों को पढ़ाई के साथ-साथ जरूरत पड़ने पर सरकार विवाह कराने में भी मदद करेग।
उन्होंने कहा कि मां, बहन बेटी की जिंदगी तबाह करने वाले सावधान हो जाएं। समाज के कलंकित दुष्टों को पूरी तरह से कुचलना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि शौर्य दल में शामिल बेटियों द्वारा अर्जित की गई उपलब्धि की कहानी समाज के सामने भी लाई जाए। उन्होंने बताया कि प्रदेश में नए सिरे से बेटी बचाओ अभियान की जरूरत है। उन्होंने कहा कि बेटियों की सुरक्षा के लिए सरकार के साथ समाज को भी सहभागिता निभाने के लिए खड़ा होना होगा।
उन्होंने कहा कि बेटियों की रक्षा, सुरक्षा एवं सम्मान में प्रदेशवासियों की भी जिम्मेवारी है। आज प्रदेश में 37 लाख लाड़ली लक्ष्मी बेटियां हो चुकी हैं। लाड़ली लक्ष्मियों से किए गए संवाद से मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटियां शौर्य एवं पराक्रम में कम नहीं हैं। उन्होंने कहा कि बेटियां एवं मां बहनें अन्याय नहीं सहें, छेड़छाड़ की घटना होने पर डरे नहीं और ऐसे तत्वों के खिलाफ कार्यवाही कराएं। उन्होंने दोटूक शब्दों में कहा कि नारी शक्ति के साथ दुराचार करने वाले लोगों को सरकार धूल में मिलाकर छोडेगी। ऐसे तत्वों पर न सिर्फ कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाएगी, अपितु उनकी सम्पत्ति जैसे घर एवं मकान भी जड़ से तोड़े जाएंगे। उन्होंने कहा कि नारी शक्ति डरें एवं घबराएं नहीं, इससे लड़ने की जरूरत है। सरकार इसके लिए संवेदनशील है और नया जमाना एवं नया दौर लेकर आएंगे।
मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में 45 हजार 391 महिलाओं के खाते में 8.91 करोड़ की राशि अंतरित की। इस योजना में 21 लाख 14 हजार 594 पंजीयन कर देश में प्रदेश अव्वल है। मुख्यमंत्री ने पंख पुस्तिका का विमोचन भी किया। उन्होंने कहा कि बेटियों के साथ दुराचार करने वाले दरिंदें लोगों को कारावास की नहीं फांसी की सजा होनी चाहिए। इस विषय पर न्याय प्रणाली में  सुधार की जरूरत है। समाज में बहस एवं चर्चा भी होनी जरूरी है।
मुख्यमंत्री ने विदिशा जिले की मातृशक्ति के जज्वात की सराहना की। उसके पति के द्वारा बेटी के साथ हुए दुराचार की शिकायत खुद होकर दर्ज कराई है और साहस के साथ लड़ने का हौसला लिया है। इसके लिए उन्हांेने उसके जज्वे को मैं सलाम करते हुए अस्वस्त किया कि सरकार हर स्थिति में आपके सहारे के लिए तत्पर है।  
छतरपुर जिले में भी समानपूर्वक मना राष्ट्रीय बालिका दिवस
बेटियों के सम्मान एवं सुरक्षा के लिए ली गई शपथ
सेफसिटी कार्यक्रम का पोस्टर विमोचित
छतरपुर जिले में भी राष्ट्रीय बालिका दिवस नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष प्रद्युम्न सिंह लोधी के मुख्य आतिथ्य में समारोहपूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर बेटियों के सम्मान एवं सुरक्षा के लिए शपथ ली गई तथा सेफसिटी कार्यक्रम का पोस्टर विमोचित किया गया। कार्यक्रम में कलेक्टर शीलेन्द्र, एसपी सचिन शर्मा भी उपस्थित थे। जिला स्तरीय आयोजन महिला एवं बाल विकास द्वारा आयोजित किया। विभाग के डीपीओ अनिल जैन एवं विभाग के कर्मचारियों द्वारा अतिथियों का स्वागत किया गया।
मुख्य अतिथि प्रद्युम्न सिंह लोधी ने कहा कि प्रदेश में नारीशक्ति के सम्मान के साथ-साथ सुरक्षा के लिए कई योजनाएं चल रहीं हैं। उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि समाज में बेटा और बेटियों का भेदभाव आज भी बना हुआ है। हालांकि इस दिशा में शुरू किए गए कार्यों के परिणाम मिल रहे हैं लेकिन समाज में आज भी विषमताएं बनी हुईं हैं। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि बच्चियों को सुरक्षा के संबंध में कानून का ज्ञान भी होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि नारीशक्ति विशेषकर बेटियों को सुरक्षा के संबंध में दक्ष बनाने की जरूरत है। इसके लिए उन्हें प्रशिक्षित बनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए शौर्य दल की भूमिका महत्वपूर्ण है।
पूर्व मंत्री ललिता यादव ने कहा कि बेटियां ओस की बूंद होती हैं। बेटियों से कुल का सम्मान होता है, बेटियां दो कुलों की लाज रखती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में महिला सशक्तिकरण की दिशा में विभिन्न योजनाएं शुरू होने से अब बेटियां माता-पिता पर बोझ नहीं है, आपने मुख्यमंत्री द्वारा पंख योजना का शुभारंभ किए जाने पर उनका आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि मातृ वंदना योजना से भी परिवार को लाभ मिला है। उन्होंने प्रसन्नता जताई कि महिला एवं बाल विकास विभाग की मैदानी कर्मचारी सामाजिक हित में विशेषकर महिलाओं के कल्याण की दिशा में अच्छा कार्य कर रहे हैं।
विधायक राजेश प्रजापति ने कहा कि बेटी हर घर का आंगन रोशन करने वाली शक्ति है। उन्होंने कहा कि माता-पिता का फर्ज है कि बेटियों का पढ़ाने का अवसर दें वह जिस क्षेत्र जाने की इच्छुक हैं उसके लिए सवलता प्रदान करते हुए सहयोग करें। अर्चना सिंह ने कहा कि आज का दिन महत्वपूर्ण है, आयोजन के लिए मुख्यमंत्री बधाई के पात्र हैं। मुख्यमंत्री ने नारी शक्ति के लिए अनेक योजनाएं देकर महिला शक्ति को ऊपर उठाया है।
पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने नारी शक्तियों का आव्हान करते हुए कहा कि छेड़छाड़ की घटना की जानकारी के लिए सखी नम्बर की सुविधा मुहैया कराई गई है। इसके लिए घटना होने पर मोबाइल नम्बर 9926647708 पर जानकारी दी जाए। शिकायतकर्ता की जानकारी गुप्त रहेगी। पुलिस द्वारा तत्परता से कड़ी कार्यवाही शुरू की जाएगी।  
एसडीएम छतरपुर प्रियांशी भंवर ने बेटी होने के विचार एवं अनुभव साझा करते हुए कहा कि यह कार्यक्रम उनके हृदय के करीब है। इस अवसर पर उन्होंने तेजस्विनी अभियान की जानकारी साझा की।
कार्यक्रम में जिला मुख्यालय की कक्षा 10वीं एवं 12वीं में प्रदेश में अव्वल रहीं बच्चियों को प्रशस्ति पत्र एवं शील्ड दी गई। इसी तरह किशोरी बालिका, स्वच्छता अभियान, राज्य स्तरीय मलखम प्रतियोगिता, महिला सशक्तिकरण, पूर्णा अभियान में श्रेष्ठ कार्य करने वाली महिलाओं एवं बेटियों का भी सम्मान किया गया।
राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर मंतीसा मिर्जा ने महिला सम्मान के लिए हम नारी की सुरक्षा का सम्मान करेंगे गीत प्रस्तुत किया तथा जिम्मेदारियों का बोझ परिवार पे पड़ा तो बेटियों ने ऑटो रिक्शा, ट्रेन भी चलाने लगी बेटियां की मार्मिक प्रस्तुति दी, जिसे सराहा गया।
कार्यक्रम में सरस्वती वंदना प्रस्तुत की गई कृष्ण पाल सिंह सेंगर एण्ड पार्टी द्वारा नारी शक्ति में गान प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम कन्या पूजन एवं मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। मंचासीन अतिथियों का पुष्पहार एवं गुल्दश्तों से सम्मान किया गया।
इस अवसर पर बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ को फसल बनाने के लिए हम हरसंभव करेंगे के लिए संचालित हस्ताक्षर अभियान पर कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों द्वारा हस्ताक्षर किए गए। इसी तरह सेल्फी प्वाइंट पर बेटियों के साथ सेल्फी खिंचवाई। छेड़खानी के विरूद्ध चुप्पी तोड़े, अब तो बोलो, मैं प्रतिबद्ध हूं सम्मान के प्रति चुप्पी तोड़ो, चाइल्ड लाइन, बच्चे परेशान हो तो डायल करें आदि विषयों से संबंधित प्रदर्शनी का अवलोकन किया तथा कुपोषण से बचाव के पांच सूत्र, पंचरंगी थाली, कुपोषण से बचाव में मौसमी सब्जियों, दाल एवं फल कैसे कारगर होती हैं तथा पोषित एवं स्वादिष्ट व्यंजन के स्टालों का अवलोकन कर उनका स्वाद भी लिया।
(35 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2021अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
22232425262728
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer