समाचार
|| मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से कु. वर्षा को मिली पहचान "खुशियों की दास्तां...." || मुख्यमंत्री पहुँचे डुमना आते ही रोपा विमानतल पर पौधा || राष्ट्रपति को दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर || राष्ट्रपति श्री कोविन्द का जबलपुर पहुँचने पर भव्य स्वागत || कोरोना के प्रकरणों में कमी नहीं आई तो भोपाल-इंदौर में 8 मार्च से रात्रि कर्फ्यू - मुख्यमंत्री श्री चौहान || जिले की बॉर्डर पर प्रशासन की कड़ी नजर || 07 मार्च को जलेहरी तिगड्डा से प्रात: 07.45 बजे से आवागमन के लिए मार्ग बंद रहेगा || उपभोक्ता शिविरों का आयोजन किया गया इसमें कुल 100 आवेदन प्राप्त हुए || मुख्यमंत्री आज कई स्थानीय कार्यक्रमों में शामिल होंगे || कोरोना से स्वस्थ होने पर 22 व्यक्ति डिस्चार्ज
अन्य ख़बरें
प्रदेश में चरणबद्ध क्रियान्वित होगा आर्गेनिक मिशन
कृषि में आर्गेनिक प्रक्रियाओं पर राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री के सम्मुख हुआ प्रस्तुतीकरण
टीकमगढ़ | 24-जनवरी-2021
      राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने संपूर्ण प्रदेश में आर्गेनिक मिशन के संचालन की आवश्यकता बताई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के प्राकृतिक स्वरूप को देखते हुए इसका हरसंभव विस्तार किया जाना चाहिए। राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल शनिवार को राजभवन में आर्गेनिक मिशन पर केन्द्रित प्रस्तुतीकरण कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं।
प्रस्तुतीकरण के दौरान मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कृषि में आर्गेनिक उर्वरकों के उपयोग से कृषि लागत कम कर कृषकों की आय में वृद्धि पर केन्द्रित आर्गेनिक मिशन अभिनंदनीय है। मध्यप्रदेश में पशुधन, देश में सर्वाधिक है, दुग्ध उत्पादन में हम तीसरे नंबर पर हैं। अतरू यह मिशन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के विजन के अनुरूप राज्य शासन द्वारा विकसित आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के रोडमैप के लक्ष्यों को पूर्ण करने में सहायक सिद्ध होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रारंभिक चरण में आगर-मालवा स्थित सालरिया गौशाला में प्रोजेक्ट क्रियान्वित करने पर सहमति दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की अन्य गौ-शालाओं में चरणबद्ध रूप से मिशन क्रियान्वित किया जाएगा। प्रदेश के कुछ गाँवों को आदर्श आर्गेनिक ग्राम के रूप में विकसित किया जाएगा। इससे ग्रामीणों को आर्गेनिक प्रक्रियाएँ अपनाने में मदद मिलेगी और वे इसके लाभ से भी परिचित हो सकेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आदिवासी तथा वन क्षेत्रों में रासायनिक खाद तथा कीटनाशक के प्रयोग को हतोत्साहित करने के लिये जन-जागरण अभियान चलाने की आवश्यकता बताई।
प्रारंभ में राजभवन में अहमदाबाद के डॉ. भरत जे. पटेल द्वारा आर्गेनिक उर्वरकों के उपयोग से कृषि की लागत कम करने तथा कृषकों की आय बढ़ाने पर केन्द्रित प्रोजेक्ट संबंधी प्रस्तुतीकरण दिया गया। डॉ. पटेल द्वारा रासायनिक उर्वरकों, कीटनाशकों का उपयोग कम कर आर्गेनिक उर्वरक के उपयोग को प्रोत्साहित करने के लिए गुजरात और उत्तरप्रदेश में परियोजना संचालित की जा रही है। मृदा तथा वन संरक्षण, हरित एवं नवकरणीय ऊर्जा उत्पादन तथा स्वच्छ दुग्ध कार्यक्रम भी इस परियोजना के अंग हैं। यह परियोजना ग्रामीण अर्थ-व्यवस्था के उन्नयन के साथ जीवन-शैली से संबंधित रोगों जैसे रक्तचाप, मधुमेह आदि के नियंत्रण में भी सहायक है।
      इस अवसर पर किसान-कल्याण एवं कृषि मंत्री श्री कमल पटेल, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया, पशुपालन मंत्री श्री प्रेम सिंह पटेल और संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।                                                        
 
(41 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2021अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
22232425262728
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer