समाचार
|| प्रदेश में कोरोना संबंधी सभी सावधानियाँ बरती जाये थोड़ी भी लापरवाही भारी पड़ सकती है || "प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि" आजाद भारत में सबसे बड़ा उपहार - मंत्री श्री पटेल || सड़क दुर्घटनाओं में कमी के लिये सशक्त यातायात प्रबंधन आवश्यक-एडीजी श्री सागर || नरवाई से बनेगा कोयला, पायलेट प्रोजेक्ट होशंगाबाद में - मंत्री श्री पटेल || कोरोना काल में चौपट धन्धे को प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर योजना ने श्री अमर बाबू को दिया सहारा "खुशियों की दास्तां.." || मास्क पहने बिना बाहर निकलना पड़ा महंगा || निगम अमले ने डागा हाईट व रिगालिया टावर के अवैध निर्माणों को तोड़ा || आज का अधिकतम तापमान 32 डि.से. || प्रदेश में अनुसूचित जाति वर्ग के 37 छात्रावास भवनों का निर्माण कार्य पूर्ण || ई-उपार्जन पोर्टल पर 21.06 लाख किसानों ने कराया पंजीयन
अन्य ख़बरें
रक्तदान से किसी के जीवन को बचाने की खुशी को शब्दों में बयां करना मुश्किल "विशेष"
जिला विधिक सहायता अधिकारी ने 40 की उम्र में किया चालीसवां रक्तदान
गुना | 27-जनवरी-2021
 
         "आपके द्वारा दान किये गये रक्त की हर एक बूंद का कतरा-कतरा किसी व्यक्ति के नवजीवन का कारगर स्त्रोत बन सकता है। रक्तदान करके जो आत्मसंतुष्टि का भाव और किसी के जीवन को बचाने की जो खुशी मिलती है उसे शब्दों में बयां करना मुश्किल है"। यह बात जिला विधिक सेवा प्राधिकरण गुना में पदस्थ जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री दीपक शर्मा ने गत दिवस 26 जनवरी 2021 को जिला चिकित्सालय गुना में चालीसवां स्वैच्छिक रक्तदान करने बाद अपने अनुभव के रूप में बतायी। जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री शर्मा द्वारा रक्तदान की अपनी यात्रा के बारे में जानकारी देते हुये बताया कि वर्ष 2004 में जब कमलाराजा हॉस्पिटल में उनकी पत्नी को रक्त की आवश्‍यकता पडी़ उस समय उन्होंने 2004 में प्रथम बार रक्तदान किया। तब से परिवारजनों के सकारात्मक सहयोग से यह प्रक्रिया लगातार चल रही है तथा वर्ष 2013 में म0प्र0 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर में जिला विधिक सहायता अधिकारी के रूप में पदस्थ होने के बाद से हर वर्ष स्वतंत्रता दिवस व गणतंत्र दिवस पर रक्तदान करने का संकल्प वर्तमान तक जारी है। इसी क्रम में गणतंत्र दिवस 2021 को यह स्वैच्छिक रक्तदान 40 यूनिट की संख्या को प्राप्त कर चुका है।
    श्री शर्मा के द्वारा वर्ष 2004 में 01, वर्ष 2005 में 01, वर्ष 2006 में 02, वर्ष 2007 में 03, वर्ष 2008 में 04, वर्ष 2009 में 03, वर्ष 2010 में 04, वर्ष 2011 में 02, वर्ष 2012 में 03 यूनिट तथा वर्ष 2013 से लेकर गणतंत्र दिवस 2021 तक प्रत्येक स्वतंत्रता दिवस व गणतंत्र दिवस तक 17 यूनिट इस प्रकार कुल 40 यूनिट स्वैच्छिक रक्तदान किया है।
    रक्तदान के बारे में अपने विचार रखते हुये श्री शर्मा द्वारा बताया गया कि रक्तदान एक ऐसा जीवन रक्षक कारगर उपाय है जिसका अनुसरण करने से अचानक हुई किसी भी प्रकार की प्राकृतिक आपदाएं दुर्घटना हिंसा और चोट के कारण घायल गंभीर बीमारी से ग्रस्त व्यक्ति जीवन दायनी मातृशक्ति को डिलेवरी के समय और नवजात बच्चों की देखभाल में रक्त की आवश्‍यकता, थैलीसीमिया जैसी गंभीर बीमारी से पीड़ित बच्चों को रक्त की आवश्‍यकता और किसी भी व्यक्ति के जीवन मे समय समय पर अन्य अनेक प्रकार की सुरक्षित रक्त की जरूरत वाली आकस्मिक परिस्थितियों निकालने के लिये किया जाता है। किसी व्यक्ति के द्वारा रक्तदान करना एक अन्य व्यक्ति को जीवन प्रदान करने वाली बेहद महत्वपूर्ण घटना होती है। रक्तदान करने के अपने अनुभव के आधार पर भय का सामना करने वाले उन सभी लोगों से कहना चाहता हूं कि रक्तदान करने के बाद मुझको अभी तक कोई समस्या नहीं आई है। व्यक्ति के अनमोल जीवन की रक्षा के लिये रक्तदान करना हम सभी लोगों की एक बेहद महत्वपूर्ण नैतिक व सामाजिक जिम्मेदारी है। श्री शर्मा ने बताया कि स्वैच्छिक रक्तदान के प्रति उनकी इस लगन को जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण गुना श्री राजेश कुमार कोष्टा एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण गुना श्री ए.के.मिश्र द्वारा भी उत्साहित किया गया है।  
 
                            
वर्ष 2020 में न्यायाधीशगण व कर्मचारियों द्वारा भी किया गया 10 यूनिट रक्तदान
    कोरोना संक्रमण के आपातकाल में भी किसी की जीवन रक्षा के लिये रक्तदान के प्रति जागरूकता वर्ष 2020 में न्यायालय परिसर में देखने को मिली। वर्ष 2020 में कुल 10 यूनिट रक्तदान किया गया। जिला न्यायालय में विशेष न्यायाधीश श्री प्रदीप मित्तल जो कि वर्तमान में जिला जज श्योपुर के रूप में पदस्थ हैं, ने 53 साल की उम्र में रक्तदान किया। इसके अलावा व्यवहार न्यायाधीश श्री भूपेन्द्र सिंह कुशवाह, श्री सुनील खरे, श्री अमोघ अग्रवाल द्वारा भी रक्तदान किया गया। इसके अलावा न्यायालय के कर्मचारी श्री मनोज धाकड, श्री शिवम सेन, श्री ओमकार तिवारी ने भी रक्तदान किया तथा अपर जिला न्यायाधीश श्री ए.के.मिश्र व श्री प्रदीप दुबे भी दो बार प्रतिस्थापन (एक्सचेंज) रक्तदान हेतु ब्लड बैंक पहुंचे।
(29 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2021मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer