समाचार
|| ग्रामीण युवाओं में प्रतिभा की कमी नहीं, जरूरत है उसे निखारने और अवसर प्रदान करने की- स्वास्थ्य मंत्री || कलेक्टर ने सी.एच.सी. जयसिंहनगर एवं गोहपारू में बनी कोविड-19 वैक्सीनेशन सेंटर का किया अवलोकन || महिला दिवस के अवसर पर होगा तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन || फसलो के सिंचाई साधन हेतु अनुदान एवं संयंत्र प्रतिस्थापना हेतु आवेदन ऑनलाईन || राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन बदलेगी जिले की तस्वीर - जिला पंचायत अध्यक्षा || अवकाश के दिनों में नियमित रूप से कार्यालय खुले रहेंगे || निर्वाचन प्रक्रिया में छोटी सी त्रुटि भी नहीं होगी क्षम्य: श्री बसंत प्रताप सिंह || सार्वजनिक स्थानों पर एकत्रित ना करें - कलेक्टर || सीईओ जिला पंचायत श्री कान्याल ने ग्रामीण अंचल में पहुँचकर किया विकास कार्यों का निरीक्षण || आवंटित और उपयोग हो रही वैक्सीन डोज के आधार पर साप्ताहिक-दैनिक सत्र प्लान करें
अन्य ख़बरें
नगर निगम ने बदली 50 साल पुराने पंचकुइया घाट की तस्वीर "सफलता की कहानी"
नाले में खेला जायेगा फुटबॉल मैच
इन्दौर | 10-फरवरी-2021
             नगर निगम का नाला टेपिंग अभियान एक बार फिर से इंदौर शहर के 150 साल पुराने पंचकुइया घाट की सूरत बदलने में कारगर सिद्ध हुआ है। नगर निगम ने इस क्षेत्र में बहने वाले नाले के सभी आउट फॉल को ड्रेनेज लाइन डालकर बंद कर दिया है। अब इस नाले में गंदा बदबूदार पानी नहीं बहता है। इस नाले को पूरी तरह सुखा दिया गया है। इस नाले में जमी गाद को निकालने पर यहां पत्थरों से बना सुंदर नदी का घाट नजर आने लगा है। इसके पास ही पांच छोटी-छोटी कुइयां भी मिली हैं। जिससे इस क्षेत्र का नाम पंचकुइया पड़ा है। इस घाट के समीप ही बने आश्रम में रहने वाले संत महामंडलेश्वर लक्ष्मण दास जी महाराज कहते हैं कि इस घाट को डेढ़ सौ साल पहले उनके आश्रम के प्रथम गुरु ने बनवाया था। इसके सबूत आज भी घाट पर मौजूद है।
            उन्होंने बताया कि यहां 5 अलग-अलग कुइयां थी जिनके पानी से नहाने से विभिन्न तरह की बीमारियां दूर हो जाती थी। उन्होंने बताया कि यहां तीन अलग-अलग घाट बनाए गए थे एक घाट में सिर्फ संत महात्मा स्नान करते थे। दूसरे घाट में आम लोग स्नान करते थे जबकि प्रथम घाट से भगवान की मूर्तियों को नहलाने के लिए और रसोई के लिए पानी लिया जाता था। श्री लक्ष्मण दास जी महाराज ने बताया कि विगत दिवस कलेक्टर श्री मनीष सिंह और नगर निगम आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल ने इस क्षेत्र का दौरा किया था और इस क्षेत्र के सांस्कृतिक और ऐतिहासिक वैभव को वापस लौटाने में कलेक्टर और निगम आयुक्त की महती भूमिका रही है।
 नाले में खेला जायेगा फुटबॉल
   नगर निगम द्वारा इस क्षेत्र के नाले को समतल कर यहां फुटबॉल मैदान तैयार किया जा रहा है। पिछले दिनों जिस तरह मूसाखेड़ी क्षेत्र में नाले में क्रिकेट खेल कर इतिहास रचा गया था उसी तरह इस क्षेत्र में अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के बीच फुटबॉल मैच आयोजित करने की तैयारियां चल रही हैं।
(24 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2021अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
22232425262728
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer