समाचार
|| इंदौर जिले में आज 7307 लोगों ने लगवाया कोरोना का टीका || इंदौर जिले में एक साथ 28 अरोपी जिलाबदर || नंदू भैया जैसा जन-प्रतिनिधि नहीं मिलेगा || सशस्त्र सेना झंडा दिवस हेतु धनराशि एकत्र करने में उत्कृष्ट प्रदर्शन पर मिला सम्मान || सिद्धहस्त शिल्पियों से शिल्प अभिरूचि प्रस्ताव आमंत्रित || आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत || पचमढ़ी में आयोजित होने वाला “महादेव मेला“ स्थगित || एनआरसी (पोषण पुनर्वास केंद्र) में हुए नवाचारों से बड़वानी जिला प्रथम || चने की खरीद के लिए पंजीयन अब पाँच मार्च तक || बीमा पोर्टल 10 मार्च तक खुला रहेगा : मंत्री श्री पटेल
अन्य ख़बरें
संभागायुक्त ने महाकालेश्वर मन्दिर विस्तार विकास योजना की समीक्षा की
-
उज्जैन | 11-फरवरी-2021
    उज्जैन संभागायुक्त श्री संदीप यादव ने गुरूवार को महाकालेश्वर मन्दिर विस्तार विकास की समीक्षा की। श्री महाकाल क्षेत्र विकास योजना पर आधारित फिल्म एवं पीपीटी का प्रजेंटेशन देखा। बैठक में कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने बताया कि परियोजना के क्रियान्वयन से श्री महाकालेश्वर मन्दिर का क्षेत्रफल वर्तमान स्थिति से आठ गुना बढ़ जायेगा। वर्तमान में 2.82 हेक्टेयर में स्थित मन्दिर परिसर को विस्तारित किया जायेगा। इसके लिये आसपास के लगभग 200 मकान खाली कराये जायेंगे। समीप में स्थित उर्दू स्कूल को अन्यत्र शिफ्ट किया जायेगा। धर्मशाला, प्रवचन हॉल एवं भोजनशाला बनाये जायेंगे। यह दानदाताओं से प्राप्त राशि से बनाये जायेंगे। बताया गया कि अभी वर्तमान में मन्दिर समिति की निधि से निर्माण कार्य किये जा रहे हैं। मन्दिर क्षेत्र में बाउंड्री वाल भी प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि जितने भी प्रोजेक्ट महाकाल परिसर में बनेंगे, उसका टाईम लाइन तय किया जायेगा। संभागायुक्त श्री यादव ने निर्देश दिये कि महाकाल परिसर को अधिक से अधिक सुन्दर बनाया जाये। परिसर रात में दिन से ज्यादा अच्छा दिखे, इसके लिये कार्य योजना बनायें। ऐसा प्रयास करें कि श्रद्धालु दिन में पूजा करने के पश्चात रात्रि में महाकाल मन्दिर परिसर का अवलोकन करने के लिये रूके रहें। श्रद्धालु रोशनी का अवलोकन करें। इसके लिये विशेष प्रयास किया जाये। मन्दिर परिसर में लाईट एवं साउण्ड सिस्टम मनमोहक हो, प्रभावी हो। बताया गया कि रूद्र सागर, रामघाट एवं कोटितीर्थ में लेजर साउण्ड सिस्टम रखा जायेगा। संभागायुक्त ने निर्देश दिये कि इन जगहों पर श्रद्धालुओं को महाकाल की कहानी या झांकी दिखाने से पहले उन पर प्रकाश पड़े, ऐसी व्यवस्था होनी चाहिये।
संभागायुक्त ने उज्जैन जिले की पंचवर्षीय विकास योजना 2021 से 2026 तक में किये जाने वाले कार्यों की भी समीक्षा की। नगर निगम आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल ने बताया कि पंचवर्षीय कार्य योजना के तहत स्व-सहायता समूह का सुदृढ़ीकरण किया जायेगा। इसके लिये छोटे-छोटे व्यवसायों को बढ़ावा दिया जायेगा। कलेक्टर ने अवगत कराया कि भैरवगढ़ के बाघ प्रिंट के कार्य को अन्तर्राष्ट्रीय पहचान दिलाने के लिये विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। स्व-सहायता समूह को अधिक से अधिक लाभ प्रदान करना कार्य योजना में शामिल है। संभागायुक्त ने निर्देश दिये कि अगरबत्ती के व्यवसाय को समूह के माध्यम से बढ़ाया जाये। स्व-सहायता समूह को प्रसाद बनाने का कार्य भी दिया जा सकता है। स्व-सहायता समूह के उत्पादनों की मार्केटिंग के लिये विशेष प्रयास किये जायें। बताया गया कि पंचवर्षीय कार्य योजना के तहत प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अन्तर्गत अब तक 5 हजार 400 स्ट्रीट वेण्डरों को 10-10 हजार रुपये की ऋण राशि स्वरोजगार के लिये दी गई है। लगभग डेढ़ हजार आवेदन पर ऋण देने पर विचार किया जा रहा है। पंचवर्षीय कार्य योजना के तहत प्रधानमंत्री आवास बनाये जाने हैं। जिले में 2022 तक 9079 आवास, 2024 तक 8126 आवास तथा 2026 तक 8976 आवास बनाने का लक्ष्य रखा गया है। वर्तमान में मल्टी बनाई जा रही है। इन मल्टी में गरीबों को आवास दिये जायेंगे।
पंचवर्षीय योजना के तहत भूमिगत सीवरेज परियोजना का कार्य 2022 तक पूरा होना है। फेज-1 में प्राथमिकता से सीवरेज का पानी शिप्रा में मिलने से रोका जायेगा। फेज-2 में सीवरेज का पानी जो शिप्रा में न जाकर किसी अन्य जगह जा रहा है, उसे रोका जायेगा। बैठक में बताया गया कि सीवरेज पाईप लाइन के कारण शहर की छह से सात किलो मीटर तक की सड़कें खराब हुई हैं, उन्हें जल्द ही ठीक किया जायेगा। संभागायुक्त ने सम्पत्ति कर की भी समीक्षा की। बताया गया कि सम्पत्ति कर एवं उपभोक्ता प्रभार के लिये जीआईएस सर्वे किया जायेगा। सम्पत्ति कर वसूली का कार्य प्राथमिकता से किया जाना है। जन्म-मृत्यु प्रमाण-पत्र एवं पेंशन आपके द्वार के कार्य को ऑनलाइन किया गया है।
संभागायुक्त श्री यादव ने जल स्त्रोत एवं जलशोधन कार्यक्रम की समीक्षा की। बताया गया कि सेवरखेड़ी में बांध बनाने का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। बारीश में गंभीर डेम का जलस्तर कम हो जाता है। एनवीडीए की पाईप लाइन गंभीर डेम तक पहुंचाने के लिये विशेष प्रयास किये जायेंगे। इससे नर्मदा का जल शहरवासियों को मिल सकेगा। संभागायुक्त ने जल आपूर्ति, शहरी जलप्रदाय, यातायात एवं सार्वजनिक परिवहन, शहर में स्ट्रीट लाईट आदि की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिये कि शहर में स्ट्रीट लाईट आवश्यकता अनुसार सभी जगह रहे। बताया गया कि 10 हजार पोल लगाने का लक्ष्य रखा गया है। 2026 तक 10 हजार और पोल लगाने का लक्ष्य रखा गया है। संभागायुक्त ने पर्यटन एवं हैरिटेज विकास, पर्यावरण संरक्षण, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, यूएमएससी सेवा, ई-गवर्नेंस की समीक्षा की।
बैठक में कलेक्टर श्री आशीष सिंह, आयुक्त नगर निगम श्री क्षितिज सिंघल, यूडीए सीईओ श्री एसएस रावत, अपर कलेक्टर श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी, श्री जितेन्द्रसिंह चौहान सहित सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

 
(21 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2021अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
22232425262728
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer