समाचार
|| ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन कार्यशाला का आयोजन आज || अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर पूर्व लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती महाजन का मंत्री श्री सिलावट ने किया अभिनंदन || महिला दिवस पर आयोजित शिविर में 241 महिलाओं का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण || अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर विधिक साक्षरता जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया || संघर्ष कर आगे बढ़ी महिलाओं का महिला दिवस पर किया गया सम्मान || वैक्सीन लगवाने के लिये आधार कार्ड, आईडी नंबर साथ लायें: इन्हीं दस्तावेजों से ऑनलाइन पंजीयन करायें || प्रत्येक माह की 9 तारीख को जिले की सभी स्वास्थ्य संस्थाओं पर गर्भवती महिलाओं का परीक्षण || अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित हुई दौड कार्यक्रम संपन्न || खाद्य कारोबारकर्ता को प्रशिक्षण दिलाने हेतु विेजंब योजना प्रारंभ || पी.सी.पी.एन.डी.टी. एक्ट के सलाहकार समिति के सदस्यों का एक दिवसीय उन्नमुखीकरण कार्यशाला 19 मार्च को
अन्य ख़बरें
अपने पूर्व की अपनी पांच पीढि़यों का इतिहास लिख रहे हैं डेढ़ सौ विद्यार्थी
यह सीसीई विद्यार्थियों को रिसर्च, राइटिंग और प्रजेंटेशन की कला में करेगा प्रशिक्षित
बड़वानी | 14-फरवरी-2021
      देश तथा दुनिया के इतिहास के साथ ही परिवार का इतिहास भी ज्ञात होना चाहिए। इस बात को ध्यान में रखते हुए एसबीएन पीजी कॉलेज का इतिहास विभाग स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्षन प्रकोष्ठ के साथ मिलकर बी. ए. प्रथम वर्ष के इतिहास विषय के विद्यार्थियों के साथ सीसीई में नवाचार करते हुए उनसे उनकी पांच पीढि़यों का इतिहास लिखवा रहा है। ये बातें कॅरियर काउंसलर डॉ. मधुसूदन चौबे ने कहीं। यह आयोजन प्राचार्य डॉ. एन. एल. गुप्ता के मार्गदर्षन में हो रहा है। डॉ. गुप्ता ने कहा कि इस सीसीई के माध्यम से युवा अपने परिवारों की जड़ों तक पहुंच पायेंगे और उन्हें बहुत सीखने को मिलेगा।
सीसीई में नवाचार
    कार्यकर्तागण प्रीति गुलवानिया, विधी लोनारे, राहुल मालवीया, जितेंद्र चौहान ने विद्यार्थियों को पीपीटी के माध्यम से बताया कि सीसीई यानी कंटीन्यूस कांप्रहेंसिव इवेल्यूएशन (सतत् व्यापक मूल्यांकन) उच्च शिक्षा विभाग की बहुत शानदार व्यवस्था है, जिसके माध्यम से विद्यार्थियों के व्यक्तित्व का सर्वांगीण विकास संभव है। सीसीई में नवाचार करते हुए ‘मैं, मेरा परिवार और मेरा देश’ शीर्षक से लघु परियोजना तैयार करवाई जा रही है। इसके माध्यम से विद्यार्थियों को स्वयं को, अपने परिवार को तथा अपने देश को बेहतर ढंग से जानने का अवसर मिलेगा।
    लघु परियोजना के अंतर्गत पांच खण्ड होंगे। प्रथम खण्ड में वंशावली बनाते हुए पांच पीढि़यों का इतिहास लिखा जायेगा। द्वितीय खण्ड में पन्द्रह दिनों की डायरी होगी, विद्यार्थी प्रतिदिन प्रातः जागने से रात्रि में सोने तक के अपने कार्यों का अंकन करेंगे। तीसरे खण्ड में विद्यार्थी अपने जीवन का लक्ष्य लिखेंगे। चौथे खण्ड में विद्यार्थी बतायेंगे कि इतिहास विषय किस प्रकार उनके लक्ष्य की पूर्ति में सहायक बन सकता है, साथ ही वे विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे गये इतिहास विषयक प्रश्नों का संकलन भी करेंगे। पांचवें खण्ड में वे भारत के किन्हीं महान  ऐतिहासिक व्यक्तित्व की जीवनी लिखेंगे। लेखन पूर्ण होने के बाद प्रस्तुति होगी। इसमें प्रत्येक विद्यार्थी अपने द्वारा संग्रहित की गई जानकारियों को साथी विद्यार्थियों के साथ साझा करेगा।
ये होंगे लाभ
    डॉ. चौबे ने बताया कि यह एक महत्वाकांक्षी योजना है, जिसे विद्यार्थी कॅरियर सेल के सहयोग से पूर्ण करेंगे। यह सीसीई विद्यार्थियों को रिसर्च, राइटिंग और प्रजेंटेशन की कला में प्रशिक्षित करेगा। उन्हें इतिहास विषय का ज्ञान भी होगा और परीक्षा की तैयारी होगी। लगभग डेढ़ सौ परिवारों का इतिहास संकलित हो सकेगा।
प्रसन्न हैं विद्यार्थी
     विद्यार्थियों ने इस सीसीई योजना पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि घर के वरिष्ठजनों से पूछकर हम परिवार का इतिहास लिखेंगे तो उन्हें भी खुशी होगी। जो इतिहास हम संकलित करेंगे उसकी एक प्रति कॉलेज में जमा और एक प्रति अपने परिवार की धरोहर के रूप में रखेंगे। इस तरह यह सीसीई आजीवन याद रहेगा। इस सीसीई को सम्पन्न करने में सहयोग प्रीति गुलवानिया, किरण वर्मा, जितेंद्र चौहान, डॉ. ज्योति जोशी उपाध्याय, राहुल मालवीया, कोमल सोनगड़े, विधी लोनारे, विनोद मकवाने आदि कार्यकर्ता दे रहे हैं।
 
(22 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2021अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
22232425262728
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer