समाचार
|| खालवा में होम आइसोलेशन वाले मरीजों के घरों का निरीक्षण किया कलेक्टर ने || शासन द्वारा जिले में रेमडेसिविर इंजेक्शन की समुचित उपलब्धता कराई जा रही है सुनिश्चित || किल कोरोना अभियान के व्दितीय चरण के अंतर्गत अभी तक कुल 4 लाख 7273 व्यक्तियों का किया गया सर्वे और स्क्रीनिंग || जिला कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर द्वारा विगत 24 घण्टे में 102 प्रकरणों का निराकरण || द्वितीय चरण में सोमवार को लगवाया 2818 लोगो ने टीका || बड़वानी के कोरोना प्रभारी मंत्री श्री पटेल ने किया कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण || कोविड टीकाकरण उत्सव के दूसरे दिन 12 हजार 397 व्यक्तियों को लगा टीका || अज्ञात शत्रु से हम सबको मिलकर लड़ना है-पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर || रेमडेसिवीर इंजेक्शन का किया गया कोविड-19 अस्पतालों को वितरण || बीएमसी में कोविड मरीजों के लिए बैड की संख्या बढ़ाई
अन्य ख़बरें
प्रधानमंत्री आवास योजना में एक लाख हितग्राहियों को गृह-प्रवेश की मिलेगी सौगात
केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह और मुख्यमंत्री श्री चौहान करवायेंगे गृह-प्रवेश गृह-प्रवेश महोत्सव 16 फरवरी को
उज्जैन | 15-फरवरी-2021
   केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 16 फरवरी को प्रधानमंत्री आवास योजनान्तर्गत मध्यप्रदेश के एक लाख हितग्राहियों को उनके नये आवास में गृह-प्रवेश करवायेंगे। गृह प्रवेश महोत्सव का वर्चुअल कार्यक्रम मिन्टो हॉल में प्रात: 11 बजे से होगा। गृह-प्रवेशम् कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री श्री शाह एवं मुख्यमंत्री श्री चौहान हितग्राहियों से वर्चुअल संवाद भी करेंगे।
   मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजनांतर्गत इतनी बडी संख्या में गृह-प्रवेश कराये जाने का यह दूसरा बड़ा आयोजन है। इससे पूर्व 12 सितम्बर 2020 को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने प्रदेश के 2 लाख हितग्राहियों को गृह-प्रवेश    कराया था। मध्यप्रदेश में योजनांतर्गत कोरोना की चुनौतियों से निपटते हुए 3 लाख से अधिक आवास निर्मित किये गये।
   प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश के सभी आवासहीन परिवारों को आवास उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया है। "सबको आवास" का लक्ष्य हासिल करने के लिये मध्यप्रदेश में इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत लगभग 18 लाख ग्रामीण परिवारों को अपना घर उपलब्ध कराया गया है। लाभान्वित सभी परिवार ऐसे थे, जिनके पास घर नहीं था या वे कच्चे जीर्ण-शीर्ण घरों में रह रहे थे। पूर्व में संचालित विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत निर्मित आवासों को भी शामिल कर लिया जाये, तो आवास निर्माण में मध्यप्रदेश देश में अग्रणी राज्य में शुमार होगा।  
   योजनान्तर्गत हितग्राही को मकान की इकाई लागत मैदानी जिलों में एक लाख 20 हजार तथा दूरस्थ पहुँच-विहीन, दुर्गम पहाड़ी क्षेत्रों में एक लाख 30 हजार रूपये शत-प्रतिशत अनुदान के रूप में आवास निर्माण कार्य की प्रगति के आधार पर किश्तों के रूप में दिये जाते हैं। मकान के साथ ही स्वच्छ शौचालय का निर्माण भी किया जाता है। हितग्राही को उज्जवला योजनान्तर्गत एल.पी.जी. गैस कनेक्शन भी उपलब्ध कराया जाता है। मध्यप्रदेश में समृद्ध पर्यावास अभियान के नाम से इन हितग्राहियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना, राशन-कार्ड, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, परिवार की महिलाओं को राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत स्व-सहायता समूहों के रूप में संगठित करने जैसी 27 शासकीय योजनाओं का लाभ दिलाया गया है। यह इंद्रधनुषी प्रयोग हितग्राहियों के सर्वांगीण विकास में महत्पूर्ण भूमिका अदा कर रहा है। योजनान्तर्गत चार किश्तों में आवास सॉफ्ट-एप के माध्यम से जियो टेग, फोटो अपलोड होने पर स्वमेव राशि हितग्राही के खाते में अंतरित हो जाती है। इससे हितग्राही को योजनांतर्गत राशि प्राप्त करने के लिये परेशान नहीं होना पड़ता है।
   प्रधानमंत्री आवास योजना के जिन एक लाख हितग्राहियों को गृह प्रवेश कराया जा रहा है, उन्हें  एक लाख बीस हजार के मान से लगभग 12 सौ करोड़ से अधिक राशि उनके खातों में अंतरित की गई थी। आवासों को पूर्ण करने का अधिकतम समय 12 माह है, परन्तु यह आवास कोविड-19 के चुनौतीपूर्ण समय में अत्यंत कम अवधि में तेजी से पूर्ण किये गये हैं। जबकि राष्ट्रीय स्तर पर आवासों की पूर्णता की अवधि 114 दिन है। इस योजना ने वास्तविक अर्थों में विपदा को अवसर में बदला है।
(56 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2021मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293012
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer