समाचार
|| खालवा में होम आइसोलेशन वाले मरीजों के घरों का निरीक्षण किया कलेक्टर ने || शासन द्वारा जिले में रेमडेसिविर इंजेक्शन की समुचित उपलब्धता कराई जा रही है सुनिश्चित || किल कोरोना अभियान के व्दितीय चरण के अंतर्गत अभी तक कुल 4 लाख 7273 व्यक्तियों का किया गया सर्वे और स्क्रीनिंग || जिला कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर द्वारा विगत 24 घण्टे में 102 प्रकरणों का निराकरण || द्वितीय चरण में सोमवार को लगवाया 2818 लोगो ने टीका || बड़वानी के कोरोना प्रभारी मंत्री श्री पटेल ने किया कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण || कोविड टीकाकरण उत्सव के दूसरे दिन 12 हजार 397 व्यक्तियों को लगा टीका || अज्ञात शत्रु से हम सबको मिलकर लड़ना है-पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर || रेमडेसिवीर इंजेक्शन का किया गया कोविड-19 अस्पतालों को वितरण || बीएमसी में कोविड मरीजों के लिए बैड की संख्या बढ़ाई
अन्य ख़बरें
रियांशी भी बनी लाड़ली लक्ष्मी (खुशियों की दास्तां)
रियांशी के माता-पिता ने कहा, बेटी को खूब पढ़ाएंगे
रायसेन | 16-फरवरी-2021
    बेटी के जन्म के प्रति सामाजिक दृष्टिकोण में सकारात्मक बदलाव लाने और शैक्षिक, आर्थिक स्थिति में सुधार के माध्यम से बेटियों के अच्छे भविष्य की आधारशिला रखने के लिए प्रदेश में 01 अप्रैल 2007 से लाड़ली लक्ष्मी योजना संचालित की जा रही है। लाड़ली लक्ष्मी योजना के प्रारंभ होने से माह जनवरी 2021 तक जिले में 69 हजार लाड़लियों को योजना से लाभान्वित किया गया है। 
जिले के सॉची जनपद के ग्राम अम्बाड़ी निवासी श्री रवि साहू और श्रीमती अन्नपूर्णा साहू की पुत्री रियांशी साहू को भी लाड़ली लक्ष्मी योजना का लाभ मिलेगा। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी द्वारा श्रीमती अन्नपूर्णा साहू को लाड़ली लक्ष्मी प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। श्रीमती अन्नपूर्णा और उनके पति रवि साहू ने बताया कि वह अपनी बेटी को खूब पढ़ाएंगे। आज बेटियां, बेटों से आगे निकल रही है और नए-नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है। उन्होंने कहा कि लाड़ली लक्ष्मी योजना बहुत अच्छी योजना है। यह योजना आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को बेटी के लालन-पालन और शिक्षा की चिंता से मुक्त करती है।
लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत बालिका के नाम से, पंजीकरण के समय से लगातार पांच वर्षों तक 6-6 हजार रूपए मध्यप्रदेश लाड़ली लक्ष्मी योजना निधि में जमा किए जाएंगे। इस प्रकार कुल 30 हजार रूपए बालिका के नाम से जमा किए जाएंगे। बालिका के कक्षा 6वीं में प्रवेश लेने पर दो हजार रूपए, कक्षा 9वीं में प्रवेश लेने पर चार हजार रूपए, कक्षा 11वीं में प्रवेश लेने पर छः हजार रूपए तथा 12वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर छः हजार रूपए ई-पेमेंट के माध्यम से किया जाएगा। बालिका की आयु 21 वर्ष होने पर तथा कक्षा 12वीं परीक्षा में सम्मिलित होने पर अंतिम भुगतान के रूप में एक लाख रू राशि भुगतान की जाती है।
 
(55 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2021मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293012
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer