समाचार
|| आर्थिक सहायता स्वीकृत || आर्थिक सहायता स्वीकृत || रिंगनोद समूह योजना का फिल्टर प्लांट बनने तक ग्रामों में आंतरिक पाईप लाईनों से नल कनेक्शन देकर स्थानीय स्तर पर उपलब्ध जल स्त्रोतों से पेयजल प्रदाय प्रारंभ करें, जिससे ग्रीष्त ऋतु में ग्रामीणों को पेयजल का लाभ मिल सकें- कलेक्टर श्री सिंह || जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन कार्य हेतु 109 केन्द्र स्वीकृत || दुकानविहीन ग्राम पंचायतों में पात्र संस्थाओं से 5 अप्रैल तक आवेदन आमंत्रित || 8 मार्च को होने वाली ग्राम सभा के एजेंडा बिंदु तय || आयुष्मान भारत योजना के प्रचार-प्रसार हेतु बाईक रैली आज || रबी उपार्जन के लिए किसानों के पंजीयन की अंतिम तिथि आज || जन्म-दिन सहित विभिन्न शुभ अवसरों पर पौधा लगायें || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खण्डवा की जल प्रदाय योजना की समीक्षा की
अन्य ख़बरें
फसल गिरदावरी के संबंध में नवीन निर्देश जारी
किसान फसलों की जानकारी स्‍वयं दर्ज कर सकेंगे
नीमच | 17-फरवरी-2021
     फसल गिरदावरी के आंकडे फसल बीमा, किसान क्रेडिट कार्ड, फलस ऋण, कृषि ऋण, सरकार के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य योजना, भावांतर योजना, आरबीसी 6-4 के प्रावधानों के अंतर्गत फसल हानि की स्थिति में राहत प्राप्‍त करने आदि के लिए अंत्‍यत महत्‍वपूर्ण है। आयुक्‍त भू-अभिलेख म.प्र.द्वारा फसल गिरदावरी के संबंध में नये निर्देश जारी किए गए है। तदानुसार कृषक अपनी भूमि पर उगाई गई फसलों की जानकारी स्‍वयं राजस्‍व विभाग के एमपी किसान एप, लोकसेवा केंद्र, एम.पी.ऑनलाईन, नागरिक सुविधा केंद्र(सी.एस.सी.) के माध्‍यम से भी भू-अभिलेख में दर्ज कराई जा सकती है। उक्‍त स्‍वघोषणा में कृषक द्वारा दी गई जानकारी का सत्‍यापन राजस्‍व अमले के द्वारा किया जायेगा।
दावे आपत्तियों की सुनवाई:- गिरदावरी की प्रक्रिया सम्‍पन्‍न होने बाद, पटवारी द्वारा तहसीलदार को जानकारी प्रदान की जावेगी, जो इसे अपने कार्यालय और अन्‍य स्‍थान जहां वह उपयुक्‍त समझता है, में दावों और आपत्तियों के लिए प्रदर्शित करेगा। यदि कोई दावा और आपत्तियां प्राप्‍त होती है, तो तहसीलदार जांच उपरान्‍त पटवारी द्वारा प्रदान की गई जानकारी में बदलाव कर सकेगा। तहसीलदार के लिए उन सभी प्रकरणों के लिए जांच करना अनिवार्य होगा, जहां किसान द्वारा प्रदान की गई जानकारी पटवारी द्वारा प्रदाय की गई जानकारी में भिन्‍नता है। तहसीलदार द्वारा संशोधित सूची को अंतिम माना जाएगा और उगाई गई फसल का विवरण भूमि अभिलेखों में दर्ज किया जाएगा और इसे अंतिम प्रविष्टियों के रूप में माना जाएगा। इसके बाद जानकारी में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा।  

 
(15 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2021अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
22232425262728
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer