समाचार
|| जिला कोविड कमांड केंद्र 24X7 कार्यरत रखने के निर्देश || खाली पड़े शासकीय आवास बने आइसोलेशन रूम || सोशल मीडिया पर कोरोना की भ्रामक जानकारी || कोरोना कर्फ्यू काल में मीडिया एवं कार्यालय को रहेगी छूट: पुलिस अधीक्षक || मजदूर भाई-बहन कोरोना संकट में परेशान न हो : मुख्यमंत्री श्री चौहान || बुधवार 21 अप्रैल का कोरोना हेल्थ बुलेटिन || 30 अप्रैल तक घर पर रहें, कोरोना को हराये : मुख्यमंत्री श्री चौहान || जिला चिकित्सालय हरदा में कार्यरत चिकित्सा अधिकारियों का दिनांक 30 अप्रैल तक का आपातकालीन ड्यूटी रोस्टर तैयार || कोविड-19 मरीजों के उपचार के लिये सभी जिलों में ऑक्सीजन की उपलब्धता के हर संभव प्रयास || कोविड-19 संक्रमण पर नियंत्रण पाने के लिये सरकार द्वारा उठाये प्रभावी कदम
अन्य ख़बरें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ग्रामीण पथ-विक्रेताओं को देंगे ब्याज मुक्त ऋण की सौगात
वर्चुअल कार्यक्रम 18 फरवरी को, चौथी बार हो रहा सामूहिक ऋण वितरण कार्यक्रम
हरदा | 17-फरवरी-2021
      मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान 18 फरवरी को ग्रामीण पथ-विक्रेताओं को उनके रोजगार की बेहतरी के लिये ऋण वितरण करेंगे। मिंटो हाल भोपाल में दोपहर 2 बजे आयोजित होने वर्चुअल कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान योजना के हितग्राहियों से संवाद भी करेंगे। प्रदेश में मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ-विक्रेता योजना में चौथी बार हितग्राहियों को एक साथ ऋण वितरण किया जा रहा है। कार्यक्रम में प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री महेद्र सिंह सिसौदिया एवं राज्य मंत्री श्री राम खेलावन पटेल भी मौजूद रहेंगे।
    पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ-विक्रेता योजना में अभी तक एक लाख से अधिक ग्रामीण प्रवासी श्रमिकों सहित अन्य जरूरत मंद पथ-विक्रेताओं को राज्य शासन की गांरटी पर 10-10 हजार रूपये का ब्याज मुक्त ऋण देकर लाभान्वित किया जा चुका है।
   योजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र में पथ-विक्रेता व्यवसाइयों को 10 हजार रूपये तक बैंक से कार्यशील पूंजी ऋण के रूप में उपलब्ध कराने में सहयोग करना, नियमित ऋण वापसी को प्रोत्साहित करना तथा छोटे उद्यमियों को व्यापार-व्यवसाय में प्रशिक्षण में सहयोग देना है। योजना में राज्य शासन द्वारा प्रति हितग्राही को रूपये 10 हजार तक के ऋण पर 14 प्रतिशत तक ब्याज अनुदान की प्रतिपूर्ति का प्रावधान है। साथ ही योजना में राज्य शासन की क्रेडिट गारंटी रहेगी। इस योजना के पात्र हितग्राहियों को स्टाम्प ड्यूटी के प्रयोजनों से भी विमुक्त रखा गया है।
   योजना में 18 से 55 आयु वर्ग के ग्रामीण प्रवासी श्रमिक, गरीब परिवार और ग्रामीण क्षेत्र के ऐसे परिवार की महिलायें जो आजीविका मिशन या तेजस्विनी परियोजना में गठित स्व-सहायता समूह की सदस्य हों, को योजना का लाभ दिया जाता है। योजना में शैक्षणिक योग्यता एवं जाति-वर्ग का कोई बंधन नहीं है।
   योजना को सरल एवं पारदर्शी बनाने के लिए कामगार सेतु पोर्टल बनाया गया है। योजना में अभी तक 14 लाख 15 हजार से अधिक हितग्राहियों का पंजीयन कामगार सेतु पोर्टल के माध्यम से कराया जा चुका है। इनमें से 1 लाख 41 हजार से अधिक हितग्राहियों के प्रकरण बैंक द्वारा स्वीकृत होकर 1 लाख से अधिक प्रकरण वितरण योग्य हैं। इनमें से 60 हजार से अधिक हितग्राहियों को ऋण राशि 24 सितम्बर, 12 नवम्बर एवं 21 दिसम्बर 2020 का आयोजित वर्चुअल सामूहिक ऋण वितरण कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा वितरित की जा चुकी है। योजना अंतर्गत 18 फरवरी को चौथी बार आयोजित होने वाले कार्यक्रम में पुन: एक साथ लगभग 40 हजार से अधिक पथ-विक्रेताओं को ऋण वितरण किया जायेगा।
 
(63 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2021मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293012
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer