समाचार
|| सेना में भर्ती हेतु कॉमन इंटरेंस एग्जाम एक को || कमिश्नर बी चंद्रशेखर ने वीसी में दिये निर्देश || आईटीआई में कैंपस इंटरव्यू 23 को || किसानों के लिये मोबाईल एप लॉच || केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने की वीसी से कोरोना की वर्तमान स्थिति की समीक्षा || नवम्बर-दिसम्बर माह में कोरोना के संक्रमण बढ़ने की संभावनाओं को देखते हुये अभी से करें तैयारी || 73 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने किये देवी मन्दिरों के ऑनलाइन दर्शन || आबकारी उपायुक्त श्री उपाध्याय ने विधानसभा उपनिर्वाचन को दृष्टिगत रखते हुए कार्यवाहियों की समीक्षा कर उपलम्भन कार्यवाहियों में तेजी लाने के दिए निर्देश “विधानसभा उपनिर्वाचन-2020” || 10 वीं वाहिनी स्थित शहीद स्मारक पर पुलिस शहीद स्मृति दिवस का आयोजन किया गया || रहली के किसान की आत्महत्या को संज्ञान में लेकर कलेक्टर ने कराई प्रारंभिक जाँच
आस-पास
छतरपुर
दमोह
...और खबरें
पन्ना
सागर
...और खबरें
टीकमगढ़
निवाड़ी
जिला :: छतरपुर
जिले में पर्यटन
2/15/2012 8:13:55 AM
 

1. खजुराहो-  

जिला मुख्यालय से 45 कि.मी. की दूरी पर खजुराहो के विश्व प्रसिद्ध ऐतिहासिक मंदिर स्थित हैं। ये मंदिर चंदेल राजाओं द्वारा 950 ई.-1050 ई. के बीच निर्मित कराये गए हैं। वर्तमान में 25 मंदिर शेष हैं, जो दूर-दूर तक फैले हैं। मंदिर अपनी अद्भुत स्थापत्य एवं शिल्प कला के लिए विश्व विख्यात हैं। साथ ही यहां के जैन मंदिर भी देखने लायक हैं। यहां चित्रकला, शिल्पकला एवं वास्तुकला से संबंधित वस्तुऐं होटलों में संग्रहालय बनाकर संजोकर रखी गई हैं। प्रति वर्ष हजारों विदेशी एवं भारतीय पर्यटक यहां आते हैं।
 

2. स्नेह फाल-

यह स्थान खजुराहो से 17 कि.मी. की दूरी पर राजनगर विकास खण्ड में स्थित है। यहां का प्राकृतिक सौंदर्य मनमोहक है। ऊंची-ऊंची रंगबिरंगी चट्टानों से पानी नीचे गिर कर प्रकृति की अद्भुत छटा बिखेर रहा है। वर्षाकाल में तो यहां का नजारा बेहद आकर्षक लगता है।
 

3. भीम कुण्ड-

यह स्थान जिले के बड़ामलहरा विकास खण्ड में स्थित है। भीम कुण्ड की विशेषता यह है कि इसकी गहराई का अभी तक वैज्ञानिकों ने पता नहीं लगा पाया है। इस कुण्ड का इतिहास महाभारत काल की घटनाओं से जुड़ा हुआ है। जिला मुख्यालय से यह लगभग 70 कि.मी. की दूरी पर स्थित है।
 

4. धुबेला पुरातत्व संग्रहालय-

जिले की नौगांव बिकास खण्ड के अंतर्गत महाराजा छत्रसाल से संबंधित प्रारंभ से लेकर अंत तक सभी वस्तुओं को संजोकर रखने वाला धुबेला पुरातत्व संग्रहालय स्थित है। यह जिला मुख्यालय से 13 कि.मी. की दूरी पर स्थित है।
 

5. जटाशंकर धाम -  

 
यहां भगवान शिव जी का गुफा में प्राचीन मंदिर स्थित है। यह अपने प्राकृतिक जल स्रोत के लिए विख्यात है। यहां वर्ष भर झरने के रूप में लगातार पानी निकलता रहता है। यहां स्थित छोटे-छोटे कुण्डों का जल औषधि के रूप में काम करता है। ऐसी मान्यता है कि इस जल से स्नान करने पर शरीर के सभी चर्म रोग दूर हो जाते है। यहां गर्म एवं ठंडे पानी के कुण्ड हैं। जटाशंकर में चट्टानों की तलहटी में भित्तिचित्र भी बने हुए हैं।
 

6. राजगढ़ का किला-

यह किला चंदेल राजवंश द्वारा निर्मित कराया गया है। इसके पास में ही तालाब स्थित है। जिससे यहां का प्राकृतिक सौंदर्य रमणीक लगता है। यह जिला मुख्यालय से लगभग 42 किमी. की दूरी पर ग्राम चन्द्रनगर के पास स्थित है।
 
District Information
एक नज़र

पाठकों की पसंद
जिले के महत्वपूर्ण फोटो

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer