समाचार
|| विपत्तिग्रस्त बालकों के पुनर्वास एवं भिक्षावृत्ति रोकने मुस्कान ऑपरेशन प्रारंभ || पीसी एण्ड पीएनडीटी एक्ट की जिला सलाहकार समिति की बैठक आज || 31 जुलाई तक करें लंबित राजस्व प्रकरणों का निराकरण || स्वतंत्रता दिवस के मुख्य समारोह की तैयारी को लेकर बैठक 24 को || कलेक्टर ने किया कृषि उपज मण्डी स्थित खरीदी केन्द्र का निरीक्षण || रेत खनन और विपणन नीति के निर्धारण पर भोपाल में कार्यशाला आज || विधिक साक्षरता शिविर || कलेक्टर ने की भर्ती मरीजों से फोन पर चर्चा || छात्रावासों के लिए खाद्यान आवंटित || कोटवार, सचिव, जीआरएस और पटवारी गॉव में महत्वपूर्ण इकाई - सम्भागायुक्त
अन्य ख़बरें
13 लाख 1 हजार 958 मानक बोरा हुई तेंदूपत्ता की तुड़ाई
40 हजार 448 क्विंटल महुआ फूल की खरीदी
शहडोल | 19-मई-2017
 
    राज्य लघु वनोपज संघ के अध्यक्ष श्री महेश कोरी ने बताया कि प्रदेश में तेंदूपत्ता संग्रहण कार्य एवं महुआ फूल की खरीदी संग्राहकों की आमदनी में वृद्धि के लिये वारदान साबित हो रही है। वनोपज संघ द्वारा माह अप्रैल से महुआ फूल की खरीदी तथा मई में तेंदूपत्ता संग्रहण कार्य की शुरूआत की गई एवं यह कार्य निरन्तर जारी है। संग्राहकों को इस वर्ष महुआ फूल का 30 रूपये प्रति किलोग्राम तथा तेंदूपत्ता का 1250 रूपये प्रति मानक बोरा की दर से पारिश्रमिक का भुगतान किया जा रहा है। इससे संग्राहकों की आमदनी में काफी वृद्धि हुई है। अध्यक्ष श्री कोरी द्वारा 17 मई को सागर जिले के वनोपजों के संग्रहण कार्य का निरीक्षण किया गया। अधिकारियों द्वारा बताया गया कि अभी तक जिला यूनियन दक्षिण सागर द्वारा 20,850 मानक बोरा तेन्दूपत्ता तथा 1,000 क्विंटल महुआ फूल की खरीदी एवं उत्तर सागर में 14,806 मानक बोरा तेन्दूपत्ता संग्रहण किया गया।
    अध्यक्ष श्री कोरी के अनुसार इस वर्ष प्रदेश में 22 लाख मानक बोरा तेंदूपत्ता संग्रहण होने का अनुमान है। प्रदेश में अब तक 13 लाख 01 हजार 958 मानक बोरा तेंदूपत्ता तोड़ा जा चुका है। अभी तक सर्वाधिक संग्रहण शहडोल, उमरिया, सिंगरौली, सीधी, बालाघाट और मण्डला जिले में किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 40 हजार 448 क्विंटल महुआ फूल की खरीदी कर संग्राहकों को 12 करोड़ 13 लाख 45 हजार 890 रूपये का भुगतान किया गया है। महुआ का सर्वाधिक खरीदी उमरिया, शहडोल, अनूपपुर, सिंगरौली, सतना एवं सीधी जिला यूनियन द्वारा किया गया है। अध्यक्ष श्री कोरी ने बताया कि संग्राहकों की सुविधा के लिए प्रदेश में 1071 प्राथमिक वनोपज समितियों के माध्यम से लगभग 16 हजार तेंदूपत्ता के फड़ स्थापित है, जिसमें करीब 33 लाख संग्राहक तेंदूपत्ता संग्राहित कर रहे हैं। इसी प्रकार महुआ संग्रहण के लिये प्रदेश में 60 जिला लघु वनोपज यूनियन के माध्यम से 1189 महुआ संग्रहण केन्द्र बनाये गये हैं।
 
(62 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2017अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
262728293012
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer