समाचार
|| जनता की संतुष्टि को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाये रू मुख्यमंत्री श्री चौहान || जिले में अबतक 737.1 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज || एडवेन्चर टूरिज्म का प्रशिक्षण हनुवंतिया जिला खण्डवा में होगा || राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग की उपाध्यक्षा श्रीमती अनुसुईया उईके 25 सितम्बर को मंदसौर आयेंगी || 4 लाख 2 हजार रुपए की आर्थिक अनुदान राशि स्वीकृत || पटाखा लायसेंस आवेदन हेतु 4 अक्टूबर अंतिम तिथि || भू संपदा अधिनियम के आवश्यक दिशा निर्देश जारी || एकलव्य विद्यालय सोण्डवा के विद्यार्थियों ने किया उत्कृष्ट प्रदर्शन || आर्थिक सहायता स्वीकृत || आर्थिक सहायता स्वीकृत
अन्य ख़बरें
पौधरोपण के विश्व रिकार्ड का सहभागी एवं साक्षी बनने में इंदौर जिले में उमड़ा जनसैलाब
उत्सवी माहौल में हजारों लोगों ने नर्मदा बेसिन में आने वाले जिले के 152 गाँवों के 1387 स्थानों पर शाम 4 बजे तक रोपे 13 लाख 32 हजार से अधिक पौधे, राजस्व मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता के मुख्य आतिथ्य में देवगुराड़िया में हुआ मुख्य कार्यक्रम, प्रसिद्ध रमणीय स्थल देवगुराड़िया पहाड़ी को भी हरा-भरा बनाने में जुटे हजारों लोग
इन्दौर | 02-जुलाई-2017
 
 
      जीवनदायिनी माँ नर्मदा नदी के संरक्षण एवं पर्यावरण सुधार के लिये मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर शुरू किये गये नमामि देवी नर्मदे अभियान में आज पौधरोपण के क्षेत्र में रचे जाने वाले नये इतिहास एवं रिकार्ड में सहभागी तथा साक्षी बनने के लिये इंदौर जिले में जनसैलाब उमड़ पड़ा। खुशनुमा एवं उत्सवी माहौल में आज हजारों नागरिकों ने नर्मदा बेसिन में आने वाले जिले के 152 गाँवों के 1387 स्थानों पर शाम 4 बजे तक 13 लाख 32 हजार से अधिक पौधे एक दिन में रोप दिये। पौधरोपण का कार्य शाम तक जारी था। जिले का मुख्य कार्यक्रम प्रसिद्ध रमणीय स्थल देवगुराड़िया में राजस्व मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। देवगुराड़िया को भी हरा-भरा बनाने के लिये हजारों लोग एक साथ जुट गये। इनके साथ ही जनप्रतिनिधियों और वरिष्ठ अधिकारियों ने भी पौधरोपण किया।
    देवगुराड़िया में मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने पौधरोपण किया। इनके साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री कविता पाटीदार, इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री शंकर लालवानी, विधायक श्री जीतू पटवारी, कलेक्टर श्री निशांत वरवड़े, डीआईजी श्री हरिनारायणचारी मिश्रा आदि ने भी पौधरोपण किया। देवगुराड़िया पहाड़ी पर आज सुबह से ही उत्सवी माहौल था। बच्चे, बुजुर्ग, महिलाएं, विद्यार्थी, अधिकारी, कर्मचारी सहित अन्य नागरिकों ने हजारों की संख्या में इस पहाड़ी को हरा-भरा बनाने के लिये पौधरोपण किया। इनके अलावा राज्य शासन के वरिष्ठ अधिकारियों श्री विनोद सेमवाल, श्री मलय श्रीवास्तव, सुश्री सीमा शर्मा, श्री संजय चौधरी सहित अन्य अधिकारियों ने भी पौधरोपण किया। देवगुराड़िया में 15 हजार से अधिक लोगों ने एक साथ पौधरोपण किया। इस पहाड़ी पर 35 हजार पौधे रोपे गये। पौधरोपण के कार्य में विशेष रूप से पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय के नवप्रशिक्षु, पुलिस जवान, एनसीसी एवं एनएसएस के कैडेट, गुजराती समाज, गुर्जर समाज सहित अन्य सामाजिक संगठनों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। पौधरोपण के लिये जहाँ तीन वर्ष की बालिका सारना जोशी भी शामिल हुई, वहीं नब्बे वर्ष के बुजुर्ग श्री रामसिंह पटेल भी शामिल हुए।
  
    इसके अलावा देवगुराड़िया पहाड़ी पर पौधरोपण के साथ-साथ स्वच्छता का भी एक अलग ही मंजर नजर आया। सफाई के लिये जहाँ एक ओर नगर निगम की टीम तैनात थी, वहीं दूसरी ओर नागरिक भी अपनी ओर से इधर-उधर फैली पॉलीथिन की पन्नियाँ भी एकत्रित कर एक जगह डालने के कार्य में लगे रहे। मूसाखेड़ी में रहने वाली दो बहनें कंचन एवं रूचि चौरसिया ने भी इस कार्य में विशेष योगदान दिया। वे अपनी मम्मी के साथ वहाँ उपस्थित थी  और इधर-उधर बिखरी हुई पॉलीथिन की थैलियां एकत्रित कर रही थी। कार्यक्रम में गुजराती समाज के सदस्यों को बसों से लाने वाले ईश्वर सिंह, जुझार सिंह, गुरमीत सिंह, जीतू पटेल, मुकेश लाभांते सहित लगभग 80 ड्राइवरों ने भी पौधरोपण कर विशेष योगदान दिया।
    इस अवसर पर श्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा कि मध्यप्रदेश ने पौधरोपण के क्षेत्र में देश ही नहीं पूरी दुनिया में एक नया इतिहास रचा है। पौधरोपण से पर्यावरण संतुलित होगा। साथ ही ग्लोबल वार्मिंग के प्रतिकूल प्रभाव से निपटने में भी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि पर्यावरण के क्षेत्र में मध्यप्रदेश ने दुनिया को एक नया संदेश दिया है। संभागायुक्त श्री संजय दुबे और एडीजी श्री अजय शर्मा ने चोरल में पौधरोपण किया।
    देवगुराड़िया के अलावा जिले के अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर भी पौधरोपण का कार्य किया गया। जिले में प्रमुख रूप से तिंछा, पीपल्दा, बाइघाट, चोरल, उमट, नाहर झाबुआ, आशापुरा, मांगलिया, कालाकुंड सहित चोरल से लेकर ओंकारेश्वर तक की पहाड़ी पर लाखों पौधे एक ही दिन में रोपित किये गये। पौधों के रोपण कार्य में जनप्रतिनिधियों के साथ ही अधिकारी-कर्मचारियों और नागरिकों ने भी उत्साह से भाग लिया। जिले में आज प्रमुख रूप से बड़, बरगद, पीपल, गूलर, नीम, करंज, शीशम, आम, कटहल, सुरजना, जाम, महुआ, इमली, बेल पत्र, आंवला, जामुन, कबीट, सीताफल, बेहड़ा, करंज, चिरोल, खैर, कस्टार, साजा, अर्जुन सहित अन्य बहुउपयोगी पौधे रोपित किये गये।
    जिले में आज सुबह से ही पौधरोपण का कार्य प्रारंभ हो गया था। सुबह 10 बजे तक दो लाख 23 हजार 318 पौधे लगाये गये। इसे मिलाकर दोपहर एक बजे तक करीब सात लाख पौधरोपण हुआ। इसे मिलाकर शाम 4 बजे तक कुल 13 लाख 32 हजार से अधिक पौधे रोपित किये गये। शाम तक पौधरोपण का कार्य जारी रहा। शाम 4 बजे तक कुल रोपित पौधों में से 11 लाख 21 हजार पौधे वन विभाग द्वारा तथा शेष पौधे ग्रामीण विकास, उद्यानिकी, कृषि, जलग्रहण प्रबंधन आदि विभागों द्वारा लगाये गये।
(81 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2017अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer