समाचार
|| मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र द्वारा नगर भ्रमण कर दीपावली की शुभकांमनाएं दी || दीपावली मिलन समारोह में सम्मिलित हुए मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र || जनसम्पर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र आज विभिन्न कार्यक्रमों में सम्मिलित होंगे || घर के अंदर मिलेगा स्वच्छ और फिल्टर पानी - मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र || एक दीया प्रदेश के विकास के लिए भी जलाएं-मुख्यमंत्री श्री चौहान || कलेक्टर सपरिवार पहुंचे वृद्धाश्रम || राजस्व अधिकारी शीघ्र करें न्यायालयीन प्रकरणों का निराकरण || पत्रकारो के समक्ष व्ही.व्ही.पी.ए.टी. मशीन का प्रदर्शन || आदर्श आचरण संहिता का पालन सुनिश्चित करनें के निर्देश || मतदान केन्द्रों की सूची का विक्रय मूल्य घोषित
अन्य ख़बरें
अंगदान हमारी संस्कृति का अभिन्न हिस्सा रहा है – राज्यमंत्री श्री जैन
विश्व अंगदान दिवस पर गरिमामय आयोजन
जबलपुर | 13-अगस्त-2017
 
   
    चिकित्सा शिक्षा तथा लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री श्री शरद जैन ने कहा है कि प्राचीन समय से ही अंगदान हमारे देश की संस्कृति का हिस्सा रहा है। प्राचीन ग्रंथों में भगवान श्री गणेश और ऋषि दधीचि इसके अनन्य उदाहरण रहे हैं। इनके अलावा भी ऐसे बहुतेरे उल्लेख हैं जो अंगदान के सम्बन्ध में काम करने की चेतना जागृत करते हैं।
    श्री जैन आज यहां विश्व अंगदान दिवस के अवसर पर मानस भवन में आयोजित गरिमामय कार्यक्रम में बोल रहे थे। अपने उद्बोधन में श्री जैन ने बीते दिनों में स्व. केदार प्रसाद द्विवेदी तथा 21 वर्षीय ऋचा जैन द्वारा किए गए अंगदान का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि संस्कारधानी के ये दोनों उदाहरण अत्यन्त प्रेरणाप्रद हैं। श्री जैन ने उपस्थित जनसमूह से आह्वान किया कि अंगदान के सम्बन्ध में लोगों में जागरूकता लाने तथा उनकी हिचक दूर करने की दिशा में काम करें।
    राज्यमंत्री श्री जैन ने कहा कि राज्य सरकार आम जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है और इस दिशा में अनेकानेक कदम उठाए गए हैं। उन्होंने कहा कि सुरक्षित मातृत्व एक बड़ी चिंता है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि निजी चिकित्सा संस्थाएं और नागरिक भी जनचेतना के साथ कार्य करें तो निश्चय ही स्थितियों में सकारात्मक परिवर्तन आएगा।
    कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए महापौर डॉ स्वाति गोडबोले ने कहा कि हमें स्कूली बच्चों में अंगदान के प्रति जागरूकता पैदा करने की दिशा में पहल करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में इस तरह के अद्वितीय दान के कई उदाहरण हैं जिनमें लोगों ने अपने स्वार्थ से ऊपर उठकर त्याग किया है। महापौर ने अंगदान के लिए प्रेरणा को बेहद जरूरी निरूपित किया। उन्होंने परिवार से सम्बन्धित मिसाल देते हुए बताया कि बच्चे के पिता ने बच्चे की स्थिति अत्यन्त गंभीर होने पर उसकी आंखें प्रत्यारोपित करने के लिए दान देने का निर्णय लिया। परिवार को भी यह संतोष मिला कि भले ही आज उनका बच्चा नहीं है पर वह अपनी आंखों से दुनिया देख तो रहा है। अपने भावपूर्ण उद्बोधन में महापौर ने कहा कि इस प्रकार के अंगदान के उदाहरणों से हम सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए।
    इस मौके पर विधायक श्री अशोक रोहाणी ने कहा कि अंगदान को लेकर आम जनता में फैली भ्रांतियों का निवारण करने की दिशा में पहल की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सबको परमात्मा द्वारा दिया गया शरीर यदि किसी के काम आए तो इससे बेहतर और कुछ नहीं हो सकता। श्री रोहाणी ने कहा कि वे भी अंगदान के लिए पूरी तरह संकल्पित हैं।
    कार्यक्रम में कलेक्टर महेशचन्द्र चौधरी ने कहा कि इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य आम लोगों तक यह संदेश पहुंचाना है कि अंगदान महादान है ताकि लोग अंगदान के लिए प्रेरित हों और आगे आएं। उन्होंने कहा कि अंगदान की सफलता तभी सुनिश्चित हो सकती है जब समस्त सम्बन्धित लोग एक टीम के रूप में अपने काम को अंजाम दें। स्व. श्री द्विवेदी तथा ऋचा द्वारा किए गए अंगदान का उल्लेख करते हुए कहा कि अंगदान की प्रक्रिया में सम्बन्धित विभागों तथा चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े लोगों का सक्रिय समन्वय और सहयोग बेहद महत्वपूर्ण साबित हुआ। कलेक्टर ने इस बात पर जोर दिया कि अंगदान के सम्बन्ध में समाज को जागरूक बनाना बेहद जरूरी है। उन्होंने चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े सभी लोगों से अपील की कि वे अंगदान के सम्बन्ध में सार्थक पहल के प्रति प्रतिबद्ध रहें।
    कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राज्य मंत्री श्री जैन एवं महापौर डॉ स्वाति गोडबोले ने अंगदान का अप्रतिम उदाहरण प्रस्तुत करने को लेकर स्व. केदार प्रसाद द्विवेदी के परिजनों को शाल एवं श्रीफल से सम्मानित किया। इस मौके पर अंगदान पर केन्द्रित पुस्तिका का विमोचन भी किया गया।
    कार्यक्रम में मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ आर.एस. शर्मा, डीन मेडिकल कॉलेज डॉ नवनीत सक्सेना तथा नेत्र विशेषज्ञ डॉ पवन स्थापक ने भी अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने विशेष रूप से अंगदान से जुड़े तकनीकी पहलुओं पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक शशिकांत शुक्ला, आईएमए अध्यक्ष डॉ राजीव सक्सेना, संयुक्त संचालक स्वास्थ्य सेवाएं डॉ रंजना गुप्ता, मेडिसिन विभागाध्यक्ष डॉ राहुल रॉय, सीएमएचओ डॉ मुरली अग्रवाल तथा अधीक्षक एल्गिन हॉस्पिटल डॉ निशा साहू भी मौजूद थे।  
    कार्यक्रम के आरंभ में मुख्य अतिथि राज्यमंत्री श्री जैन एवं महापौर डॉ स्वाति गोडबोले ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलित किया। मुख्य अतिथियों एवं अन्य अतिथियों का बुके भेंटकर स्वागत किया गया। इस मौके पर अंगदान के सम्बन्ध में आयोजित पोस्टर प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत भी किया गया। ग्रीन कॉरिडोर पर आधारित डॉक्यूमेन्ट्री भी प्रस्तुत की गई।
    कार्यक्रम का संचालन प्रदीप दुबे ने किया।
(67 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2017नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer