समाचार
|| प्रभारी मंत्री श्रीमती चिटनीस ने बेहपुर से धंधोड़ा पहुच मार्ग का किया भूमि पूजन || आतंकवाद विरोधी शपथ ग्रहण की || सभी शासकीय जिला चिकित्सालयों में कीमोथैरेपी यूनिट स्थापित || 338 ग्रामों के आर्थिक क्लस्टर तैयार किये जायेंगे - ग्रामीण विकास मंत्री श्री भार्गव || कड़कनाथ सहकारी समितियों के लिए 1972 लाख मंजूर || जबलपुर संभाग में अब तक 9 लाख 16 हजार 961 मैट्रिक टन गेहूँ का रिकार्ड उपार्जन || राजस्व अधिकारियों की बैठक अब 25 को || बरगी बांध में वर्ष भर चलने वाले साहसिक खेलों का शुभारंभ आज || रोजगार मेले में 7 हजार युवाओं को भर्ती करेंगी ग्यारह कम्पनियां || भूकंप जनजाग्रति दिवस पर आज
अन्य ख़बरें
वृद्धजन के लिए श्रवण कुमार की भूमिका अंगीकार की है मुख्यमंत्री ने – राज्य मंत्री श्री जैन
तीर्थ दर्शन योजना के पांच वर्ष पूरे होने पर भव्य हितग्राही सम्मेलन आयोजित
जबलपुर | 03-सितम्बर-2017
 
   
    राज्य मंत्री चिकित्सा शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) तथा लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री शरद जैन ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना लागू कर प्रदेश के वृद्ध नागरिकों के लिए श्रवण कुमार की भूमिका अंगीकार की है। वृद्धावस्था में तीर्थ यात्रा पर जाने की इच्छा हर व्यक्ति की होती है। तथापि परिस्थितिजन्य विवशताओं के चलते वे अपनी इच्छा पूरी नहीं कर पाते। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वृद्धजन की इस दिली ख्वाहिश को महसूस किया और इसे पूरा करने के लिए आज से पांच वर्ष पूर्व 3 सितम्बर 2012 को मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना आरंभ की।
    श्री जैन आज यहां पं.लज्जाशंकर मॉडल उत्कृष्ट विद्यालय में मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के पांच वर्ष पूरे होने के अवसर पर आयोजित तीर्थ यात्रा हितग्राही सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि बीते वर्षों के दौरान इस योजना के तहत देश के लगभग समस्त तीर्थ स्थलों के भ्रमण का अवसर प्रदेश के वृद्ध नागरिकों को उपलब्ध कराया गया है। इनमें सभी समाजों के तीर्थ स्थल शामिल हैं। राज्य मंत्री ने समारोह में मौजूद तीर्थ दर्शन कर चुके वृद्धजन से अपील की कि वे अन्य लोगों को भी इस योजना का लाभ उठाने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए कलेक्टर महेशचन्द्र चौधरी और अन्य सम्बन्धित अधिकारियों को बधाई का पात्र बताया।
    इस मौके पर महापौर डॉ स्वाति गोडबोले ने कहा कि अत्यधिक व्ययसाध्य होने के कारण इच्छा होने के बावजूद वृद्धजन तीर्थ दर्शन के लिए नहीं जा पाते थे और उनके मन में इसकी कसक बनी रहती थी। इसी के मद्देनजर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने तीर्थ दर्शन योजना के माध्यम से वृद्धजन के लिए तीर्थ दर्शन की व्यवस्था की। इस योजना से सभी के ह्मदय की आकांक्षा फलीभूत हो रही है। महापौर ने हाल ही में जगन्नाथपुरी की यात्रा पर गए तीर्थ यात्रियों से टेलीफोन पर हुई बातचीत का उल्लेख करते हुए बताया कि दर्शन करके निकले तीर्थ यात्रियों की आवाज से उनके उल्लास को सहज ही महसूस किया जा सकता था।
    इस अवसर पर विधायक अंचल सोनकर ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार वृद्धजन की तीर्थ यात्रा की व्यवस्था की दिशा में पहल करने वाली पहली सरकार है। सरकार ने सभी धर्मावलंबियों के लिए तीर्थ दर्शन की व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि तीर्थ दर्शन यात्रा के इंतजाम इतने चाक-चौबंद होते हैं कि यात्रा से वापस लौटने वाले किसी भी तीर्थ यात्री ने चर्चा के दौरान कभी किसी प्रकार की दिक्कत का जिक्र नहीं किया। बुजुर्गों की साध पूरी करने और बेहतरीन व्यवस्था के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान बुजुर्गों के आशीर्वाद के पात्र हैं।
 
   कार्यक्रम में विधायक श्री अशोक रोहाणी ने कहा कि मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के आरंभ के समय यह कल्पना भी नहीं थी कि यह योजना इतनी अधिक लोकप्रिय हो जाएगी। वस्तुत: आज यह सरकार की सर्वाधिक लोकप्रिय योजना है और इससे प्रेरित होकर अन्य राज्यों में भी इसे लागू किया गया है। योजना के माध्यम से तीर्थ दर्शन करने वाले बुजुर्गों का भाव-भरा आशीर्वाद प्राप्त होता है। तीर्थ यात्रियों के जज्बे का जिक्र करते हुए श्री रोहाणी ने कहा कि तीर्थ यात्री बताते हैं कि उन्हें तीर्थ यात्रा पर ले जाने वाले लोग बेटों से भी बढ़कर उनका ध्यान रखते हैं।
    कार्यक्रम के आरंभ में मुख्य अतिथि राज्य मंत्री श्री जैन ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर विधिवत् दीप प्रज्जवलित किया। कलेक्टर श्री चौधरी एवं अन्य अधिकारियों ने मुख्य अतिथि तथा अन्य अतिथियों का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया। इस मौके पर तीर्थ दर्शन यात्रा कर चुके वृद्धजन का राज्य मंत्री श्री जैन एवं अन्य अतिथियों ने पुष्पहारों से अभिनंदन किया। महापौर ने वयोवृद्ध ज्ञानबाई सेन का अभिनंदन किया। इस दौरान एमआईसी सदस्य रेखा सिंह ठाकुर भी उपस्थित थीं।
    अपने स्वागत भाषण में कलेक्टर श्री चौधरी ने योजना की लोकप्रियता का उल्लेख करते हुए कहा कि योजनान्तर्गत जबलपुर जिले से अब तक 21 हजार से अधिक तीर्थ यात्री विभिन्न धार्मिक स्थलों का भ्रमण कर चुके हैं। उन्होंने अपेक्षा की कि तीर्थ यात्रा कर चुके वृद्धजन और लोगों को भी इस योजना का लाभ उठाने के लिए प्रेरित करेंगे।
    कार्यक्रम के दौरान तीर्थ दर्शन यात्रा योजना के अन्तर्गत तीर्थों का भ्रमण कर चुके बुजुर्गों ने अपने अनुभव उपस्थित जनसमूह के साथ साझा किए। किसी भी तीर्थ यात्री ने अपवादस्वरूप भी किसी प्रकार की दिक्कत या परेशानी का उल्लेख नहीं किया। सभी तीर्थ यात्रियों ने यात्रा की व्यवस्थाओं की मुक्त कंठ से प्रशंसा की। ग्राम बेलखाडू निवासी 80 वर्षीय ज्ञानबाई सेन ने द्वारकाधीश दर्शन के अपने अनुभव सुनाते हुए कहा कि यात्रा के दौरान उन्हें अच्छा खाना-पानी व नाश्ता मिला तथा किसी प्रकार की तकलीफ नहीं हुई। उन्होंने व्यवस्था को बहुत अच्छी बताया। 60 वर्षीय रेखाबाई चढ़ार तथा गीता सिंह ने भी बेहतरीन इंतजामों की तारीफ की। तिरूपति बालाजी की यात्रा कर चुकी भागवती साहू ने बताया कि यात्रा का अनुभव काफी अच्छा रहा। शकुन्तला राठौर ने बताया कि उनके साथ रामेश्वरम् की यात्रा पर गए सहयात्रियों का कहना था कि भाई शिवराज ने हमें श्रवण कुमार की तरह यात्रा कराई है।
    कार्यक्रम में एसडीएम अरविंद सिंह एवं जनपद सीईओ मनोज सिंह भी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन उपेन्द्र यादव ने किया तथा अपर कलेक्टर आनंद कोपरिहा ने अतिथियों का आभार माना।    
(260 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2018जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer