समाचार
|| समय सीमा के प्रकरणों की समीक्षा बैठक आयोजित || गांव-गांव पहुंचेगी विधिक सहायता : पैरालीगल वालेंटियर प्रशिक्षण आयोजित || स्वच्छता सेवा अभियान के अंतर्गत जिला अस्पताल में सफाई आरंभ || जीएसटी फुल माइग्रेशन तीस सितंबर तक || मंडी दरों में गिरावट पर किसानों के लिए कवच है भावांतर योजना || तेज आवाज में ध्वनि विस्तारक यंत्रों का उपयोग ना करें- कलेक्टर || आंगनवाड़ियों में दर्ज हो सही-सही वजन-कलेक्टर || कृषि उत्पादन आयुक्त 04 अक्टूबर को करेंगे संभाग स्तरीय समीक्षा || किसान 30 सितम्बर तक करा सकते हैं फसल का बीमा || “दिल से” कार्यक्रम 8 अक्टूबर को
अन्य ख़बरें
प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में 51 हजार 871 परिवारों को गैस चूल्हों का वितरण किया गया
जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक सम्पन्न
डिंडोरी | 05-सितम्बर-2017
 
 
      जिले के सभी मजरे टोलो को प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के माध्यम से पक्की सड़को से जोडा जायेगा और जिले में जो मजरे टोले छूट गए है उन्हे प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से जोडने के लिए पुनः प्लान में शामिल किया जायेगा। प्रदेश शासन के मंत्री श्री ओमप्रकाश धुर्वे खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण श्रम मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक में विभागीय कार्यो की समीक्षा कर रहे थे। आयोजित बैठक में सांसद श्री फग्गन सिंह कुलस्ते विधायक श्री ओमकार मरकाम जनपद पंचायत समनापुर अध्यक्ष श्री उजियार सिंह धुर्वे, कलेक्टर श्री अमित तोमर सहित विभागीय अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे। मंत्री श्री धुर्वे ने बैठक में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की प्रगति की समीक्षा की। बैठक में बताया गया कि जिले में 51 हजार 871 परिवारों को प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अन्तर्गत गैस-चूल्हों का वितरण किया गया है। इसी प्रकार से जिले में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के लक्ष्य को पूरा करने के लिए चयनित परिवारों को गैस-चूल्हो का वितरण कराने का कार्य भी प्रारम्भ है। मंत्री श्री धुर्वे ने इसके बाद प्रधानमंत्री फसल-बीमा योजना की समीक्षा की। उन्होने कहा कि जिले के सभी किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से लाभाविन्त किया जाए। जिससे फसल हानि होने पर किसानो को उनकी फसल की क्षतिपूर्ति दी जा सके। मंत्री श्री धुर्वे ने रबी सीजन के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से किसानो को प्रेरित करने के लिए शिविर लगाने को कहा जिससे किसान फसलो का बीमा करा सके।
    सांसद श्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने जिले के सभी जलाशयो की समीक्षा की और जिले में सिंचाई का रकवा बढाने के निर्देश दिए है। उन्होने कहा कि जिले में बनाए गए जलाशयो को नहरों के माध्यम से खेतो में जोडकर किसानो को सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई जाए। बैठक में मंत्री श्री धुर्वे ने रबी फसलों की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होने कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसानों को उन्नत किस्म का बीज उपलब्ध कराया जाए और किसानों को बीज तैयार करने की विधि भी बताई जाए। आयोजित बैठक में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा की गई। मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सभी स्वास्थ्य केन्द्रों एवं उपस्वास्थ्य केन्द्रो में डॉक्टरों की नियमित ड्यूटी लगाने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य विभाग का अमला अपने-अपने मुख्यालय में रहना सुनिश्चित करें। मंत्री श्री धुर्वे ने मुख्यालय में नही रहने वाले डॉक्टर एवं कर्मचारियों के वेतन आहरण पर रोक लगाने के निर्देश दिए। उन्होने बैठक में स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्माण किए गए कार्यो की भी समीक्षा की। गुणवत्ताहीन कार्य करने वाले ठेकेदार एवं स्वास्थ्य विभाग के इंजीनियरों के विरूद्ध कार्रवाई कर वसूली करने के निर्देश दिए और स्वास्थ्य केन्द्रों में रोगी कल्याण समिति की बैठक नियमित रूप से कराने को कहा। उन्होने इस अवसर पर जिले में संचालित मलेरिया रोकथाम अभियान की भी समीक्षा की। इस अभियान के अन्तर्गत बाटे गए मच्छरदानी की गुणवत्ता की जांच कराने को कहा। मंत्री श्री धुर्वे ने जिले में संस्थागत प्रसव की स्थिति बच्चों के टीकाकरण एवं गर्भवती महिलाओं के जांच परीक्षण की जानकारी भी ली।
    सांसद श्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने जिले में संचालित पेयजल योजनाओं की समीक्षा की। उन्होने खराब पडे नलकूपों का दुरूस्तीकरण एवं बन्द नल जल योजनाओ को प्रारम्भ करने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि स्थल परीक्षण कराने के बाद ही नलकूपों खनन किया जाए और नलकूप खनन के लिए स्थानीय जन प्रतिनिधियों से भी राय ली जाए। उन्होने इस अवसर पर गांवों, स्कूलो एवं आंगनबाडी केन्द्रों में संचालित नलकूपो के संबंध में जानकारी ली। उन्होने इसके बाद महिला एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा की। उन्होने सांझा चूल्हा कार्यक्रम, पोषण आहार का वितरण, कम वजन के बच्चों की जानकारी, आंगनबाडी भवनों की स्थिति की समीक्षा की और अपूर्ण आंगनबाडी केन्द्रों को शीघ्र ही पूरा करने के निर्देश दिए।
    मंत्री श्री धुर्वे ने इसके बाद शिक्षा विभाग की समीक्षा की। उन्होने शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने की निर्देश दिए। उन्होने कहा कि संकुल क्षेत्रों में स्कूलों का निरीक्षण करने का दायित्व जनशिक्षक का होता है इसी लिए निरीक्षण के दौरान स्कूलों में शिक्षकों के अनुपस्थित पाए जाने पर अनुस्थित शिक्षक के साथ-साथ जनशिक्षक पर भी कार्रवाई की जाए। मंत्री श्री धुर्वे ने वित्तीय अनियमित्ता पाये जाने पर संकुल प्राचार्य शाहपुर के विरूद्ध अनुसाशनात्मक कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। इसी प्रकार से जिले में छात्र-छात्राओ के वितरित की गई सायकल पाठय पुस्तकें एवं गणवेश राशि की समीक्षा की गई। आयोजित बैठक मे सांसद श्री फग्गन सिंह कुलस्ते के द्वारा प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, स्वास्थ्य विभाग की योजनाए एवं विकास कार्य, संस्थागत प्रसव की जानकारी, भवन विहीन उपस्वास्थ्य केन्द्रों की जानकारी, जिले में नलकूप खनन एवं नलजल योजनाओ की समीक्षा, महिला बाल विकास विभाग द्वारा संचालित योजनाएं एवं स्कूल शिक्षा विभाग के कार्यो की समीक्षा की गई।
(20 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2017अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer