समाचार
|| बच्चों के दंत रोग उपचार हेतु क्लीनिकों से प्रस्ताव आमंत्रित || ईलाज एवं मृत्यु होने पर 6 हितग्राहियों को 24 हजार रूपये की सहायता राशि स्वीकृत || भारत के प्रधानमंत्रीजी ने कॅरियर सेल को भेजी चिट्ठी, कॉलेज में हर्ष || वर्षा की स्थिति || जिला स्तरीय पुर्नवास सलाहकार समिति की बैठक सम्पन्न || समर्थन मूल्य पर मोटा अनाज बेचने के लिये किसानों को करवाना होगा पंजीयन || रबी सीजन में किसानों को कम पानी में पकने वाली फसलें हेतु करे जन जागृति - श्री राजेन्द्र शुक्ल || भावान्तर योजना हेतु किसान करवा सकते है अपना पंजीयन 22 केन्द्रों पर || बड़वानी जनसुनवाई में आये 65 आवेदन || साहब, मेरी बेटी के इलाज के लिए मदद करें "कलेक्टर जनसुनवाई"
अन्य ख़बरें
हितग्राही मूलक प्रकरण लंबित रहे तो होगी कार्यवाही- कलेक्टर
-
उमरिया | 13-सितम्बर-2017
 
 
    कलेक्टर श्री माल सिंह ने समय सीमा की बैठक में विभिन्न विभागों के अंतर्गत संचालित योजनाओ को जमीनी स्तर पर क्रियान्वयन तथा लंबित प्रकरणों की प्रकरणवार समीक्षा करते हुए अधिकारियों से कहा है कि  नागरिकों के हित वाले समस्त कार्यो को सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर पूरा कराए।
    बैठक में अपर कलेक्टर श्री जी एस धुर्वे, सीईओ जिला पंचायत सुश्री सोनिया मीना, एडीएमएम बांधवगढ, मानपुर, पाली, सीएमएचओ डॉ. उमेश नामदेव, उप संचालक कृषि, पशु चिकित्सा सेवाएं, समस्त सीईओ एवं तहसीलदार, कार्यपालन यंत्री आरईएस, लोक निर्माण विभाग, पीआईयू, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क, सीएमओ नगर पालिका सहित समस्त विभागों के कार्यालय प्रमुख उपस्थित रहें।
    कलेक्टर श्री सिंह ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान पाली एवं मानपुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की खराब स्थिति पर चिंता प्रकट करते हुए सीएमओ को कहा है कि जिले की स्वास्थ्य सुविधाएं मुस्तैद करें और यह सुनिश्चित करें कि पदस्थ अमला मरीजों को सेवाभाव से अपने परिवार की भांति सेवा दें। उन्होंने कहा कि यदि मरीजों को अनदेखा किया गया और शिकायते मिली तो जिम्मेंदारी तय करते हुए कठोर कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि मानपुर सा.स्वा.केंद्र में मरीजों से पैसा लेने की शिकायते मिली है इसकी दोबारा पुनरावृत्ति नही हो इस बात के लिए समस्त अमले को सचेत करें।
    जिले के झोलाछाप डॉक्टरों की सघन चेकिंग करते हुए यह देखे कि उनके द्वारा मरीजों को गलत दवाई न दी जाए और न ही शोषण करें। ऐसा पाये जाने पर उनकी दुकाने बंद कराएं और वैधानिक कार्यवाही करें। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि बंगाली डॉक्टर विश्वास दवाखान तथा डॉक्टर विनोद गुप्ता की जांच की गई है जिनका प्रकरण तैयार कर पुलिस में प्रकरण दर्ज कराया जा रहा है।
    बैठक में कलेक्टर ने कार्यपालन यंत्री पीएचईडी को निर्देशित किया है कि बंद पड़ी 135 नल जल योजनाओं को चालू कराने के साथ साथ बिगड़े हैण्डपंपो को भी अविलंब दुरूस्त कराएं डीपीसी कार्यालय में पदस्थ एपीसी फिल्ड का सतत निरीक्षण कर अध्ययन अध्यापन का कार्य समुचित तरीके से कराने की विशेष पहल करें। यदि वे कार्यालय में पाए गए तो डीपीसी के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। इस हेतु तहसीलदार बांधवगढ़ को डीपीसी कार्यालय पर सतत नजर रखने के निर्देश कलेक्टर ने दिए है।
    कलेक्टर ने महिला बाल विकास अधिकारी से कहा है कि समस्त परियोजना अधिकारी एवं सुपरवाईजर आंगनबाड़ी केंद्रों का सतत निरीक्षण कर बच्चों को दी जाने वाली सुविधाओं को देखें और यदि कहीं कमियां पाई जाए तो तत्काल दुरूस्त कराते हुए संबंधित जिम्मेदार कर्मचारी के विरूद्ध कार्यवाही भी करें।
    मत्स्य विभाग की समीक्षा के दौरान यह बात सामने आई कि उमरार जलाशय को मछुआ सहकारी समिति एवं समूह को मत्स्य पालन हेतु दिया गया है जो नियमों के विपरित है। कलेक्टर ने इसकी विस्तृत जांच करने हेतु सहायक आयुक्त सहकारिता को दिया गया है।
नगरीय निकाय श्रम कर्मकार मण्डल के श्रमिकों का पंजीयन कराएं
    कलेक्टर श्री माल सिंह ने टी एल बैठक में समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत एवं सीएमओ से कहा है कि भवन संनिर्माण कर्मकार मण्डल में संलग्न समस्त श्रमिकों का शत प्रतिशत पंजीयन कराएं जिससे शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ उन्हें दिलाया जा सके। इस दौरान बताया गया कि 140 नये श्रमिकों का पंजीयन किया गया है जबकि 10500 पंजीकृत श्रमिकों का नवीनीकरण शेष है। इस पर कड़ा रूख अख्तियार करते हुए कलेक्टर ने कहा कि अभियान चलाकर नवीनीकरण का कार्य महीने के अंत तक पूरा कराएं अन्यथा की स्थिति में कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।
कौशिल्या योजना के तहत 1 अक्टूबर से प्रशिक्षण दें
    कलेक्टर ने औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था के प्राचार्य से कहा है कि कौशिल्या योजना के तहत चयनित महिलाओ को 1 अक्टूबर से प्रशिक्षण देने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि समूह बनाकर विभिन्न विषयों का प्रशिक्षण दें जिससे महिलाएं स्वरोजगार में लगकर आत्म निर्भर हो सके। इस हेतु जिले में 4500 महिलाओं का चिन्हांकन किया जा चुका है। इसका प्रशिक्षण पाली में सामुदायिक भवन एवं कोलमाइंस स्टेडियम के आडिटोरियम में, मानपुर में, कोहका स्थित छात्रावास सहित अन्य स्थानों में कुशल प्रशिक्षकों द्वारा दिया जाएगा।
बीपीएल सूची से अपात्रो के नाम हटाएं
    कलेक्टर श्री माल सिंह ने खाद्य विभाग की समीक्षा के दौरान कहा कि जिन पात्र हितग्राहियों को पात्रता पर्ची नही मिली है और न ही राशन कार्ड बना है उनकी सूची तहसीलदार तैयार करे। उन्होने यह भी कहा है कि बीपीएल सूची में जिन व्यक्तियों के नाम जोड़े गये है और उन्हे राशन उपलब्ध नही हो रहा है ऐसी स्थिति में समस्त अपात्रों के नाम अभियान चलाकर कटवाएं जिससे पात्र व्यक्ति को राशन एवं अन्य सुविधाएं मुहैया हो सके।
    अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पाली श्रीमती साधना सिंह ने बताया कि नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा राशन दुकानों में जो चावल भेजा जा रहा है वह घटिया किस्म का है कहीं कहीं इल्लियां भी पाई गई है। निगम द्वारा खाद्यान्न परिवहन करने वाले वाहनों के पास किसी प्रकार की जानकारी नही रहती कि वह कितनी सामग्री और कहां ले जा रहे है। इस पर कलेक्टर ने नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंधक के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए कहा है कि इसकी विस्तृत जांच करें और यदि सही सामग्री समय पर राशन दुकानो में नही पहुची तो कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।
    कल्दा सोसायटी में सेल्समैन द्वारा खाद्यान्न वितरण समय पर नही किया जाता और अपने मर्जी के हिसाब से दुकान संचालित करता है इसकी जांच हेतु एआरसीएच को करने के निर्देश दिए गए है।
एमपीईबी से वसूली जाएगी 56 लाख की राशि
    समय सीमा की बैठक में कलेक्टर ने एसडीएम एवं तहसीलदार बांधवगढ़ को निर्देशित किया है कि एमपीईबी के उपर राजस्व विभाग की 56 लाख की वसूली शेष है जो सीएजी की आडिट में भी लंबित है। उन्होने कहा है कि उक्त राशि की वसूली चल अचल सम्पत्ति से कर शासन पक्ष में जमा करें ताकि आडिट कंडिका समाप्त हो सके।
    इसी प्रकार नगर पालिका उमरिया के उपर भी राजस्व की वसूली किया जाना शेष है इसके लिए भी सख्ती से वसूली करने के निर्देश कलेक्टर ने  राजस्व अधिकारियो को दिए है।
बिगडे ट्रांसफार्मरो को बदले नही तो होगी कार्यवाही
    कलेक्टर ने समय सीमा की बैठक में विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान कहा कि जिले के विभिन्न क्षेत्रों खासकर मानपुर जनपद पंचायत के अंतर्गत चिल्हारी अंचल के अधिकांश ट्रांसफार्मर बिगडे पडे है या लो वोल्टेज के कारण विद्युत सप्लाई नही हो पा रही है। इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए कलेक्टर ने कार्यपालन यंत्री एमपीईबी को निर्देशित किया है कि अवर्षा की स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए जिले के समस्त ट्रांसफार्मरों को अविलंब सुधरवाएं  एवं जिन क्षेत्रों में वोल्टेज की समस्यां हो वहां भी किसानों को पर्याप्त मात्रा में वोल्टेज के साथ बिजली सुलभ कराएं जिससे वे अपनी खरीफ फसल को बचा सके और आगामी रबी फसल के लिए तैयारी कर सके।
    कलेक्टर ने कहा है कि जिले के अंतर्गत बिगडे ट्रांसफार्मरों की सूची उपलब्ध कराएं और जहां जहां ट्रांसफार्मर बदल दिए गए है उसकी भी जानकारी से अवगत कराए।
तेंदूपत्ता एवं बोनस की राशि दिलाएं
    वन विभाग की समीक्षा के दौरान यह बात सामने आई कि वन विभाग द्वारा जिन हितग्राहियों को तेंदूपत्ता की मजदूरी एवं बोनस की राशि का अभी तक भुगतान नही हुआ है उन्हें अविलंब भुगतान कराएं । इस संबंध में एसडीओ वन ने बताया कि राशि का भुगतान तत समय आनलाइन कर दिया गया था जबकि हितग्राहियों के खाते में अभी तक राशि नही पहुची है जिसकी शिकायत सीएम हेल्पलाइन में भी की गई है। कलेक्टर ने कहा है कि तीनों हितग्राहियों को समक्ष में लाएं ताकि उनसे भुगतान के संबंध में चर्चा कर उन्हें संतुष्ट किया जा सके।
भू अर्जन का भुगतान अभियान चलाकर करें
    कलेक्टर श्री माल सिंह ने कहा कि जिले में एन एच 78, नेशनल पार्क एवं जल संसाधन विभाग द्वारा नागरिकों की जिन भूमियों का अर्जन सार्वजनिक कार्यो के लिए किया गया है और उनका भुगतान अभी तक नही हुआ है ऐसे प्रकरणों को अभियान चलाकर वितरण की कार्यवाही सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने यह भी कहा है कि भुगतान के पश्चात प्रतिवेदन आनलाइन फीड कराएं और की गई कार्यवाही से अवगत कराए।
बैंक में हितग्राहियों के प्रकरण भेजकर इति श्री नही समझे
    कलेक्टर श्री सिंह ने विभिन्न विभागों द्वारा संचालित मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण योजना, मुख्यमंत्री उद्यमी योजना की विभागवार समीक्षा की जिसमें पाया गया कि विभागों द्वारा प्रकरण बैंकों को प्रेषित कर दिया गया है, लेकिन अभी तक बैंकर्स द्वारा हितग्राही को राशि नही उपलब्ध कराई गई है। कलेक्टर ने इसे गंभीरता से लेते हुए कहा है कि विभागीय अधिकारी हितग्राहियो से आवेदन प्राप्त कर बैंक को प्रेषित करना इति श्री नही समझें बल्कि जब तक उसे राशि नही मिलती तब तक उसे उपलब्धि नही माना जाएगा।
    कलेक्टर ने कहा है कि हितग्राही को समय पर ऋण मिले और वह अपना उद्योग एवं व्यवसाय संचालित करें तभी इन योजनाओं की सार्थकता सिद्ध होगी। कलेक्टर ने राजस्व अधिकारी एवं मुख्य नगर पालिका अधिकारियो से कहा है कि अपने क्षेत्र में संचालित बैकों की विस्तृत जांच करें जिसमें कामर्सिएल या निजी अनुमति भवन की ली गई या नही सम्पत्ति कर भुगतान हुआ है या नही पार्किग, नल एवं विद्युत कनेक्शन, डोमेस्टिक या कार्मिशयल लिया गया है या नही। कलेक्टर ने कहा है कि जहां बैंक कार्यालय स्थापित है वहां वर्ष 1958-59 के खसरा खतौनी में भूमि की कैफियत क्या थी और आज कितना बदलाव हुआ है उसकी भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर प्रस्तुत करें ताकि काम न करने वाले बैंक शाखा प्रबंधकों के विरूद्ध कडी कार्यवाही सुनिश्चित की जा सके।
 
(6 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2017अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer