समाचार
|| जिला पंचायत की सामान्य सभा की बैठक 17 जनवरी को || जिला टॉस्क फोर्स समिति की बैठक आज || उपभोक्ता संरक्षण के लिए राज्य व संभाग स्तरीय पुरूस्कार दिए जायेंगे || त्रिस्तरीय पंचायतों के निर्वाचन हेतु कलेक्टर ने दिये मताधिकार हेतु निर्देश || बुधवार को भोपाल में कलेक्टर विशेष गढ़पाले को मिलेगा 5-एस अवॉर्ड || बेटी को मिला शिक्षा से जीवन बेहतर करने का अवसर "सफलता की कहानी" || त्रिस्तरीय पंचायतों के मतदान के दौरान शराब पर प्रतिबंधित हेतु निर्देश जारी || जिले में दो सरपंच व आठ पंच निर्विरोध निर्वाचित || अधिकारियों व कर्मचारियों को मताधिकार की सुविधा देने के निर्देश || मतदान के लिए मजदूरों को मिलेगा अवकाश
अन्य ख़बरें
एनीमिया की रोकथाम हेतु बच्चों को खिलाई जाएगी आई.एफ.ए.गोली
आई.एफ.ए.गोली पर्याप्त संख्या में स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में पहुंचाने के कलेक्टर ने दिए निर्देश, कलेक्टर द्वारा शिक्षकों की निगरानी में विद्यार्थियों को आई.एफ.ए.गोली खिलाने के निर्देश
गुना | 14-सितम्बर-2017
 
 
 
   कलेक्टर श्री राजेश जैन ने एनीमिया की रोकथाम हेतु स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में पर्याप्त संख्या में आई.एफ.ए. गोलियां पहुंचाने के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए हैं, ताकि सभी बच्चों को गोलियां खिलाई जा सकें। कलेक्टर ने यह निर्देश यहां सम्पन्न हुई साप्ताहिक आयरन फोलिक अनुपूरण कार्यक्रम की समीक्षा बैठक में दिए। बैठक में मुख्य  चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.रामवीर सिंह रघुवंशी समेत लोक स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और लोकशिक्षण विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।
   कलेक्टर ने कहा कि एनीमिया की रोकथाम हेतु बच्चों को आई.एफ.ए. गोली खिलाने के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए लोक स्वास्थ्य विभाग एवं लोकशिक्षण विभाग के मध्य बेहतर समन्वय का होना जरूरी है। कलेक्टर ने स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में आई.एफ.ए. गोलियां पहुंचाने के कार्य हेतु स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाने के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिला परियोजना समन्वयक जिला शिक्षा केन्द्र को निर्देश दिए कि शिक्षकों को निर्देशित करें कि वे अपने समक्ष बच्चों को आई.एफ.ए. गोली खिलाना सुनिश्चित करें।
   कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को हिदायत दी कि शिक्षकों को अवगत कराना सुनिश्चित करेंकि वे बच्चों को बताएं कि आई.एफ.ए. गोली खाने से कोई नुकसान नहीं होता। इसके लिए शिक्षक बच्चों को गोली खिलाने के पूर्व स्वयं गोली  खाएं, जिससे बच्चे आसानी से गोलियां खा सकें। कलेक्टर ने कहा कि बच्चों को भोजन के पूर्व हाथ धुलाई का महत्व समझाते हुए भोजन उपरान्त उन्हें आई.एफ.ए. गोली का सेवन कराया जाए।
   कलेक्टर ने जिले में साप्ताहिक आयरन अनुपूरण कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को प्रशिक्षण दिलाने  के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए। कलेक्टर ने यह कार्य सुनियोजित ढंग से करने की हिदायत दी। उन्होंने दूरस्थ अंचल में स्थित स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में आई.एफ.ए. गोलियां पहुंचाने पर विशेष ध्यान केन्द्रित करने के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए।
   मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने जानकारी दी कि गुना जिले में एनीमिया की प्रीवलेंस दर 67.4 प्रतिशत है। एनीमिया के कारण बच्चों की बौद्धिक एवं शारीरिक विकास, शालेय उपस्थिति व शैक्षणिक प्रगति पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसकी रोकथाम हेतु आई.एफ.ए गुलाबी गोली कक्षा 1 से 5 वर्ष के बच्चों को तथा आई.एफ.ए. नीली गोली कक्षा 6 से 12 वर्ष के बच्चों को शिक्षक की निगरानी में खिलाई जाएगी।
 
(124 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2018फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer