समाचार
|| एकात्म यात्रा सामाजिक सरोकारों से जुड़ा सांस्कृतिक अभियान : मुख्यमंत्री श्री चौहान || एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला आज || एकात्म यात्रा के संबंध में बैठक 16 दिसम्बर को || पिंक ड्राइविंग लाइसेंस शिविर आज परिवहन कार्यालय में || जनपद स्तर पर कृत्रिम अंग उपकरण वितरण शिविर जारी || एकात्म यात्रा के दौरान प्रतियोगिताए आयोजित होगी || स्वच्छता मैराथन दौड़ आज || वरिष्ठ सहकारिता निरीक्षक निलंबित || एकात्म यात्रा अभियान सांस्कृतिक एवं समरसता की यात्रा है - मुख्यमंत्री || हिन्दी ओलम्पियाड परीक्षा 31 दिसम्बर को
अन्य ख़बरें
ग्रामीण युवाओं के लिए ’’भारत सरकार की सॉईल हैल्थ मेनेजमेन्ट योजनान्तर्गत ग्राम स्तर पर मिट्टी परीक्षण प्रोजेक्ट’’ स्थापित कर रोजगार पाने का सुनहरा अवसर
-
अनुपपुर | 23-सितम्बर-2017
 
   भारत सरकार की सॉईल हैल्थ मेनेजमेन्ट योजनान्तर्गत ग्राम स्तर पर मिट्टी परीक्षण प्रोजेक्ट, संचालक, किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग म.प्र. भोपाल के प्राप्त निर्देशो के अनुक्रम में प्रारंभिक स्तर पर प्रत्येक विकासखण्ड में ग्राम स्तर पर एक मिट्टी परीक्षण प्रोजेक्ट की स्थापना की जानी है ताकि ग्रामीण युवाओ को रोजगार मिल सके और कृषको को उनके ग्राम में ही मिट्टी परीक्षण की सुविधा मिल सके। प्रत्येक प्रोजेक्ट के लिये लागत राशि रुपये 5.00 लाख निर्धारित है जिसमे लागत का 75 प्रतिशत अनुदान रहेगा तथा शेष 25 प्रतिशत राशि हितग्राही को व्यय करना है। दिशा-निर्देश के प्रमुख बिन्दु निम्नानुसार हैः-
1. प्रोजक्ट स्थापना हेतु हितग्राही का स्वयं का भवन/बिल्डिंग अथवा किराये का भवन चार वर्ष के एग्रीमेन्ट के साथ होना चाहिये।
2. हितग्राही की आयु 18 से 27 वर्ष की रेंज की हो तथा वह द्वितीय श्रेणी में विज्ञान विषय के साथ न्युनतम मेट्रिक उत्तीर्ण होना चाहिये। साथ ही कम्प्यूटर का ज्ञान होना आवश्यक है।
3. प्रोजेक्ट स्थापना हेतु इच्छुक आवेदनकर्ता को आवेदन के साथ फोटो, पेन कार्ड, आधार कार्ड तथा योग्यता संबंधी प्रमाण पत्र संलग्न किया जाना आवश्यक है।
4. इच्छुक आवेदनकर्ता को प्रोजेक्ट की चार वर्ष की अवधि के लिये बॉड भरकर आवेदन के साथ दिया जाना होगा।
5. ग्रिड आधारित सॉईल सेम्पल कलेक्शन, परीक्षण एवं सॉईल हैल्थ कार्ड वितरण का कार्य नियत समय सीमा में सम्पादित करने की बाध्यता होगी। सॉईल सेम्पल कलेक्शन, परीक्षण एवं सॉईल हैल्थ कार्ड वितरण कार्य हेतु सॉईल हैल्थ कार्ड स्कीम अंतर्गत प्रावधानित राशि पात्रतानुसार प्राप्त कर सकेगा।
6. हितग्राही चयन, ग्राम सभा द्वारा अनुमोदित होना चाहिये।
7. प्रोजेक्ट अंतर्गत स्वीकृत/संपादित गतिविधियो तथा आय व्यय का विवरण सामाजिक अंकेक्षण हेतु वार्षिक ग्राम सभा आयोजन के पूर्व ग्राम पंचायत भवन/सार्वजनिक स्थल पर चस्पा किया जाना होगा।
8. वित्तीय वर्ष में किये जाने वाले नमूना परीक्षण का जिले की विभागीय मिट्टी परीक्षण प्रयोगशाला में रिचेक किया जावेगा।
9. आवेदन के साथ फायनेन्सियल स्ट्रकचर ऑफ प्रोजेक्ट अनुसार आवश्यक उपकरण/सामग्री क्रय का प्रूफ भी संलग्न प्रस्तुत किया जाना होगा।
10. प्रोजेक्ट स्थापना हेतु प्राप्त आवेदनो पर अंतिम निर्णय कलेक्टर महोदय की अध्यक्षता में गठित जिला स्तरीय कार्यकारी समिति द्वारा किया जावेगा।
11. इच्छुक आवेदनकर्ता को जिला स्तर पर मृदा परीक्षण के संबंध में प्रशिक्षण दिया जावेगा।
12. प्रोजेक्ट के मूल्यांकन, संचालन एवं मॉनिटरिंग का कार्य जिला स्तरीय कार्यकारी समिति द्वारा किया जावेगा जिसके लिये नोडल एजेन्सी विभागीय जिला कार्यालय नियत है।
   उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास अनूपपुर श्री एन.डी. गुप्ता ने बताया कि जिले के अनुभाग स्तरीय अनुविभागीय कृषि अधिकारी एवं विकासखण्ड स्तरीय वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारियों को भी निर्देशित किया गया हैं कि वे इच्छुक आवेदनकर्ताओ का चिन्हांकन उपरान्त ग्राम सभा, जनपद पंचायत कृषि स्थाई समिति से अनुमोदन उपरान्त चयन कर निर्देशो अनुसार आवेदन सत्यापन कर जिला कार्यालय को प्रस्तुत करावे ताकि जिला स्तरीय कार्यकारी समिति के समक्ष आवेदन प्रस्तुत किये जा सके। इच्छुक आवेदनकर्ता अधिक जानकारी के लिए विकासखण्ड स्तरीय वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी कार्यालय में सम्पर्क स्थापित कर सकते है।
(82 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2017जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
27282930123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer