समाचार
|| रेलवे हाई स्कूल शहडोल में किया गया विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन || निर्वाचक नामावली में नाम जोड़ने एवं हटाने के कार्य को गति प्रदान करें- जि.निर्वा.अधि. श्री शर्मा || पटवारी प्रतिवेदन के कारण राजस्व न्यायालयों में प्रकरण लंबित पाए जाने पर पटवारी होंगे निलंबित - कलेक्टर || मुख्यमंत्री स्वरोजगार एवं कौशल सम्मेलन तथा रोजगार मेले की तैयारियों के संबंध में समीक्षा बैठक सम्पन्न || टपकती हुई पानी की बूंदो ने किसानों को पहुंचा दिया बुलंदियो पर ''''सफलता की कहानी'''' || नेवरगांव-ला में हायर सेकेंडरी एवं छिंदलई में हाई स्कूल भवन निर्माण के लिए कृषि मंत्री श्री बिसेन ने किया शिलान्यास || 19 हितग्राहियों पर एफआईआर के निर्देश || भावांतर भुगतान योजना में 25 नवंबर तक होंगे पंजीयन || धानहारी नदी के गहरीकरण के निर्देश || कार्यो में धीमी गति पर सरपंच का प्रभार उप सरपंच को देने का प्रस्ताव
अन्य ख़बरें
डिस्प्ले बोर्ड लगाकर प्रमुख मंडियों के भाव प्रदर्शित करें-श्री गुप्ता प्रमुख सचिव
प्रमुख सचिव श्री गुप्ता ने कालापीपल कृषि उपज मंडी का निरीक्षण किया
शाजापुर | 08-नवम्बर-2017
 
 
   देश की प्रमुख मंडियों में चल रहे विभिन्न कृषि उत्पादों के भाव का प्रदर्शन स्थानीय कृषि उपज मंडी में इलेक्ट्रानिक डिस्प्ले बोर्ड के माध्यम से या मेन्युअल रूप से करें। यह बात सहकारिता विभाग के प्रमुख सचिव श्री के.सी. गुप्ता ने आज शाजापुर जिले की कृषि उपज मंडी के निरीक्षण के दौरान कही। इस मौके पर उन्होंने किसानों एवं व्यापारियों को भावांतर भुगतान योजना के बारे में भी बताया।
   प्रमुख सचिव श्री गुप्ता ने सर्व प्रथम कालापीपल कृषि उपज मंडी में चल रही नीलामी प्रक्रिया को देखा। इसके उपरांत उन्होंने किसानों से एवं व्यापारियों से चर्चा की। व्यापारियों ने 50 हजार रूपये के नगद भुगतान में आ रही दिक्कतों से अवगत कराया। किसानों ने कहा कि उन्हें नगद धन राशि की ज्यादा जरूरत है इसलिए नगद भुगतान कराया जाना चाहिए। श्री गुप्ता ने किसानों को बताया कि भावांतर भुगतान योजना का लाभ पंजीकृत किसानों को 31 दिसम्बर तक प्राप्त होगा। यदि किसानों को लग रहा है कि मंडी में वर्तमान में भाव कम मिल रहे है, तो वे लायसेंसी गोडाउन में उपज रख सकते है। उपज रखने का किराया राज्य शासन द्वारा वहन किया जाएगा। किसानों को जब उचित लगे वे अपनी उपज मंडी में बेच सकते है। किसानों को गोडाउन में रखी उपज की 80 प्रतिशत पर बैंको से ऋण भी प्राप्त हो सकता है। भावांतर भुगतान योजना का लाभ 31 दिसम्बर तक बेची गई फसलों पर प्राप्त होगा।
   इस अवसर पर श्री गुप्ता ने अधिकारियों की बैठक लेकर निर्देश दिए कि मंडी में टोकन व्यवस्था तत्काल लागू करें और टोकन के आधार पर ही किसानों की गाड़ियों को खड़ा कराए, और बोली भी इसी क्रम से लगवाए। साथ ही उन्होंने मंडी में सुरक्षा कर्मी बढ़ाने के भी निर्देश दिए। इस अवसर पर उन्होंने अनुविभागीय अधिकारी के.के. मालवीय से कहा कि वे व्यापारियों की बैठक लें और अधिक से अधिक व्यापारियों को नीलाम प्रक्रिया में भाग लेने के लिए कहें। साथ ही उन्होंने प्रतियोगिता बढ़ाने के लिए और अधिक लायसेंस जारी करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि देश की प्रमुख मंडियों में चल रहे विभिन्न फसलों की दरों की जानकारी स्थानीय किसानों को भी हो इसके लिए प्रमुख मंडियों की दरों का प्रदर्शन प्रतिदिन मंडी में 5-6 स्थानों पर करें। साथ ही किसानों को एसएमएस के माध्यम से भी चल रही दरों से अवगत कराए। पंजीकृत एवं अपंजीकृत किसानों में भेद नहीं करें और ना ही व्यापारियों को पंजीकृत किसानों की जानकारी दें। इस अवसर पर उन्होंने मंडी की पेयजल व्यवस्था आदि की जानकारी भी ली।
   इस अवसर पर संयुक्त संचालक सहकारिता श्री अभय खरे, अनुविभागीय अधिकारी श्री के.के. मालवीय, तहसीलदार श्री प्रकाश कस्बे, उपायुक्त श्रीमती सुनीता गोठवाल एवं मंडी सचिव श्री रामगोपाल कारपेंटर भी उपस्थित थे।
(11 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2017दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer