समाचार
|| छात्र-छात्राओं को पढ़ने तथा रहने के लिए बेहतर वातावरण उपलब्ध हो - कलेक्टर || जिले की ग्रामीण पत्रकार सुमिता शर्मा को बेटी बचाओं-बेटी पढाओं अभियान में उत्कृष्ट कार्य हेतु मिला सम्मान "सफलता की कहानी" || नगरों को स्वच्छ एवं सुंदर बनानें की पहल करें नगर पालिका अधिकारी - कलेक्टर || 24 फरवरी को बुढ़ार में खण्ड स्तरीय अन्त्योदय मेले का आयोजन || जयसिंहनगर में खण्ड स्तरीय अन्त्योदय मेले का आयोजन 20 फरवरी को || 31 दिसम्बर 2016 तक की अवैध कॉलोनियों का नियमितीकरण किया जायेगा || मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना के तहत कृषक पुत्र-पुत्री को दिया जाएगा लाभ || श्रवणबेलगोला तीर्थ दर्शन यात्रा 27 फरवरी को || वित्तीय वर्ष समाप्ति के पूर्व आवंटित बजट का समुचित उपयोग करने के कलेक्टर ने दिए निर्देश || फेमिदा का बरसों पुराना सपना पूरा किया मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना ने "सफलता की कहानी"
अन्य ख़बरें
जिले की बेटी श्रेया गुप्ता ने मार्शलआर्ट में शालेय राष्ट्रीय प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त कर किया जिले का नाम रोशन "सफलता की कहानी"
-
अनुपपुर | 02-फरवरी-2018
 
 
   अब बेटियाँ उडान भरने लगी हैं। गांव हो या शहर, परिस्थिति कुछ भी हो, बेटियों के लिए कोई फर्क नही पडता। वे तो अपने धुन की पक्की होती हैं।
   अनूपपुर जिले की छोटे कस्बे जैतहरी में रहने वाली बेटी श्रेया गुप्ता ने मात्र 14 वर्ष की आयु में मार्शलआर्ट में शालेय राष्ट्रीय प्रतियोगिता जो सागर में आयोजित की गयी थी, में वर्ष 2018 में प्रथम स्थान प्राप्त कर जिले का नाम रोशन किया है। उनकी सफलता पर पूरा जिला गौरवान्वित है। कुमारी श्रेया गुप्ता जब मात्र 10 वर्ष की थी, मार्शलआर्ट सीखना शुरु कर दिया था, जब वह मात्र 13 वर्ष की थी, तो उन्होंने  वह मार्शलआर्ट में शालेय राष्ट्रीय प्रतियोगिता जो सागर में आयोजित की गयी थी, में वर्ष 2017 में तृतीय स्थान प्रापत किया था, वहीं से उन्हें प्रथम आने का जुनून सवार हो गया। मात्र एक वर्ष के प्रयास में वह सपना साकार हो गया। कु. श्रेया के परिवार में तीन बहने एवं उनकी मां श्रीमती गीता गुप्ता हैं, जो फोटो-कांपी की दुकान का संचालन कर अपने बेटियों का सपना साकार कर रही हैं। बडी बहन श्री गुप्ता कक्षा 11वीं में पढ़ती हैं, उन्हे कबड्डी खेल का शौक है। छोटी बहन श्रेयांशी गुप्ता कक्षा 5वीं की छात्रा हैं। पिता स्व. राजेन्द्र गुप्ता जो पेशे से पत्रकार थे वर्ष 2007 में देहान्त हो गया था, परिवार के सामने जीविकोपार्जन की समस्या आ खडी हुई थी, जिसका पूरा परिवार ने पूरे धैर्य के साथ सामना किया।
   प्रधानमंत्री जी एवं प्रदेश सरकार की बेटी बचाओं अभियान से प्रभावित होकर श्रेया ने अपनी तथा अपनी तरह की अन्य लडकियों की सुरक्षा एवं आत्मसम्मान का प्रण लेकर महारानी लक्ष्मीबाई की तरह कमान संभालने का निर्णय लिया। उनके मजबूत इरादों को शिक्षा विभाग में क्लर्क के पद पर पदस्थ सुश्री साधना गुप्ता ने अमलीजामा पहनाया। जिन्होने अपनी भतीजियों के प्रगति के लिए अविवाहित रहने का निर्णय लिया।
   कु. श्रेया ने बताया कि उनके प्रशिक्षक श्री जयचक्रवती का लगातार उत्साहवर्धन एवं गहन प्रशिक्षण ने इस मुकाम तक पहुँचाया। कु. श्रेया आगे की शिक्षा प्राप्तकर पुलिस सेवा में जाना चाहती हैं। उन्होंने प्रण किया है कि मैं आगे जिले की लडकियों को आगे बढ़कर खेल के लिए प्रोत्साहित करुंगी। खेलना आजीवन नहीं छोड़ूंगा। अब अपना अगला लक्ष्य अन्तर्राष्ट्रीय पदक प्राप्त करने का है। जिससे मेरी स्कूल भारत ज्योति, जिला एवं गुरुजनों सहित परिवार का नाम रोशन हो सके। उनकी इस उपलव्धि हेतु कलेक्टर श्री अजय शर्मा ने म.प्र. लोक शिक्षण विभाग द्वारा जारी प्रमाण-पत्र तथा 5 हजार रु. का चेक प्रदान किया। जिला खेलकूद अधिकारी श्री बी.के.मिश्रा सहित अधिकारियों, खेल प्रेमी लोगों तथा शिक्षकों ने उनकी इस उपलव्धि पर बधाई दी है।
 
(17 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2018मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627281234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer