समाचार
|| चिकित्सकों व स्टॉफ की कड़ी मेहनत और मनोबल से कोरोना पॉजीटिव गंभीर मरीज स्वस्थ्य होकर घर पहुंचने (सफलता की कहानी) || जिले के खरीदी केन्द्रों में गेहूं की खरीदी जारी || मैं कोरोना वॉलेंटियर - देवास जिले में कोरोना वॉलेंटियर द्वारा चलाया जा रहा है जन-जागरूकता अभियान (कहानी सच्ची है) || अच्छी पहल - कोरोना की इस संकट की घड़ी समाजसेवी आ रहे हैं आगे || देवास जिले मे 17 अप्रैल 2021 तक कोरोना से सुरक्षा हेतु 1 लाख 43 हजार 196 टीके लगाये गये || देवास के नर्सिंग होम संचालक मरीजों को इलाज अच्छे से करें, उन्हें बेवजह परेशान करके इलाज नहीं करें -कलेक्टर श्री शुक्ला || देवास जिले के लिए अच्छी खबर 48 मरीज हुए कोरोना से मुक्‍त (खुशियों की दास्तां) || देवास जिले में आज प्राप्त 584 सैम्पल की रिपोर्ट में से 519 सैम्पल की रिपोर्ट नेगेटिव || होम आयसोलेशन में हर मरीज को दें मेडिकल किट || हरिद्वार कुंभ से वापस आए श्रद्धालु होंगे सेल्फ क्वारेंटाइन श्रद्धालु कलेक्टर को देंगे ग्राम में पहुंचने की सूचना
अन्य ख़बरें
उद्यमियों ने कोरोना काल में निवेश के प्रति दिखाई दिलचस्पी "कहानी सच्ची है"
इस साल निवेशकों को दोगुनी भूमि हुई आवंटित
जबलपुर | 25-मार्च-2021
राज्य शासन की उद्योग हितैषी नीतियों और कोरोना काल में उद्योगों के हित में शासन द्वारा उठाये गये कदमों से प्रदेश में बेहतर औद्योगिक वातावरण का निर्माण हुआ है। कोरोना महामारी की विषम परिस्थितियों से जूझकर लगातार उबर रहे औद्योगिकी सेक्टर के दिन-व-दिन मजबूत होने की वजह से प्रदेश के औद्योगिक परिदृश्य में बड़ी तेजी से बदलाव हो रहा है। कोरोना के दौर में भी राज्य सरकार की औद्योगिक नीतियों के प्रति निवेशकों में भरोसा बना रहा। तभी तो जबलपुर संभाग के जिलों के औद्योगिक केन्द्रों में अप्रैल 2020 से अब तक 93 नए उद्मियों ने 65 हेक्टेयर से अधिक जमीन का आवंटन प्राप्त किया है। इन इकाइयों द्वारा 1913 करोड़ 68 लाख रुपये का निवेश प्रस्तावित है, जिसमें करीब साढ़े तीन हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।
जबलपुर संभाग के जिलों के औद्योगिक क्षेत्रों में निवेशकों के बढ़े रूझान के यह आंकड़े न केवल राहत देने वाले हैं, बल्कि राज्य सरकार की उद्योग फ्रेंडली नीतियों के प्रति उद्यमियों में उपजे विश्वास और भरोसे का प्रतीक भी हैं। जबलपुर संभाग में चालू वित्तीय वर्ष के औद्योगिक इकाइयों और भूमि आवंटन के आंकड़े काफी रोचक और उत्साहजनक हैं।
कोरोना काल में दोगुनी भूमि आवंटित
मध्यप्रदेश इंडस्ट्रीयल डेवलपमेंट कारपोरेशन के जबलपुर स्थित क्षेत्रीय कार्यालय के अंतर्गत आने वाले जबलपुर संभाग के जिलों के औद्योगिक क्षेत्रों में पिछले वित्तीय वर्ष 2019-20 में जहां करीब 30 हेक्टेयर भूमि उद्यमियों को प्रदान की गई, वहीं कोरोना से प्रभावित चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 में निवेशकों को 65 हेक्टेयर से अधिक अर्थात दोगुना से अधिक भूमि आवंटित हो चुकी है।
उद्यमियों की दिलचस्पी बढ़ी
बीते पांच वर्षों में जबलपुर संभाग के जिलों में निवेश के प्रति साल-दर-साल उद्यमियों का आकर्षण बढ़ा है। तभी तो जहां वर्ष 2015-16 में 35 औद्योगिक इकाईयों के लिए 7.35 हेक्टेयर भूमि का आवंटन किया गया। वहीं वर्ष 2016-17 में 59 इकाईयों को 38.750 हेक्टेयर, वर्ष 2018-19 में 62 इकाइयों को 28.150 हेक्टेयर और वर्ष 2019-20 में 55 इकाइयों को 30.618 हेक्टेयर तथा वर्ष 2020-21 में 93 इकाइयों को 65.602 हेक्टेयर भूमि उद्यमियों को आवंटित हुई।
उद्यमियों की पसंद बना कटनी
निवेशकों के लिए जबलपुर संभाग का कटनी जिला नया पसंदीदा डेस्टीनेशन बन गया है। कटनी के अमकुही औद्योगिक क्षेत्र में चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 में रिकार्ड 40 उद्यमियों ने जमीन ली है। वहीं छिंदवाड़ा जिले के बोरगांव में 8 एवं लहगडुआ और मंडला जिले के मनेरी में 13 निवेशकों को भूमि आवंटित की गई है।
जबलपुर भी अग्रणी
जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक देवव्रत मिश्रा ने बताया कि जबलपुर जिले में राज्य शासन की सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग नीति के तहत वित्तीय वर्ष 2020-21 के कोरोना काल में 45 नवीन पूंजी निवेशकों को उद्योग स्थापित करने जरूरी मदद मुहैया कराई गई। यहां के औद्योगिक क्षेत्र उमरिया-डुंगरिया, रिछाई और अधारताल सहित शहरी क्षेत्रों में उद्यमियों ने इकाइयां लगाने भू-खंड आवंटित कराया है।
मनोज कुमार श्रीवास्तव
(23 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2021मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2930311234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293012
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer