समाचार
|| एसडीएम ने अमले के साथ सख्ती से कराया कोरोना कर्फ्यू का पालन || कोरोना संबंधित लक्षण महसूस होने पर तत्काल फीवर क्लीनिक पर जांच कराएं || अब जिले में लागू रहेगा 17 मई की प्रातः 6 बजे तक कोरोना कर्फ्यू || केंद्रीय एजेंसियों से समन्वय एवं विदेशी आयातित सामग्री के लिए राज्य नोडल अधिकारी नियुक्त || 15 मई तक सब कुछ बंद कर दें, संक्रमण की चेन तोड़ दें || ’कोरोना योद्धाओं की समर्पित सेवा एवं आत्मविश्वास से अप्रैल माह में 2619 मरीजों ने कोरोना पर पायी विजय’ || संजय गांधी अस्पताल में रेडक्रास द्वारा दो कोविड सहायता केन्द्र संचालित || संतोष साकेत ने जीती कोरोना से जंग "सफलता की कहानी" || राहत की बड़ी ख़बर - सात मई से प्रारंभ हो जाएगा कैंसर चिकित्सालय भवन में कोविड हास्पिटल || मुख्यमंत्री श्री चौहान 75 लाख किसानों के खाते में अंतरित करेंगे 1500 करोड़ रूपये
अन्य ख़बरें
देपालपुर पहुँचे सांसद और कलेक्टर किल कोरोना अभियान-2: मरीजों को ढूंढने अब घर-घर जाएगी स्वास्थ्य विभाग की टीम
-
इन्दौर | 29-अप्रैल-2021
  सांसद श्री शंकर लालवानी और कलेक्टर श्री मनीष सिंह आज देपालपुर पहुँचे और ग्रामीण क्षेत्र में चलने वाले किल कोरोना अभियान के लिए सभी से सहयोग और सहभागिता की अपील की। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक सहित अन्य जन प्रतिनिधि भी उपस्थित थे। इंदौर शहर की तरह ग्रामीण क्षेत्रों में भी अब जनता कर्फ्यू का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों-कस्बों में भी तेजी से कोरोना संक्रमण के चलते जिले में भी किराना, फल-सब्जी, कृषि संबंधी व अन्य दुकानों को अब रोजाना खोलने पर प्रतिबंध लगा दिया है, अब सिर्फ मंगलवार और शुक्रवार को ही निर्धारित समय पर दुकानें खुली रहेंगी। फल, सब्जी मंडी भी बन्द रहेगी। कलेक्टर ने यह जानकारी देते हुए कहा कि इसी तरह कोविड केयर सेंटर, आइसोलेशन सेंटर भी बनाए जाएंगे। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए अब शासकीय अमला मैदान में उतरेगा। सर्दी खांसी और बुखार के मरीजों की जांच करने के लिए घर-घर जाकर स्वास्थ्य विभाग की टीम सैंपल लेगी। इसके लिए किल कोरोना अभियान-2 शुरू किया है। उक्त अभियान के लिए आज गुरुवार को सांसद श्री शंकर लालवानी, देपालपुर विधायक श्री विशाल पटेल, पूर्व विधायक श्री मनोज पटेल, कलेक्टर श्री मनीष सिंह, डीआईजी श्री मनीष कपूरिया ने स्वास्थ्य व प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने बताया कि किल कोरोना अभियान-2 के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में चयनित हॉट स्पॉट, जहां कोविड पॉजिटिविटी दर में वृद्धि हो रही हो वहां कोविड की ट्रांसमिशन चेन को तोड़ने के लिए गठित दल द्वारा घर-घर जाकर बुखार के लक्षण वाले कोरोना के संभावित रोगियों की खोज की जाए। देपालपुर विकासखंड में कोरोना के पॉजिटिव प्रकरण या सर्दी, खांसी, जुखाम से प्रभावित अधिक व्यक्ति होंगे, वहां पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और स्वास्थ्य विभाग का अमला प्रभावित लोगों को मेडिकल किट उपलब्ध करवाएगा। 
       सांसद श्री शंकर लालवानी ने कहा कि अभियान का उद्देश्य संभावित संक्रमित तथा कोविड-19 संक्रमित व्यक्तियों को समुदाय से पृथक रखकर संक्रमण की चेन को तोड़ना है। संकट की इस घड़ी में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान इंदौर में कोरोना महामारी से निपटने के लिए जरूरी संसाधनों की उपलब्धता सुनिश्चित कर रहे हैं। प्रत्येक व्यक्ति को अपनी नैतिक जवाबदारी के साथ कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए दूसरों को भी उसका पालन करने की समझाइश देना होगी। हमने देपालपुर व बेटमा में कोविड आइसोलेशन सेंटर बनाया हैं। कोविड में काम करने वाले अमले का उत्साहवर्धन किया, किसी को भी कहां आवश्यकता लगे आप सीधे मुझसे यह हमारे क्षेत्र के पूर्व विधायक श्री मनोज पटेल से संपर्क कर सकते हैं। विधायक श्री विशाल पटेल ने कहा कि मैं अगले हफ्ते देपालपुर में मेरे परिवार की ओर से एंबुलेंस प्रदाय करूंगा। इसी प्रकार पूर्व विधायक श्री मनोज पटेल ने कहा कि इंदौर शहर की हालत बहुत ही गंभीर हैं जहां पहले डेढ़ सौ टन ऑक्सीजन की आवश्यकता लगती थी अब साढ़े छह सौ टन ऑक्सीजन की आवश्यकता लग रही हैं। हमने अगर इसी प्रकार की लापरवाही रखी तो यहां आंकड़ा बढ़ने में समय नहीं लगेगा। इसीलिए हम सबको कोविड-19 के प्रोटोकॉल सख्ती से पालन करना है। अगर हमने लापरवाही की तो आज हमारा कोई परिचित अपने किसी निकट को खो रहा है कल हम भी किसी अपने निकट को खो सकते हैं। इस दौरान सांसद श्री शंकर लालवानी, विधायक श्री विशाल पटेल, पूर्व विधायक श्री मनोज पटेल, कलेक्टर श्री मनीष सिंह, डीआईजी श्री मनीष कपूरिया ने देपालपुर में बने कोविड आइसोलेशन सेंटर का निरीक्षण किया। वहीं एसडीएम श्री रवि कुमार सिंह को निर्देश दिए कि यहां 100 से बढ़ाकर डेढ़ सौ बेड का आइसोलेशन सेंटर की व्यवस्था रखें। सीएमओ श्री चंद्रशेखर सोनिस को भोजन व्यवस्था सुचारू रूप से किए जाने के निर्देश दिए। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्री हिमांशु चंद्र, अपर कलेक्टर श्री राजेश राठौर, तहसीलदार श्री बजरंग बहादुर सिंह, जनपद सीईओ श्री राजू मेड़ा,  आदि उपस्थित थे।
जनता कर्फ्यू का सख्ती से पालन करवाएं
       कलेक्टर श्री सिंह ने निर्देशित किया कि ग्रामीण क्षेत्रों में 29 अप्रैल से लागू जनता कर्फ्यू का पालन सख्ती से करना सुनिश्चित किया जाए। साथ ही टेस्टिंग बढ़ाई जाए। एसडीएम क्षेत्र में कोविड केयर सेंटर की मानिटरिंग रखे। स्टाफ नर्स एवं पैरा मेडिकल स्टाफ की नियुक्ति कर दी गई है। पॉजीटिव होम आइसोलेशन में है तो उस क्षेत्र को माइक्रो कंटेनमेट जोन बनाया जाए। कलेक्टर मनीष सिंह ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से सम्पूर्ण जिलें प्रभावित हो रहा है। कोरोना संक्रमण के प्रसार पर नियंत्रण हेतु राज्य शासन एवं स्थानीय प्रशासन द्वारा समय समय पर ऐसी गतिविधियो पर प्रतिबंध लगाये है जिससे कि संक्रमण की रफ्तार को कम किया जा सके। किन्तु अब कोरोना संक्रमण का प्रसार छोटे कस्बो एवं ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से हो रहा है। आम जन की सुविधा हेतु कुछ गतिविधियो को प्रतिबंधो से मुक्त रखा गया था किन्तु देखने में यह आ रहा है कि इसका दुरूपयोग कर आमजन अनावश्यक रूप से बाहर निकल रहे है तथा कोविड प्रोटोकाल का पालन नही कर रहे है। ग्रामीण एवं छोटे कस्बो में कोरोना संक्रमण के प्रसार का मुख्य कारण ग्रामीण एवं छोटे कस्बो से छोटे दुकानदार द्वारा किराने आदि का सामान लेने शहरों में आना प्रमुख कारण है। इसके साथ ही ग्रामीण एवं छोटे कस्बो से कृषक अपनी सब्जी की फसल का विक्रय करने एवं कृषि उपकरण तथा खाद बीज आदि सामग्री क्रय करने शहर आते है जिस कारण भी शहरों से ग्रामीण क्षेत्रो मे संक्रमण का प्रसार तेजी से हो रहा है। किराना दुकान एवं सब्जी विक्रय संबंधी गतिविधियो को प्रतिबंध शिथिलता के दुरूपयोग के कारण ग्रामीण एवं छोटे कस्बों में कोरोना संक्रमण का प्रसार तेजी से होने को दृष्टिगत रखते हुए उक्त गतिविधियो पर भी प्रतिबंध लगाया जाना आवश्यक हो गया है। कलेक्टर सिंह ने बताया कि आईसोलेशन केन्द्र/कोविड केयर सेंटर सभी नगर पंचायतों में बनाए जायेंगे। बड़ी नगर पंचायतों में न्यूनतम 100 बिस्तरों का तथा छोटी नगर पंचायतों में न्यूनतम 50 बिस्तरों का केन्द्र रहेगा तथा उपयोग/व्यवस्था उपरोक्तानुसार ही रहेगी। नगर पंचायतों में इन केन्द्रों की व्यवस्था करवाने की जिम्मेदारी परियोजना अधिकारी की रहेगी तथा क्षेत्रीय सी.एम.ओ. दैनंदिनी व्यवस्था के लिए जिम्मेदार रहेगे। परियोजना अधिकारी, डूडा तथा सी.एम.ओ. नगर पंचायत भी इन व्यवस्था के लिए सी.ई.ओ श्री हिमांशु चंद्र को रिपोर्ट करेंगे तथा उनके मार्गदर्शन में कार्य करेंगे। इस आदेश में दिए गए समस्त निर्देशों के पालन होने संबंधी मॉनिटरिंग कलेक्टर/जिला दण्डाधिकार , इन्दौर की ओर से सी.ई.ओ जिला पंचायत श्री हिमांशु चन्द्र द्वारा की जायेगी। सभी ग्रामीण एस.डी.एम., सी.ई.ओ. जिला पंचायत से निरंतर सम्पर्क में रहकर मार्ग दर्शन प्राप्त कर उक्त निर्देशों का पालन करवाया जायेगा। जनता कर्फ्यू का पालन अग्रिम आदेश तक सख्ती से पालन करवाना क्षेत्रीय एस.डी.एम. की जिम्मेदारी रहेगी तथा कोई भी व्यक्ति उक्त निर्देशों का उल्लंघन करता पाया जाता है तो उसे धारा 107/116/151 के तहत गिरफ्तार कर केन्द्रीय जेल, इन्दौर भेजा जाए। क्षेत्रीय एस.डी.एम, सी.ई.ओ जनपद एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी आदि में सहयोग से जहां-जहां भी कोविड पॉजीटिव मरीजों का घनत्व बड़ता हुआ दिखे उसे कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित कर उस क्षेत्र के सभी रास्ते बांस एवं बल्ली आदि से बंदकर के प्रवेश का एक ही द्वार रखा जाये। ग्रामीण क्षेत्र के एस.डी.एम यह कंटेनमेंट क्षेत्र का आदेश जारी करने के लिए अधिकृत किए जाते है। कंटेनमेंट क्षेत्र के अन्तर्गत निवासरत नागरिकों को आंगनवाडी कार्यकर्ता/आशा कार्यकर्ता द्वारा शत-प्रतिशत स्क्रीनिंग की जाये, सभी संभावित कोविड मरीजों को दवाई का अनिवार्यतः किट वितरण, सेनेटाईजेशन आदि प्रोटोकॉल पूर्ण रूप से करना सुनिश्चित किया जाए।
वैक्सीनेशन कराने के लिए कराएं रजिस्ट्रेशन
       1 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिकों को कोविड का टीकाकरण किया जाएगा। टीकाकरण के रजिस्ट्रेशन पोर्टल आरोग्य सेतु अथवा कोविड एप पर अधिक से अधिक पंजीयन करवाया जाए। पंजीयन कराने के दौरान एक आईडी प्रूफ, सिलेक्ट कर आईडी क्रमांक दर्ज कर सकते हैं। टीकाकरण के लिए दिनांक एवं स्थान भी बुक कर सकते हैं।
(7 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2021जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
262728293012
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer