समाचार
|| आरएसपीएल कंपनी ने सीएम ने फंड में दी मदद राशि || डेंगू पीड़िता के ग्राम का मलेरिया टीम ने किया निरीक्षण || मध्यप्रदेश की धरती पर हर गरीब परिवार के पास होगा अपना आवास- मुख्यमंत्री श्री चौहान || एक अपराधी हुआ जिला बदर || जिले की सात तहसीलों में हुई वर्षा || 23 सितंबर को मुख्यमंत्री करेंगे संबोधित || वैक्सेनेशन कराने के लिए लोगों को किया जागरूक || कोई भी बच्चा कुपोषित न रहे, इसके लिये लें संकल्प || न्यायालयीन कार्य-प्रणाली के बेहतर प्रबंधन में सहयोगी होंगे नवीन पोर्टल-न्यायमूर्ति श्री रफीक || शनिवार को बैंक अवकाश के कारण नहीं होगी नीलामी
अन्य ख़बरें
तीसरी लहर के प्रति प्रदेश सरकार सजग और सतर्क : मुख्यमंत्री श्री चौहान
सुरक्षा के लिए अपनाएं कोविड अनुकूल व्यवहार
उमरिया | 17-जुलाई-2021
     मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर के प्रति सरकार पूरी तरह से सजग और सतर्क है। उन्होंने प्रदेशवासियों से आव्हान किया कि कोरोना के प्रति लापरवाही बिल्कुल न बरतें, कोरोना अभी गया नहीं है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण का प्रभाव काफी कम हो गया है। इसे दृष्टिगत रखते हुए अनेक क्षेत्रों में रियायत दी गई है, लेकिन हमें सावधानी बरतने के साथ कोविड अनुकूल व्यवहार को भी अपनाना होगा।
20 नये पॉजिटिव प्रकरण
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में कोरोना के एक्टिव प्रकरणों की संख्या 253 है। आज 15 जुलाई को 20 नये पॉजिटिव प्रकरण पाए गए हैं तथा पॉजीटिविटी दर 0.02 प्रतिशत है। आज प्रदेश में 36 रोगी स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए और 76 हजार 201 जाँचे की गई है। प्रदेश में 1687 फीवर क्लीनिक एक्टिव है। हेल्पलाईन नम्बर 104 तथा 181 पर 51 हजार 94 रोगियों का टेली कंसल्टेशन किया गया है।
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि तीसरी लहर के पूर्व ही प्रदेश में तेजी से स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के साथ चिकित्सकीय अधोसंरचनाओं का निर्माण किया जा रहा है। विशेष रूप से अस्पतालों में आईसीयू बेडस की संख्या बढ़ाने के साथ ऑक्सीजन की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिये ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किये जा रहे हैं।
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिये जो कार्य योजना बनाई गई थी उसके तहत अनेक जिलों में ऑक्सीजन प्लांटस शुरू हो चुके हैं। इस कार्य में शासन-प्रशासन के साथ राष्ट्रीय स्तर की कम्पनियों और प्रदेश के समाज सेवियों का बड़ा योगदान रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश को ऑक्सीजन उत्पादन के मामले में आत्म-निर्भर बनाने की जो मुहिम शुरू हुई है, उसे निरंतर जारी रखा जाएगा। हमारी कोशिश यही होगी कि सभी अस्पतालों में मरीजों के उपचार के लिये ऑक्सीजन की उपलब्धता अस्पताल में ही सुनिश्चित हो।
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना की संभावित तीसरी लहर के लिए सभी आवश्यक तैयारियों में विस्तरों, दवाओं, ऑक्सीजन, सीटी स्केन, आईसीयू, पीआईसीयू, चिकित्सक, स्टाफ आदि की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। वर्तमान में मध्यप्रदेश में कोरोना के इलाज के लिए कुल 68 हजार से अधिक विस्तर चिन्हांकित हैं, जिनमें 54 हजार शासकीय तथा 13 हजार से अधिक निजी अस्पतालों में हैं। इनके अंतर्गत 4 हजार विस्तर प्रायवेट मेडिकल कॉलेजेस में चिन्हांकित हैं। आयुष्मान योजना अंतर्गत शासकीय एवं निजी चिकित्सालयों में कुल 31 हजार 11 विस्तर चिन्हांकित हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि प्रदेश में विशेषज्ञों की समिति द्वारा गहन अध्ययन के पश्चात शिशुओं के उपचार की विस्तृत प्रोटोकॉल गाइड लाइन जारी की गई है। अभिभावक बच्चों के साथ वार्ड में रह सकें, इसके लिए भी निर्देश जारी किए गए हैं।

 
(67 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer