समाचार
|| जरारूधाम में केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री पटैल एवं प्रभारी मंत्री श्री राजपूत की गरिमामयी मौजूदगी में स्वच्छता संगोष्ठी का आयोजन || मास्क नहीं लगाने वाले 19 व्यक्तियों के विरूद्ध कार्रवाई || कोविड-19 टीकाकरण वैक्सीन वेन द्वारा इमलियाघाट, राजा पटना एवं मनका सहित अन्य ग्रामों में 555 हितग्राहियों का हुआ टीकाकरण || अभी कोरोना गया नहीं है -केन्द्रीय राज्यामंत्री श्री प्रहलाद पटैल || प्रधानमंत्री के जन्मदिवस पर 61 युवाओं द्वारा किया गया रक्तदान || प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के 71वें जन्मोत्सव में सामान्य वन मंडल दमोह कार्यालय कैम्पस में उत्साह के साथ || मालवा और निमाड़ में 12 फीसदी ज्यादा बिजली वितरण || भगवान विश्वकर्मा विकास और निर्माण के दाता हैं : मुख्यमंत्री श्री चौहान || प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जन-कल्याण और सुराज के प्रतीक – मुख्यमंत्री श्री चौहान || प्रधानमंत्री श्री मोदी के व्यक्तित्व से युवा प्रेरणा लें : राज्यपाल श्री पटेल
अन्य ख़बरें
जनजाति युवाओं को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने वाली योजनाएँ बनाएँ : खाद्य मंत्री श्री सिंह
मधुमेह से जीवन रक्षक के रूप में कोदो-कुटकी का हो व्यापक प्रचार
धार | 27-जुलाई-2021
   खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह ने कहा कि गरीब कल्याण समूह के गठन का उदेश्य गरीब एवं बेरोजगारों को रोजगार के अवसर देकर उन्हें समाज की मुख्य धारा से जोड़ना है। श्री सिंह गरीब कल्याण वर्ग के कल्याण के लिए गठित मंत्री समूह की विभागीय समीक्षा बैठक में मंत्री सदस्यों के साथ समीक्षा कर रहे थे।
बैठक में सहकारिता मंत्री श्री अरविन्द भदौरिया, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा एवं पर्यावरण मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग, पशुपालन मंत्री श्री प्रेम सिंह पटेल, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक, जनजाति कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री राम खेलावन पटेल एवं प्रमुख सचिव खाद्य श्री फैज़ अहमद किदवई उपस्थित थे।
   प्रमुख सचिव कृषि श्री अजीत केसरी ने बताया कि किसानों द्वारा अपनाई जा रही उन्नत कृषि पद्धतियों से जोड़ने के लिए अनुसूचित जाति के युवाओं को जागरूक किया जा रहा है। किसानों को किसान उत्पादक संगठन से जोड़ने के प्रयास किये जा रहे हैं, जिससे व्वसाय उन्मुख कृषि पद्धतियों के उपयोग में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा किसानों के हित में विभिन्न विभागों की योजनाओं को एक साथ एक ही दिशा में आगे बढ़ाने के प्रयास किये जा रहे हैं। इससे इन योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ गरीब एवं निर्धन वर्ग को मिल सके। प्रदेश के 89 आदिवासी विकासखंडों में 50 प्रतिशत उत्पादकता में वृद्धि की गई है।
कोदो कुटकी मधुमेह में रामबाण
मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह ने कहा कि कोदो कुटकी मधुमेह की बीमारी में बहुत लाभदायक है। परंतु इसके व्यापक प्रचार-प्रसार की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कोदो कुटकी चावल के पैकेट पर मधुमेह में लाभकारी जैसी स्लोगन लिखे जाएं, जिससे इसकी पैदावार की तरफ युवाओं का ध्यान आकर्षित हो।
पशुपालन से जोड़ा जाएगा बेरोजगार युवाओं को
मंत्री श्री सिंह ने कहा कि ट्रायबल क्षेत्र में आदिवासी समुदाय को ही मुर्गी पालन का कार्य दिया जाना चाहिए। अपर मुख्य सचिव पशुपालन श्री जे.एन. कंसोटिया ने बताया कि नंदीशाला योजना के विस्तार से देशी दुधारू पशु पालन से युवा वर्ग को जोड़ा जाएगा। नंदी पालकों को प्रोत्साहन स्वरूप 75 प्रतिशत सब्सिडी दी जाती है। साथ ही बकरी एवं मुर्गी पालन क्षेत्र में भी जनजाति युवाओं को जोड़ा जाएगा। ऐसी सभी योजनाओं का उन्नयन किया जाएगा, जिसके तहत दुधारू पशुओं, बकरियों, सूअरों, मुर्गो आदि के लिए सब्सिडी दी जाती है।
उच्च तकनीक से होगी पान की खेती
प्रमुख सचिव श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव ने बताया कि उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण में युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए बुंन्देलखंड व अन्य क्षेत्र में 1000 पान किसानों को उच्च तकनीकी से पान की खेती का प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि किसानों को मधुमक्खी पालन एवं शहद प्र-संस्करण इकाइयों की स्थापना कर 20 हजार हितग्राहियों को इस योजना में लाभान्वित किया जाएगा। मधुमक्खी छत्ते एवं पेटिका के लिए 2000 की लागत पर अधिकतम 800 रूपये  का अनुदान एवं शहद निकालने के लिए 20 हजार रूपये की लागत पर 40 प्रतिशत प्रति सेट अनुदान दिया जाता है।
(52 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer