समाचार
|| देवास सीएमएचओ डॉ.एम.पी शर्मा ने किरण पैथोलॉजी सेंटर का किया निरीक्षण,अनिमियतता को देखते बंद करने के दिये निर्देश || योग विषय बना विद्यार्थियों की पहली पसंद || कोरोना वैक्सीनेशन महाअभियान को जनता का अभियान बनाना है - मुख्यमंत्री श्री चौहान || आबकारी देवास की अवैध मदिरा के विरुद्ध लगातार कार्यवाही जारी || कलेक्टर श्री शुक्‍ला ने वैक्सीनेशन महा अभियान के संबंध में अधिकारियों की ली बैठक || अग्रणी बैंक योजना जिलास्‍तरीय परामर्शदात्री एवं समीक्षा समिति की बैठक कलेक्‍टर श्री शुक्‍ला की अध्‍यक्षता में आयोजित || देवास जिले में स्वास्थ्य कार्यकर्ता और वैक्सीनेशन टीम घर-घर जाकर कर लगा रहीं है वैक्‍सीन || जिले में 3 हजार 451 लोगों को लगाया गया कोविड- 19 का टीका || 465 किलोग्राम महुआ लाहन व 18 लीटर हाथ भट्टी मदिरा बरामद || डीएटीसीसी की बैठक 27 सितम्बर को
अन्य ख़बरें
‘‘विश्व स्तनपान सप्ताह’’ एक से 7 अगस्त तक
संस्थागत प्रसव केन्द्रों एवं सामुदायिक स्तर पर नवजात शिशु को शीघ्र स्तनपान को बढ़ावा देने संबंधी गतिविधियां होंगी आयोजित
सागर | 31-जुलाई-2021
   ‘‘विश्व स्तनपान सप्ताह’’ का आयोजन एक से 7 अगस्त तक वैश्विक स्तर पर किया जा रहा हैं। विश्व स्तनपान सप्ताह की मुख्य थीम -‘‘प्रोटेक्ट ब्रीस्टफीडिंग,शेयर्ड रिस्पांसबिलिटी’’थीम के साथ समस्त संस्थागत प्रसव कक्ष केन्द्रों में जन्म के 01 घंटे के भीतर शीघ्र स्तनपान सुनिश्चित करना,तथा शिशु एवं बाल आहारपूर्ति व्यवहारों, जन्म के 01 घंटे के भीतर शीघ्र स्तनपान, 6 माह तक केवल स्तनपान, 6 माह उपरांत स्तनपान के साथ-साथ उपरी आहार एवं कम से कम 02 वर्ष की उम्र तक स्तनपान कराने तथा शिशु स्वास्थ्य संबंधी गतिविधियां सामुदायिक जागरूकता से समुदाय में व्यवहार परिर्वतन संभव किया जा सकता हैं।
   सामुदायिक जागरूकता एवं सामुदायिक भागीदारी को बढावा देना, कार्यक्रम के शुभारंम आयोजन में जनप्रतिनिधियों को सम्मिलित करना। स्तनपान सप्ताह के दौरान स्तनपान से होने वाले मॉ, शिशु को स्वास्थ्य संबंधी लाभ का प्रचार समाचार-पत्रों में प्रेस विज्ञप्ति जारी करके करना। आईएमए, आईएपी, फाग्सी चेप्टर्स, नर्सिंग होम एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के साथ डिजीटल प्लेटफार्म से बैठक के माध्यम से संस्थागत प्रसव उपरांत शीघ्र स्तनपान को प्रोत्साहित करने हेतु। लेवर रूम प्रभारी चिकित्सक, स्टाफ नर्स,नर्सिंग मेन्टर्स द्वारा प्रसवपूर्व जांच केन्द्रों, एंटीनेटल क्लिनिक तथा प्रसव हेतु भर्ती समस्त महिलाओं को शीघ्र स्तनपान ,कोरोना संक्रमण से जुड़ी शंकाओं का निराकरण,स्तनपान के तरीकों को बतलाकर स्तनपान को प्रेरित करना,प्रसव उपरांत नवजात शिशु को शीघ्र स्तनपान,मॉं का पहला पीला गाढ़ा दूध का महत्व बतलाया जाना। प्रसव कक्ष केन्द्रों में सेवारत स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा संस्था में होने वाले प्रसव उपरांत 01 घंटे के भीतर नवजात को ‘‘शीघ्र स्तनपान’’कराने जाने की शपथ माताओं को दिलाई जाना। जिला, ब्लाक स्तर पर कार्यरत पोषण प्रशिक्षक द्वारा प्रसव कक्ष, प्रसवोत्तर एवं एन.आर.सी, शिशु वार्डो में भर्ती माताओं को स्तनपान के लाभों से अगवग,स्वास्थ्य संबंधी संदेश,क्वीज का आयोजन कर माताओं ज्ञानवर्धन करना तथा स्तनपान से संबंधित वीडियों का प्रर्दशन किया जाना परामर्श देना आदि।
       मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुरेश बौद्ध ने बताया कि विश्व स्तनपान सप्ताह  1 से 7 अगस्त के दौरान उक्त गतिविधियों का आयोजन किया जावेगा ताकि सामुदायिक स्तर पर जागरूकता एवं सामुदायिक भागीदारी से मॉं और शिशु के स्वास्थ्य की सुरक्षा हो सके। कोविड-19 से सुरक्षा के साथ विश्व स्तनपान सप्ताह से शिशु मृत्यु दर में कमी लाई जा सकें। महिला बाल विकास विभाग के समंन्वय से कार्यक्रम आयोजित किये जावेगे।
(56 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer