समाचार
|| जरारूधाम में केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री पटैल एवं प्रभारी मंत्री श्री राजपूत की गरिमामयी मौजूदगी में स्वच्छता संगोष्ठी का आयोजन || मास्क नहीं लगाने वाले 19 व्यक्तियों के विरूद्ध कार्रवाई || कोविड-19 टीकाकरण वैक्सीन वेन द्वारा इमलियाघाट, राजा पटना एवं मनका सहित अन्य ग्रामों में 555 हितग्राहियों का हुआ टीकाकरण || अभी कोरोना गया नहीं है -केन्द्रीय राज्यामंत्री श्री प्रहलाद पटैल || प्रधानमंत्री के जन्मदिवस पर 61 युवाओं द्वारा किया गया रक्तदान || प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के 71वें जन्मोत्सव में सामान्य वन मंडल दमोह कार्यालय कैम्पस में उत्साह के साथ || मालवा और निमाड़ में 12 फीसदी ज्यादा बिजली वितरण || भगवान विश्वकर्मा विकास और निर्माण के दाता हैं : मुख्यमंत्री श्री चौहान || प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जन-कल्याण और सुराज के प्रतीक – मुख्यमंत्री श्री चौहान || प्रधानमंत्री श्री मोदी के व्यक्तित्व से युवा प्रेरणा लें : राज्यपाल श्री पटेल
अन्य ख़बरें
भारत की शिक्षा व्यवस्था के आदर्श मूल्य और संस्कार के वाहक है शिक्षक-राज्य मंत्री श्री परमार
राज्य स्तरीय शिक्षक समारोह में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 27 शिक्षक हुए सम्मानित
धार | 05-सितम्बर-2021
     स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री श्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि शिक्षक भारत की शिक्षा व्यवस्था के आदर्श, मूल्य और संस्कार के वाहक हैं। शिक्षक भारत की सनातन परंपरा का पालन करते हुए विद्यार्थियों को पढ़ाने लिखाने तक सीमित न होकर, उन्हें अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाने वाले और जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने वाला एक व्यक्तित्व है। श्री परमार वल्लभ भवन में वर्चुअली ऑनलाइन आयोजित "राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह" में शिक्षण क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को सम्मानित कर रहे थे। श्री परमार ने शिक्षकों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि शिक्षक बच्चों के भविष्य को आकार देते है और इस तरह राष्ट्र के भावी भविष्य का निर्माण करते है। इस नेक योगदान के कारण ही शिक्षक समाज के सबसे ज्यादा सम्मानित सदस्य हैं। प्रदेश के विभिन्न जिलों से 27 शिक्षकों का सम्मान करते हुए श्री परमार ने कहा कि यह सम्मान  प्रदेश के हर शिक्षक और शिक्षा व्यवस्था से जुड़े हर अधिकारी-कर्मचारी का सम्मान है। श्री परमार ने भोपाल जिले की शिक्षिका श्रीमती वंदना पांडे को मंत्रालय में सम्मानित करते हुए प्रदेश के विभिन्न जिलों के एनआईसी कक्षा से जुड़े शिक्षकों को शाल, श्रीफल, प्रशस्ति पत्र और 25 हज़ार रुपये की सम्मान राशि से सम्मानित किया।
राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित शिक्षक का किया सम्मान
श्री परमार ने राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित मंडला जिले के बिछिया विकासखंड के शासकीय हाई स्कूल मांद के माध्यमिक शिक्षक श्री शक्ति पटेल को सम्मानित किया। श्री परमार ने उन्हें शाल, श्रीफल, प्रशस्ति पत्र और राज्य शासन की ओर से 11 हज़ार रुपये की सम्मान राशि का चेक भेंट किया।
आचार्य चाणक्य का अनुसरण कर भारत को बनाये विश्वगुरु
राज्यमंत्री परमार ने सभी शिक्षकों को आचार्य चाणक्य का उदाहरण देते हुए कहा कि आचार्य चाणक्य ने देश को संगठित और विदेशी शक्तियों का नाश कर अखंड भारत का निर्माण किया था। एक बार पुनः शिक्षा के क्षेत्र में भारत का पुनर्निर्माण किया जाना है। देश के अच्छे नागरिक को विकसित करने के साथ विद्यार्थी के अंदर संवेदनशील व्यक्तित्व का निर्माण करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। श्री परमार ने सभी शिक्षकों से राष्ट्रीय शिक्षा नीति के आलोक में भारत को विश्व गुरु बनाने में महत्वपूर्ण योगदान देने का आग्रह भी किया।
कोरोना काल में दिवंगत शिक्षकों को दी श्रद्धांजलि
श्री परमार ने कोरोना काल की विषम परिस्थितियों में शिक्षा व्यवस्था के दिवंगत हुए सभी शिक्षकों और स्टाफ को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा हमारे शिक्षकों ने कोरोना संकटकाल के दौरान शासन द्वारा सौपे विभिन्न दायित्यों का निर्वहन कर आमजन को राहत पहुंचाने के साथ-साथ विद्यार्थियों की शिक्षा निरंतर रखने का उत्कृष्ट कार्य किया है। भविष्य में जब इतिहास लिखा जाएगा तो शिक्षा क्षेत्र में उनका स्मरण और योगदान हमेशा याद रखा जाएगा।
अपनी क्षमताओं से आगे बढ़कर निभाया शिक्षकों ने कर्तव्य- प्रमुख सचिव श्रीमती शमी
प्रमुख सचिव श्रीमती रश्मि अरुण शमी ने कोरोना संकटकाल के दौरान शिक्षकों के योगदान का उल्लेख करते हुए कहा कि शासकीय और अशासकीय विद्यालयों के सभी शिक्षकों ने पाठ्यपुस्तक से आगे बढ़ते हुए नित नए प्रयोग कर शिक्षा व्यवस्था को निरंतर रख विद्यार्थियों के भविष्य को संवारने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। ''''हमारा घर हमारा विद्यालय'''', डिजिलेप और यूट्यूब पर कक्षाओं जैसी प्रयोग सिर्फ इसलिए सफल रहे क्योंकि हमारे शिक्षकों ने पूरी ईमानदारी और क्षमताओं से आगे बढ़कर अपना कर्तव्य निभाया है। श्रीमती शमी ने कोरोना वायरस से दिवंगत शिक्षकों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने सभी शिक्षकों को शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं भी दी।
प्रदेश के 27 शिक्षक हुए सम्मानित
"राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह 2021" के ऑनलाइन कार्यक्रम में प्रदेश के विभिन्न जिलों के 27 शिक्षकों को शिक्षण क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए सम्मानित किया गया। इन शिक्षकों में उज्जैन की प्राचार्य डॉ चित्ररेखा जैन, राजगढ़ की व्याख्याता सुश्री बबीता मिश्रा, दमोह के श्री अजय कुमार सिंघई, डिंडोरी के उच्चतर माध्यमिक शिक्षक श्री प्रशांत कुमार साहू, बालाघाट के शिक्षक श्री गौरीशंकर पटले, बड़वानी के श्री अनिल प्रबोध मिश्रा, बैतूल की सुश्री ममता गोहर, भोपाल की श्रीमती वंदना पांडे, छतरपुर के श्री सचिन कुमार द्विवेदी, छिंदवाड़ा की सुश्री भावना शर्मा, धार के श्री बालकृष्ण शुक्ला, गुना की डॉक्टर सारिका जैन,  मंदसौर के श्री पंकज कुमार गुप्ता, मुरैना के श्री उमेश कुमार तिवारी, नरसिंहपुर के श्री सुशील कुमार शर्मा, रतलाम की सुश्री सीमा अग्निहोत्री, सीहोर के श्री संजय सक्सेना, सिवनी के श्री अविनाश पाठक, शहडोल की डॉ निधि शुक्ला, शाजापुर के श्री आशीष जोशी, टीकमगढ़ के श्री शफी मोहम्मद, राजगढ़ के श्री मोहन विश्वकर्मा, श्री रमाकांत पांडे, भिंड के माध्यमिक शिक्षक मोहम्मद शकील, मंडला के श्री अखिलेश उपाध्याय, देवास के श्री महेश कुमार सोनी और नीमच के श्री निर्मल राठौर शामिल है।
इस अवसर पर आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती अनुभा श्रीवास्तव, संचालक राज्य शिक्षा केंद्र श्रीधन राजू एस, अपर संचालक श्री धीरेंद्र चतुर्वेदी, संयुक्त संचालक श्री शीतांशु शुक्ला, श्री आर एस तोमर सहित शिक्षा विभाग के संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
 
(12 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2021अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer