समाचार
|| मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उर्वरक वितरण की समीक्षा की || कोरोना के नए वेरिएंट से सिर्फ चिंतित नहीं सावधान भी रहें || प्रधानमंत्री श्री मोदी ने जनजातीय समुदाय के योगदान का किया स्मरण || जिले में कोरोना संक्रमण रोकने की कार्यवाही जारी || कानून व्यवस्था को ओर अधिक प्रभावी बनाया जावे - मुख्यमंत्री श्री चौहान || सूदखोरों-साहूकारों के मनमाने ब्याज से घटित घटना ह्रदय विदारक और असहनीय - मुख्यमंत्री श्री चौहान || विकास के कार्य अनवरत रहेंगे जारी - मंत्री डॉ. मिश्रा || सहकारी समितियों के कर्मचारियों की वेतन सहित अन्य मांगों का निराकरण होगा || सशस्त्र सेना झंडा दिवस 7 दिसम्बर को || भारत अंतर्राष्ट्रीय मेले में मध्यप्रदेश मंडप को कांस्य पदक
अन्य ख़बरें
नरवाई न जलाने की अपील
-
अशोकनगर | 15-नवम्बर-2021
       बेहतर पर्यावरण, जन स्‍वास्‍थ्‍य एवं जीव जन्‍तुओं के जीवन की सुरक्षा को दृष्टिग‍त रखते हुए कलेक्‍टर श्रीमती आर.उमामहेश्‍वरी द्वारा जिले के किसानों से नरवाई  (पलारी) न जलाने की अपील की गई है। फसल काटने के बाद बचे हुए अवशेष जलाने से एक ओर जहां खेतों एवं खेतों के आसपास रहने वाले जन समुदाय एवं पशुधन की हानि होने की आशंका बनी रहती है। साथ ही वायु प्रदूषण होता है एवं मिट्टी में पाए जाने वाले लाभदायक जीवाणु जलकर नष्‍ट होने से भूमि की उर्वराशक्ति पर विपरीत प्रभाव पडता है। नरवाई जलाने के बजाय फसल अवशेषों को एकत्रीकरण कर जैविक खाद बनाएं या रोटावेटर/डिस्‍कहैरो का उपयोग करके फसल अवशेषों को मिट्टी में मिलाएं जिससे मिट्टी की उर्वरा‍शक्ति में वृद्वि होने से आगामी फसल में अधिक उत्‍पादन प्राप्‍त हो सकेगा।
      उल्‍लेखनीय है कि  पर्यावरण सुरक्षा हेतु नेशनल ग्रीन ट्रिव्‍यूनल के निर्देश क्रम में वायु (प्रवेन्‍शन एण्‍ड कंट्रोल ऑफ पोल्‍यूशन)एक्‍ट 1981 के अंतर्गत प्रदेश में फसलों विशेषत: धान एवं गेहूँ की फसल कटाई के बाद बचे हुए फसल अवशेषों को जलाये जाने को प्रतिबंध किया गया है। जिले में नरवाई(पलारी) जलाए जाने की सूचना मिलने पर संबंधित कृषक के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही के साथ-साथ जुर्माना वसूल किया जाएगा।

(14 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2021दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer