समाचार
|| घर से ही करा सकते हैं मोबाइल को आधार से लिंक || अन्तर्राष्ट्रीय बाघ दिवस 29 जुलाई को || हज यात्रियों को विशेष प्रशिक्षण 25 जुलाई तक || समाज कार्य स्नातक स्तरीय पाठ्यक्रम लेखन की समीक्षा 26 जुलाई को || पशुधन संजीवनी हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर ‘‘1962’’ प्रारंभ || सीपीसीटी में हिंदी टाईपिंग अनिवार्य || स्कूलों की मान्यता के नवीनीकरण के लिए आयुक्त के पास अपील 20 से 26 जुलाई तक होगी || दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम में 21 प्रकार की दिव्यांगताएं शामिल || उर्दू में 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को मिलेगा पुरस्कार || सुदामा प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना
अन्य ख़बरें
13 अगस्त से एक सप्ताह तक मनेगा अंगदान सप्ताह
इंदौर सोसायटी फॉर आर्गन डोनेशन की बैठक सम्पन्न
इन्दौर | 01-अगस्त-2017
 
    कमिश्नर श्री संजय दुबे की अध्यक्षता में आज कमिश्नर कार्यालय सभाकक्ष में इंदौर सोसायटी फॉर आर्गन डोनेशन की बैठक सम्पन्न हुई। इस अवसर पर कमिश्नर श्री दुबे ने समिति के सदस्यों को सम्बोधित करते हुये कहा कि पिछले वर्षों में इंदौर सोसायटी फॉर आर्गन डोनेशन द्वारा कई उल्लेखनीय कार्य किये गये हैं, जिसकी प्रशंसा राष्ट्रीय स्तर पर भी हो रही है। इस अभियान के व्यापक प्रचार-प्रसार करने की जरूरत है। समिति के सदस्य और स्वयंसेवी संगठन हायर सेकेण्डरी स्कूलों में अंगदान के संबंध में कार्यशाला आयोजित कर सकते हैं। अंगदान के क्षेत्र में पादर्शिता जरूरी है। वह अस्पताल जहां पर मरीज ब्रोनडेड होता है और उसके अंग निकाले जाते हैं, उसी अस्पताल को अंगदान तक सारी सुविधायें मुहैया कराना जरूरी है। उन्होंने कहा कि अंगदान आगे आयें आगे पाये के आधार पर दिया जाता है और इसका ऑनलाइन पंजीयन होता है तथा एकरूपता लाने हेतु अब इस जिले की वेटिंग लिस्ट को नेशनल ऑर्गन एण्ड टीश्यु ट्रांसप्लांट आर्गेनाइजेशन (NOTTO) की सूची पर अपलोड की जायेगी। अंगदान कराने वाले अस्पताल को सभी अंगों का समन्वय करना जरूरी है। उन्होंने बताया कि 13 अगस्त विश्व अंगदान दिवस के रूप में मनाया जाता है। इंदौर जिले में 13 अगस्त से एक सप्ताह तक जिले में अंगदान सप्ताह मनाया जायेगा। इस दौरान अंगदान के प्रति लोगों में जागरुक किया जायेगा।
    कमिश्नर श्री दुबे ने कहा कि इंदौर सोसायटी फॉर आर्गन डोनेशन की वेटिंग लिस्ट की डीन एमजीएम मेडिकल कॉलेज की अध्यक्षता में हर महीने समीक्षा की जायेगी। अंगदान के मामले में विशेषज्ञों का निर्णय अंतिम होगा। उन्होंने कहा कि दानदाता परिवार को आने-जाने, भोजन आदि की व्यवस्था की जाये तथा उनसे सम्मानजनक व्यवहार किया जाये। उन्होंने कहा कि इंदौर सोसायटी फॉर आर्गन डोनेशन द्वारा सर्वसम्मति से अंगदान की गाइडलाइन बनायी जायेगी। पिछले अनुभवों को आधार पर वर्तमान गाइडलाइन में संशोधन और सुधार किया जायेगा। उन्होंने निर्देश दिये कि दानदाता परिवार को एक घण्टे के भीतर पोस्टमार्टम रिपोर्ट दे दी जाये। उन्होंने बताया कि इंदौर से उड़ीसा, पंजाब और आध्रप्रदेश तक के लोग ऑनलाइन पंजीयन कराकर अंग ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि इंदौर क्षेत्र में दान की शानदार परम्परा रही है, इस कारण से यह अभियान सफल रहा है और फलफूल रहा है। इस अभियान के विस्तार की व्यापक संभावनायें हैं। इस अभियान को सफल बनाने के लिये आप जैसे कार्यकर्ताओं और विशेषज्ञों की सख्त जरूरत है। चैन्नई और मुम्बई के बाद पूरे देश में इंदौर में सर्वाधिक देहदान हो रहा है। पिछले एक महीने में चार बार देहदान हो चुके हैं। इससे सिद्ध हो रहा है कि देहदान के प्रति लोगों में जागरूकता आ रही है। इंदौर शहर में बार-बार ग्रीन कॉरिडोर बनाया जा रहा है,जिसमें सड़क पर चलने वाले यात्रियों का अभूतपूर्व सहयोग मिल रहा है।
    बैठक में डीन एमजीएम कॉलेज डॉ. शरद थोरा, इंदौर सोसायटी फॉर आर्गन डोनेशन के सचिव डॉ.संजय दीक्षित, मुस्कान फाउण्डेशन के श्री संदीपन आर्य, दधीचि फाउण्डेशन के श्री जीतू बगानी के अलावा चोइथराम अस्पताल, मेदांता अस्पताल, अपोलो अस्पताल के प्रतिनिधि मौजूद थे।
(354 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer