समाचार
|| जिलास्तरीय शांति समिति की बैठक 19 अगस्त को || जनजातीय विभाग की योजनाओं का कम्प्यूटरीकरण || ऑनलाईन प्रवेश के लिए सी.एल.सी. का द्वितीय चरण || उर्दू पाण्डुलिपि और पुस्तकों के लिये आवेदन आमंत्रित || मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना में आंशिक संशोधन || इस वर्ष 23 एवं 24 अक्टूबर को होगा नर्मदा महोत्सव का आयोजन || किसानों की सुविधा के लिए एमपी किसान एप || 20 अगस्त को मनाया जायेगा सद्भावना दिवस || श्रमिकों के बच्चों के लिए शिक्षा हेतु वित्तीय सहायता योजना || केरल के बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए राशि एकत्र करने का अनुरोध
अन्य ख़बरें
गौवंश की संख्या के आधार पर बढ़ाई जायेगी गौशालाओं में सुविधाएँ
जिला गौपालन एवं पशुधन संवर्धन समिति की बैठक आयोजित
डिंडोरी | 12-सितम्बर-2017
  
 
     जिले में स्थिति गौ शालाओं में गौ वंश की संख्या के आधार पर गौ शालाओं में सुविधाए बढ़ाई जायेगी और गौ शालाओ की बुनियादी सुविधाएं जैसे चारा, पानी, भूमि, शेड इत्यादि के लिए आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराई जायेगी। इससे गौ शालाओ को आर्थिक रूप से सशक्त एवं स्वावलम्बी बनने में मद्द मिलेगी। कलेक्टर श्री अमित तोमर मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित गौपालन एवं पशुधन संवर्धन समिति की बैठक में समिति के कार्यो एवं प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमति सुनीता रावत, उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं डॉ. एस.के. बाजपेयी, उपसंचालक कृषि श्री सराठे, पशु चिकित्सा विस्तार अधिकारी शहपुरा डॉ. एन.एस.कुलस्ते, नगर परिषद एवं कृषि उपज मंडी डिण्डौरी-शहपुरा के प्र्रतिनिधि, गौपालन एवं पशुधन संवर्धन बोर्ड द्वारा नामांकित सदस्य (उपाध्यक्ष) श्री अरूण अवधिया, सदस्य श्री चेतन चौहान सहित जिले में पंजीकृत गौशालाओं के संचालक उपस्थित थे।
    आयोजित बैठक में गौपालन एवं पशुधन संवर्धन समिति के सदस्यों ने बताया कि उनके द्वारा गौवंश की सेवा पूरे मानवीय भावनाओं से की जाती है और जप्त गौवंश की अभिरक्षा एवं अभियोजन की कार्रवाई के निराकरण के लिए जिला प्रशासन का सहयोग किया जाता है। उन्होने बताया कि इसी प्रकार से अशक्त, वृद्ध एवं कमजोर पशुओ को भी गौशालाओ में रखकर उन्हे चारा, पानी दिया जाता है और उनका समुचित उपचार किया जाता है। कलेक्टर ने कहा कि समिति के द्वारा जिले में गौवंश की रक्षा के लिए गौशाला विहीन विकासखण्डों मे भी गौशाला पंजीयन के लिए प्रयास करे। जिससे गौवंश को संरक्षण दिया जा सके और उनकी सुरक्षा बनी रहे। कलेक्टर ने इसी प्रकार से गौशाला में रखी गई गौवंश के लिए चारा, पानी एवं उनके उपचार का समुचित प्रबंध कराने को कहा। जिले के पडत भूमि में चारागाह विकास कार्यक्रम को संचालित करने को कहा। जिससे गौशालाओं में रखी गई गौवंश को पर्याप्त चारा उपलब्ध कराया जा सके।
1 लाख 46 हजार की राशि स्वीकृत
    कलेक्टर श्री तोमर ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित गौपालन एवं पशुधन संवर्धन समिति की बैठक में जिले में स्थित गौसेवा समितियों को 1 लाख 46 हजार 946 रूपये की राशि स्वीकृत करने के निर्देश दिए है। उक्त राशि में से गौशाला समितियों के गौवंशों के लिए चारा, भूसा का प्रबंध किया जायेगा।
 
(340 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2018सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer