समाचार
|| युवा को राष्ट्रीय सभ्यता, संस्कृति, परम्पराओं के प्रति जागरूक बनायें || भारतीय प्रेस परिषद की जाँच समिति की बैठक 23-24 जुलाई को || निर्वाचन सम्बन्धी प्रशिक्षण आज || बाल अधिकार सम्बन्धी शिकायतों की सुनवाई आज || चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री जैन आज सिवनी जाएंगे || क्षय रोग से पीड़ित बच्ची रोशनी चौधरी से मिली राज्यपाल || राज्यपाल ने की क्षय रोग से पीड़ित बच्चों को गोद लेने की मुहिम की सराहना || वायुनगर कॉलोनी का प्रवेश द्वार 7 लाख 80 हजार रूपए की लागत से बनेगा || विकास पर्व के तहत आयोजित भूमिपूजन एवं लोकार्पण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि होंगीं श्रीमती माया सिंह || द्वार दाहिकेपुरा में खनन माफ़िया के विरुद्ध बड़ी कार्यवाही दो जे.सी.बी और एक पोकलेन मशीन जप्त
अन्य ख़बरें
अखिल भारतीय सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों ने किया जिले के ग्रामों का भ्रमण
मैदानी स्तर पर योजनाओं के क्रियान्वयन का लिया जायजा
बालाघाट | 12-अक्तूबर-2017
 
    अखिल भारतीय प्रशासनिक सेवा के 8 प्रशिक्षु अधिकारियों का दल इन दिनों बालाघाट जिले के भ्रमण पर आया है। दो ग्रुप में इन प्रशिक्षु अधिकारियों ने 10 से 12 अक्टूबर 2017 तक कटंगी, बिरसा एवं बैहर विकासखंड के ग्रामों का भ्रमण केन्द्र व राज्य शासन की योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति को देखा।
    इन प्रशिक्षु अधिकारियों ने आज 12 अक्टूबर को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बालाघाट के मुख्य वन संरक्षक श्री धीरेन्द्र भार्गव, कलेक्टर श्री डी व्ही सिंह एवं जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती मंजूषा विक्रांत राय से मुलाकात की और ग्रामों के भ्रमण के दौरान प्राप्त अनुभव साझा किये और प्रशासन की कार्यप्रणाली को समझा।
    प्रशिक्षु अधिकारियों के एक दल में कर्नाटक कैडर के 2015 बैच के आईएफएस अधिकारी श्री पी रूथर्न, 2016 बैच के आईआरटीएस अधिकारी श्री प्रमोद पंडित जाधव, 2016 बैच की आईपीएस अधिकारी श्रद्धा नरेन्द्र पांडे एवं मणिपुर कैडर की वर्ष 2015 बैच की अधिकारी अमृता सिन्‍हा शामिल है। इस दल ने कटंगी विकासखंड के ग्राम तिरोड़ी, महकेपार व गोरेघाट का भ्रमण किया है।
    प्रशिक्षु अधिकारियों के दूसरे दल में गुजरात कैडर के वर्ष 2013 बैच के आईपीएस यशपाल धीरजभाई जगनिया, वर्ष 2016 बैच की आईआईएस जे विजयलक्ष्मी, पश्चिम बंगाल कैडर के वर्ष 2015 बैच के आईपीएस उमेश गनपत खंडबहले एवं महाराष्ट्र कैडर के वर्ष 2015 बैच के आईएफएस अधिकारी सिद्धेश तुकाराम सावड़ेकर शामिल है। इस दल के अधिकारियों ने बिरसा विकासखंड के ग्राम चिचगांव, देवगांव व बैहर विकासखंड के ग्राम परसाटोला का भ्रमण किया है।
    प्रशिक्षण पर आये इन अधिकारियों ने जिले के ग्रामों का भ्रमण कर वहां की शालाओं, आंगनवाड़ी केन्द्रों, व प्रधानमंत्री आवास योजना के आवासों का निरीक्षण किया तथा शालाओं में शौचालय की स्थिति, ग्रामों में शौचालय की स्थिति, ग्रामीणों के रोजगार के साधन, कृषि की स्थिति व ग्रामों की सामाजिक संरचना के बारे में जानकारी ली। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों की शालाओं में लड़कों की तुलना में लड़कियों की अधिक संख्या ने इन अधिकारियों को चकित किया। इन अधिकारियों को बताया गया कि बालाघाटजिला मध्यप्रदेश का सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला है और यहां पर शिक्षा का स्तर बहुत अच्छा है। इस जिले में अधिक क्षेत्र में वन होने के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका का साधन भी वनों से मिलता है।
    प्रशिक्षण पर आये इन अधिकारियों को मध्यप्रदेश के जबलपुर, कटनी, मंडला, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट एवं नरसिंहपुर जिलों के ग्रामों का भ्रमण कर केन्द्र व राज्य शासन की योजनाओं का क्रियान्वयन, ग्रामों की सामाजिक संरचना, क्षेत्र विशेष में संसाधनों की स्थिति एवं लोकहित में योजनाओं के उपयोग को समझना है।
(283 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer