समाचार
|| आदिम जनजातियों को बिना भर्ती प्रक्रिया नियुक्ति देने का प्रावधान || राष्ट्रीय पोषण मिशन क्रियान्वयन के लिए समिति गठित || जनजातीय कार्य मंत्री श्री लाल सिंह आर्य आज शिवपुरी में || विभागीय योजनाओं का लाभ प्राप्त करने हेतु हितग्राही ऑनलाईन करें आवेदन || कृषि उत्पादन आयुक्त की वीडियो कान्फ्रेंस 29 जून को || मूंग भंडारण हेतु गोदामों में 55600 मैट्रिक टन जगह रिक्त है || संविदा पर नियुक्त अधिकारी एवं कर्मचारियों को नियमित पदों परअ नियुक्ति के अवसर प्रदान करने हेतु नीति निर्देश जारी || स्कूलों के विद्यार्थियों की दक्षता आकलन के लिये बेसलाइन टेस्ट 25 जून से || अंतर्राष्ट्रीय नशा निवारण दिवस 26 जून को मनाया जायेगा || रानी दुर्गावती बलिदान दिवस का कार्यक्रम स्कूलों में आयोजित किया गया
अन्य ख़बरें
जिले के चौरई में एकात्म यात्रा का हुआ भव्य स्वागत और हुआ जनसंवाद कार्यक्रम
-
छिन्दवाड़ा | 13-जनवरी-2018
 
  
      संपूर्ण विश्व को अपने अद्वैतवाद के ज्ञान से समरसता एवं एकात्म भाव का बोध कराने वाले आदिगुरू शंकराचार्य जिन्होंने भारत वर्ष की चारो दिशाओं में मठ की स्थापना कर भारत वर्ष को एक सूत्र में बांधा, उनकी अष्ठधातु मूर्ति निर्माण के लिये आम जनों से धातु कलशों एवं प्रत्येक ग्राम की मिट्टी संग्रहण के लिये चलाई जा रही एकात्म यात्रा का आज अमरवाडा से होते हुये चौरई में प्रवेश हुआ। रास्ते में जगह-जगह ‍गांव-गांव जनसमुदाय द्वारा यात्रा का गर्मजोशी से भव्य स्वागत किया गया। जगह-जगह स्वागत द्वार बनाकर ग्रामीणजनों द्वारा अतिथियों एवं यात्रियों पर पुष्पवर्षा की गई तथा आदि शंकराचार्य की पादुकाओं व यात्रा ध्वज का पूजन अर्चन किया गया। कार्यक्रम में देवी स्वरूपा बालिकाओं का पूजन के साथ ही कुछ संतों का शॉल श्रीफल से सम्मान भी किया गया।
      इस अवसर पर अतिथि संतों के रूप में जहां महामण्डलेश्वर हरिहरानंद महाराज, गणेशगिरी महाराज और सुदर्शनदास महाराज के साथ ही स्थानीय संतों, चौरई विधायक श्री पं.रमेश दुबे, यात्रा के जिला प्रभारी श्री रमेश पोफली, जिला पंचायत के उपाध्यक्ष श्री शैलेन्द्र रघुवंशी, नगर परिषद पिपलानारायणवार के अध्यक्ष श्री राजू परमार, महाकौशल विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री संतोष जैन एवं अन्य जनप्रतिनिधियों की भी उपस्थिति रही, वहीं प्रशासनिक अधिकारियों में कलेक्टर श्री जे.के.जैन, एस.डी.एम. व जिला और जनपद स्तरीय अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।
     
    एकात्म यात्रा का स्वागत करने अमरवाडा व चौरई के बीच के गांव के लोग, चौरई नगरवासी महिलाओं, पुरूषों एवं बच्चों द्वारा जगह-जगह स्वागत किया गया और जनसंवाद आयोजन स्थल तक मार्ग के दोनों ओर पंक्ति बनाकर परम्परागत स्वागत कलशों एवं पुष्प वर्षा द्वारा यात्रा का अभिनदंन किया गया। चौरई विधायक श्री दुबे ने आदि शंकराचार्य की चरण पादुकाओं को सम्मान के साथ सिर पर रखकर जनसंवाद स्थल तक लाकर पूजन अर्चन किया। ध्वज पूजन के उपरांत चौरई नगर में जनसंवाद कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। इस दौरान प्रदेश के एकात्म यात्रा प्रभारी डॉ.जितेन्द्र जामदार ने अपने उद्बोधन में यात्रा के उद्देश्य के साथ ही आदि शंकराचार्य के अद्भुत जीवन पर प्रकाश डाला और 19 दिसंबर से प्रारंभ संपूर्ण प्रदेश के प्रत्येक जिले में भ्रमण कर रही एकात्म यात्रा के संबंध में विस्तृत चर्चा की।
    कार्यक्रम में श्री मुक्तानंद स्वामी महाराज और महामण्डलेश्वर हरिहरानंद महाराज ने एकात्म यात्रा की मूल संकल्पना और अद्वैतवाद पर विस्तार से जानकारी देकर सभी में एक ही आत्मा के होने के भाव को बताते हुये सामाजिक समरसता पर जोर दिया और कहा कि जातिवाद, भाषावाद, क्षेत्रवाद, असमानता, अशांति आदि अज्ञानता के कारण ही है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति किसी भी जाति, धर्म, संप्रदाय आदि से भले ही संबंधित हो, किंतु उन सब में एक ही आत्मा है। इस पर गहनता से विचार कर समरसता व एकात्मकता से विकास व उन्नति का मार्ग प्रशस्त करें। एकात्म यात्रा का जनसंवाद सुनने के लिये हजारों की संख्या में लोग जनसंवाद स्थल पहुंचे और आदि शंकराचार्य के जीवन दर्शन के संबंध में जानकर अभिभूत हुये। जनसंवाद के उपरांत समरसता भोज का आयोजन भी किया गया। एकात्म यात्रा के दौरान गत दिवस हर्रई में जनसंवाद करने के बाद अमरवाडा में जनसंवाद किया गया जिसमें यात्रा के साथ चल रहे संत, स्थानीय संत और समाज के सभी लोगों ने इसमें अपनी सहभागिता दी। इस दौरान स्थानीय जनप्रतिधि व पदाधिकारियों ने एकात्म यात्रा का भव्यतम स्वागत कर सामाजिक समरसता व सांस्कृतिक एकता का संदेश दिया।
(161 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2018जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer