समाचार
|| ग्रामीण क्षेत्रों में 806 करोड़ के 217 पुलों का निर्माण कार्य पूर्ण || सामूहिक योग कार्यक्रम में मंत्रीगण भी भागीदारी दर्ज करायेंगे || गौ-संरक्षण के लिये गौ-शालाओं को 17 रुपये प्रति गाय अनुदान दिया जायेगा || दुर्घटना से विकृत हुये हाथ की समस्‍या से प्रियंका ने पाई मुक्ति (सफलता की कहानी) || परिवहन और भण्डारण कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं- कलेक्टर डॉ. जे विजय कुमार || कलेक्टर डॉ. कुमार ने सुनी ग्रामीणों की बुनियादी समस्याएं || श्रमिक वर्ग की प्रसूता को मिलेगी 16 हजार की राशि || मध्यप्रदेश राज्य खाद्य आयोग का दो दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम || अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर 21 को वित्तमंत्री श्री मलैया होंगे मुख्य अतिथि || ग्रामों का भ्रमण कर संभागायुक्त श्री आशुतोष अवस्‍थी ने जानी योजनाओं की मैदानी स्थिति
अन्य ख़बरें
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना पांच बेरोजगारो के लिए सहारा बनी (स्टोरी)
-
भिण्ड | 14-जनवरी-2018

 
   
 
   मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के माध्यम से ऑटो रिक्शा, ऑटो लोडिंग, ई-रिक्शा की सुविधा जिले के बेरोजगारो को रोजगार देने के अवसर देने की दिशा में प्रयास किए गए है। इन प्रयासो के अन्तर्गत जिला प्रशासन एवं जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति के माध्यम से जिले के अनुसूचित जाति वर्ग के हितग्राही श्री बृजेन्द्र, श्री नरेन्द्र, श्री शिवकुमार, श्री सोनेलाल एवं श्री सुरेन्द्र के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना सहारा बन गई है।
    जिला मुख्यालय भिण्ड के श्री बृजेद्र पुत्र श्री गरीबेलाल धानुक, श्री नरेन्द्र पुत्र श्री रामनरेश जाटव निवासी रतनूपुरा, श्री शिवकुमार पुत्र श्री अजुद्वी प्रसाद कोरी निवासी वार्ड क्र.11 रेखानगर भिण्ड, श्री सोनेलाल पुत्र श्री रामकैलाश खटीक निवासी इटावा रोड भिण्ड एवं श्री सुरेन्द्र पुत्र बालभ्यासी जाटव निवासी भीमनगर भिण्ड बेरोजगार होकर रोजगार प्राप्त करने की दिशा में इधर-उधर भटक रहे थे। तभी उनके द्वारा समाचार पत्र के माध्यम से जानकारी मिली कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत जिला अंत्यावसायी कार्यालय भिण्ड के माध्यम से ऑटो रिक्शा, ऑटो लोडिंग और ई-रिक्शा व्यावसाय के लिए ऋण प्राप्त हो सकता है। तब उन्होंने कार्यपालन अधिकारी श्री एमपी माहौर से कलेक्टर कार्यालय के कैम्पस स्थित कार्यालय में पहुंचकर संपर्क किया। उन्होंने इन पांचो युवको को बताया कि बेरोजगारी से निजात निजी व्यावसाय प्रारंभ करने से प्राप्त की जा सकती है। तब उनके कहने से इन पांचो व्यक्तियों ने अपने आवेदन ऋण प्राप्त करने के लिए प्रस्तुत किए।
    श्री बृजेन्द्र, श्री नरेन्द्र द्वारा ऑटो रिक्शा एंव श्री शिवकुमार द्वारा ऑटो लोडिंग, तथा श्री सोनेलाल एवं सुरेन्द्र ने ई-रिक्शा का व्यावसाय प्रारंभ करने के लिए जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति के द्वारा बैंक के माध्यम से ऋण प्रकरण स्वीकृत कराए। इन पांचो व्यक्तियों को पता नहीं था कि कब यह योजना सहारा देकर स्वयं का व्यावसाय स्थापित करने में सहायक बनेगी। प्रदेश के सामान्य प्रशासन विभाग के राज्यमंत्री श्री लालसिंह आर्य द्वारा अनुसूचित जाति वर्ग के हितग्राहियों को दी जाने वाली सुविधाओं की समीक्षा बैठक ली। तब उन्होंने कार्यपालन अधिकारी अंत्यावसायी को निर्देश दिए कि इन पांचो व्यक्तियों को स्वयं के व्यवसाय के लिए स्वीकृत ऑटो रिक्शा शीघ्र प्रदान किए जाए। इन निर्देशों के तहत जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास सिमिति कार्यपालन अधिकारी ने तत्काल बृजेन्द्र पुत्र श्री गरीबेलाल एवं श्री नरेन्द्र पुत्र रामनरेश को ऑटो रिक्शा क्रमशः 2 लाख 73 हजार 750 रूपए के स्वीकृत ऋण में अनुदान राशि 82125 की छूट देकर वाहनो की चाबी सौंपी गई। इसीप्रकार श्री शिवकुमार पुत्र श्री अजुद्वी प्रसाद ऑटो लोडिंग के लिए 2 लाख 64 हजार स्वीकृत ऋण में से 79 हजार 200 रूपए की सुविधा के साथ ऑटो लोडिंग और श्री सोनेलाल पुत्र श्री रामकेलाश तथा श्री सुरेन्द्र पुत्र बालभ्यासी को ई-रिक्शा के लिए क्रमशः 1 लाख 70 हजार 900 रूपए के स्वीकृत ऋण में 51 हजार 270 की अनुदान राशि की छूट उपलब्ध कराई गई।
    कलेक्टर डॉ इलैया राजा टी ने सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री श्री लालसिंह आर्य की उपस्थिति में श्री बृजेन्द्र, श्री नरेन्द्र, श्री शिवकुमार, श्री सोनेलाल एवं श्री सुरेन्द्र को क्रमशः ऑटो रिक्शा, ऑटो लोडिंग एवं ई-रिक्शा की सौगात प्रदान करने की दिशा में 12 जनवरी 2018 को चाबी सौंपी। इन हितग्राहियों में चाबी सौंपने के दौरान काफी उत्साह परिलक्षित हो रहा था।
    जिला मुख्यालय भिण्ड के बरोही निवासी बरोही निवासी श्री बृजेन्द पुत्र श्री गरीबेलाल धानुक, रतनूपुरा के श्री नरेन्द्र पुत्र श्री रामनरेश जाटव, रेखानगर भिण्ड वार्ड 11 के निवासी श्री शिवकुमार पुत्र श्री अजुद्वी प्रसाद कोरी तथा ईटावारोड के श्री सोनेलाल पुत्र श्री रामकेलाश खटीक और भीमनगर के निवासी श्री सुरेन्द्र पुत्र बालभ्यासी जाटव ने संयुक्त रूप से बताया कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना हम अनुसूचित जाति वर्ग के बेरोजगारो के लिए बरदान साबित हुई है। हम अपना अपना व्यवसाय इस योजना से प्राप्त वाहनो से करने में सहायक बनेंगे। साथ ही हमारा तरक्की का मार्ग प्रसशस्त्र होगा। जिसका श्रेय मध्यप्रदेश सरकार और जिला प्रशासन तथा अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति  भिण्ड को जाता है।
(157 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2018जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer