समाचार
|| ब्यौहारी नगर वासियों की वर्षों पुरानी ख्वाहिस हुई पूरी (सफलता की कहानी) || "ठहाकों के साथ याद किया पं.ओम व्यास को" || अधिक से अधिक हितग्राही लोक अदालत के माध्यम से प्रकरणों का निराकरण करायें : जिला न्यायाधीश || नि:शुल्क परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण हेतु अजा/अजजा उम्मीदवारों से आवेदन 25 जून तक आमंत्रित || नशीले पदार्थों के दुरूपयोग और अवैध व्यापार के विरूद्ध अंतर्राष्ट्रीय दिवस 26 जून को || कमिश्नर श्री दुबे 28 जून को पलेरा आयेंगे || मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा के तहत जगन्नाथपुरी यात्रा 29 को || समाज में झूठ, भ्रम, निराशा फैलाने वालों की कोई जगह नहीं - प्रधानमंत्री श्री मोदी || सीपी ग्राम पोर्टल पर शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया में संशोधन हुआ || प्रदेश में योग स्वास्थ्य केन्द्र योजना का शुभारंभ
अन्य ख़बरें
उज्जवला योजना सफल बनाने अप्रैल, मई में चलाया जाएगा अभियान - मुख्यमंत्री श्री चौहान
मध्यप्रदेश कल्याणकारी कार्यक्रमों के सफल क्रियान्वयन की प्रयोगशाला - केन्द्रीय मंत्री श्री प्रधान
मन्दसौर | 13-मार्च-2018
 
 
    मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश में उज्जवला योजना को सफल बनाने के लिये आगामी अप्रैल और मई माह में अभियान चलाया जायेगा। इस दौरान गरीबों को आवास और अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के साथ ही उज्जवला योजना के गैस कनेक्शन भी प्राथमिकता के साथ दिये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने आज मंत्रालय में केन्द्रीय मंत्री, पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस, कौशल विकास और उद्यमिता विभाग श्री धर्मेन्द्र प्रधान के विशेष आतिथ्य में सम्पन्न उज्जवला योजना और कौशल उन्नयन कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी।
    श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में करीब डेढ़ करोड़ असंगठित श्रमिकों के कल्याण की एकीकृत क्रियान्वयन योजना पर कार्रवाई की गई है। इसके अंतर्गत एक लाख अकुशल श्रमिकों को कुशल बनाने का कार्य किया जायेगा। तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास और रोजगार के एकीकृत प्रयासों के लिये युवा सशक्तिकरण मिशन गठित किया गया है। इस मिशन के अंतर्गत हर वर्ष साढ़े सात लाख युवाओं का कौशल विकास करेंगे और इतने ही युवाओं को रोजगार और स्वरोजगार से जोड़ा जायेगा।
    इस मौके पर जानकारी दी गई कि राज्य के हर जिले में प्रत्येक तीन माह में रोजगार, स्वरोजगार और कौशल विकास सम्मेलन आयोजित होते हैं। रोजगारोन्मुखी शिक्षा के प्रसार के लिये ष्चलें आईटीआईष् अभियान चलाया जा रहा है। उद्योग और आईटीआई के बीच सेतु का निर्माण फ्लेक्सी एम.ओ.यू. योजना में किया गया है। दिव्यांगों को स्वरोजगार तथा रोजगार उपलब्ध कराने के लिये सात आईटीआई में विभिन्न ट्रेडों का प्रशिक्षण प्रारंभ किया गया है। आईटीआई की सेमेस्टर परीक्षा ऑनलाइन होती है।
    केन्द्रीय मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान ने गरीबों के लिये मध्यप्रदेश में संचालित कल्याण कार्यक्रमों की सराहना करते हुए  कहा कि देश में अंत्योदय की अवधारणा  को साकार करने के सफल प्रयोगों की प्रयोगशाला मध्यप्रदेश है। उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना का संचालन सार्वजनिक वितरण प्रणाली के समान किया जाये। दुर्गम क्षेत्रों में सिलेंडर वितरण के लिये भी स्थानीय स्तर पर नीति निर्धारण कर सकते हैं। आवश्यकता होने पर नई एजेंसी खोलने की अनुमति देने पर भी विचार किया जा सकता है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि उचित मूल्य दुकान और ग्राम पंचायत में उज्जवला योजना क्रियान्वयन का बुनियादी ढांचा बनाया जाये। उन्होंने बताया कि भोपाल में पाईप लाइन से गैस वितरण का कार्य शीघ्र ही प्रारंभ होगा। श्री प्रधान ने अकुशल श्रमिकों को कुशल बनाने में केन्द्र सरकार से राशि सहयोग और प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना में अपरेंटिसशिप के लिये प्रस्ताव शीघ्र भेजने को कहा। केन्द्रीय मंत्री ने प्रदेश में कौशल विश्वविद्यालय की स्थापना की जरूरत बतायी।
    बैठक में मुख्य सचिव श्री बी.पी. सिंह, प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा कौशल विकास श्री संजय बंधोपाध्याय, प्रमुख सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति श्रीमती नीलम शमी राव, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव द्वय श्री अशोक वर्णवाल, श्री विवेक अग्रवाल और खाद्य एवं आपूर्ति आयुक्त श्री विवेक पोरवाल सहित पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस, कौशल विकास और उद्यमिता विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।
 
(102 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2018जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer