समाचार
|| प्रदेश के पर्यटन, कला व परिवेश पर आधारित होगी क्विज प्रतियोगिता || नर्मदा किनारे के सभी गांवों में नालों की सफाई सुनिश्चित करायें - कलेक्टर || रोजगार निर्माण अब मोबाईल में एक क्लिक पर || कलेक्टर एक्सप्रेस में प्राप्त आवेदनों का तत्परता से निराकरण करें अधिकारी - कलेक्टर || राज्यपाल श्रीमती आनंदी बेन पटेल ने सूर्य नमस्कार स्थल का अवलोकन किया || राष्ट्रीय कृषि विस्तार प्रबंधन संस्थान (मैनेज) द्वारा एसीएबीसी प्रशिक्षण हेतु कृषि विषय के युवाओं से आवेदन आमंत्रित || राज्यपाल का दो दिवसीय खरगोन भ्रमण || कलेक्टर सिंह ने 25 हजार रूपये की आर्थिक सहायता की स्वीकृत || बेसहारा बच्चों का सहारा बनी फॉस्टर केयर योजना "सफलता की कहानी" || रोजगार निर्माण अब मोबाईल में एक क्लिक पर
अन्य ख़बरें
जनजातीय कार्य और अनुसूचित जाति कल्याण विभाग की योजनाएँ होंगी कम्प्यूटरीकृत
-
सतना | 15-मई-2018
 
   जनजातीय कार्य एवं अनुसूचित जाति कल्याण विभाग की सभी योजनाओं और प्रक्रियाओं को कम्प्यूटरीकृत कर ऑनलाइन एक प्लेटफार्म पर लाया जा रहा है। इसका शुभारंभ जनजातीय कार्य और अनुसूचित जाति कल्याण राज्य मंत्री श्री लालसिंह आर्य 15 मई को मंत्रालय में अपने कक्ष से करेंगे। इससे कम समय में लोगों को योजनाओं का लाभ मिलेगा। योजनाओं की मॉनिटरिंग हो सकेगी और योजनाओं के संचालन में पारदर्शिता के साथ गुणवत्ता पूर्ण काम किया जा सकेगा। परियोजना के लिये 18 करोड़ से ज्यादा की राशि स्वीकृत है। निकट भविष्य में निर्माणाधीन नये साफ्टवेयर के माध्यम से विभाग की योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिये सभी हितग्राहियों को स्वयं का प्रोफाइल पंजीयन करवाना होगा। यह पंजीयन हितग्राही द्वारा स्वयं, इन्टरनेट कियोस्क जैसे एम.पी.ऑनलाइन, लोकसेवा केन्द्र, नागरिक सुविधा केन्द्र अथवा विभागीय अधिकारियों के माध्यम से किया जा सकेगा। वर्तमान में योजनाओं का लाभ प्राप्त कर रहे हितग्राहियों का एक बार पंजीयन निश्चित समय-सीमा में करवाया जाना है।
क्रियान्वयन का माध्यम एवं प्रक्रिया
   परियोजना का क्रियान्वयन विभिन्न घटक में किया जा रहा है। सभी विभागीय योजनाओं, संबंधित मॉड्यूल एवं प्रक्रियाओं के कम्प्यूटरीकरण के लिये To&Be, FRS एवं  SRS दस्तावेज पीएमयू टीम द्वारा तैयार किया जाता है। To&Be, FRS एवं  SRS दस्तावेजों के आधार पर सभी योजनाओं, संबंधित मॉड्यूल और प्रक्रियाओं के ऑनलाइन एप्लीकेशन का निर्माण पीआईयू द्वारा किया जा रहा है। योजनाओं, संबंधित मॉड्यूल और प्रक्रियाओं की सरलता के लिये प्रदेश में प्रचलित अन्य विभागों के सफल एवं उपयोगी एप्लीकेशन जैसे ई-डिस्ट्रिक्ट, समग्र, SRDH, NPCI, माध्यमिक शिक्षा मंडल, IFMIS, HRMIS, CCTNS इत्यादि के साथ भी इंटीग्रेशन किया जा रहा है। एप्लीकेशन के निर्माण के बाद सिक्यूरिटी ऑडिट भी करवाया जायेगा। एप्लीकेशन के उपयोग के लिये स्टेट डाटा सेन्टर में हार्डवेयर स्थापित किये जाएंगे। विभाग के सभी कार्यालयों, स्कूल और छात्रावासों में एप्लीकेशन के उपयोग के लिये उपयोगी हार्डवेयर भी उपलब्ध करवाये जाएंगे।
परियोजना की प्रगति
   वर्तमान में परियोजना की गतिविधियों का कार्य प्रचलन में है। विभाग की नई वेबसाइट <www.tribal.mp.gov.in> का निर्माण कर उपयोग किया जा रहा है। ऑनलाइन एप्लीकेशन के निर्माण के लिये 32 योजनाओं/ मॉड्यूल के To&Be, FRS एवं  SRS दस्तावेज तैयार किये जा चुके हैं। प्रमुख मॉड्यूल प्रोफाइल पंजीयन का निर्माण किया जा चुका है। प्रतिभा योजना, यूपीएससी कोचिंग योजना की ऑनलाइन एप्लीकेशन का निर्माण अंतिम स्तर पर है। परियोजना में प्रमुख योजना/ मॉड्यूल जैसे पोस्ट-मेट्रिक छात्रवृत्ति, हॉस्टल प्रबंधन प्रणाली, छात्रों को प्रोत्साहन, जीआईएस, स्कूल प्रबंधन प्रणाली, आहार अनुदान योजना, मेधावी विदेशन अध्ययन योजना, विज्ञान एवं सामयिक विषयों में प्रवेश पर प्रोत्साहन, गणवेश प्रदाय इत्यादि के ऑनलाइन एप्लीकेशन निर्माणाधीन है।

(62 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer