समाचार
|| अटल जी के सम्मान में 7 दिवसीय राजकीय शोक घोषित || प्रदेश के 4 जिलों में सामान्य से अधिक, 37 में सामान्य वर्षा दर्ज || स्वतंत्रता आंदोलन पर राज्य संग्रहालय में प्रदर्शनी || रिटर्निंग ऑफिसर एवं सहायक रिटर्निंग ऑफिसर की 18 अगस्त को 5 केन्द्रों पर परीक्षा || कीट रोग नियंत्रण के लिये राज्य-स्तरीय कंट्रोल-रूम || प्रदेश में धूमधाम से मनाया गया 72वाँ स्वतंत्रता दिवस || पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न श्री वाजपेयी के निधन से देश को हुई अपूरणीय क्षति || म.प्र नाबालिग से दुष्कर्म पर फांसी का प्रावधान करने वाला प्रथम राज्य -राज्यपाल || मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना आय सीमा 8 लाख रुपये हुई || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रवाना किये भोपाल जिले के विकास यात्रा रथ
अन्य ख़बरें
दिया ग्रुप के सदस्यों ने चलाया जलशुद्धि अभियान, नदी तालाबों को संजोए रखने कर रहे घाटों की सफाई
घाटों की सफाई कर सदस्यों ने निकाला दो ट्रॉली कचरा
टीकमगढ़ | 17-मई-2018
 
 
    जन अभियान परिषद के सदस्यों, स्वयंसेवी संगठनों सहित अखिल विश्व गायत्री परिवार के युवा प्रकोष्ठ दिया ग्रुप के सदस्यों द्वारा नदी-तालाबों की घाटों का सफाई अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में इनके द्वारा भगवान भोलेनाथ की नगरी कुंडेश्वर धाम पहुंचकर जमड़ार नदी के घाटों की सफाई की गई। सदस्यों ने संकल्प लिया कि श्रमदान करके स्वच्छता का संकल्प लेकर यह कार्य किया जा रहा है। नदी-तालाबों का जल स्वच्छ रखने के लिए लोगों को प्रेरित कर रहे है।
       भगवान कुंडेश्वर का आंचल जीवनदायिनी जमड़ार नदी जलशुद्धि अभियान के तहत अखिल विश्व गायत्री परिवार के युवा प्रकोष्ठ दिया ग्रुप के सदस्यों द्वारा घाटों की सफाई की गई। इस अभियान में छोटे-छोटे बच्चों सहित महिला एवं पुरुषों ने सामूहिक रूप से भागीदारी की । जमड़ार तट पर एकत्रित कचरा, डिस्पोजेबल सहित लगभग 2 ट्राली कचरा निकाला गया। सुबह से बढ़ती तेज धूप में भी ग्रुप के सदस्य उत्साह के साथ अपना श्रमदान करके घाटों की सफाई करते रहे। घाटों पर लंबे समय जमी मिट्टी को निकाला। अभियान में गायत्री परिवार के सदस्यों के साथ अन्य स्वयंसेवी संगठन और कुंडेश्वर मंदिर में दर्शन करने आए साधकों ने भी घाटों की सफाई में सहयोग किया।
जल स्रोतों के पास करेंगे वृक्षारोपण
       अखिल विश्व गायत्री परिवार के युवा प्रकोष्ठ दिया ग्रुप के सदस्य योग रंजन ने बताया इस अभियान के साथ जिले के सभी प्रमुख जल स्रोतों के तटों पर वृहद वृक्षारोपण किए जाएंगे। आगामी दिनों में कार्यक्रम के दौरान लोगों को वृक्षारोपण करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में हो रहे इन प्रत्येक अभियान से बड़ी संख्या में लोगो को जोड़ने के प्रयास कर रहे है।
नदी-तालाबों में नहीं डालें कचरा
       घाटों की सफाई कर रहे दिया ग्रुप के सदस्य लोगों को प्रेरित कर रहे है कि धरोहरों के रूप नदी तालाबों को संजोए रखना है तो कचरे की सामग्री पानी में नहीं डाले। कचरा पानी तबदील होने से पवित्र जल अशुद्धित होने लगता है। और हम इसके ऋणी हो जाते है। इसके लिए हमें कचरा सही स्थान पर डालकर स्वच्छ बनाना होगा। तभी नदी-तालाब बचे रहेंगे। गायत्री परिवार के मुख्य प्रबंध ट्रस्टी दिलीप कटारे ने बताया कि जमड़ार नदी कुंडेश्वर धाम के साथ टीकमगढ़ की सांस्कृतिक पहचान है। इसे स्वच्छ व निर्मल रखना हम सबका नैतिक दायित्व है। इसके लिए सफाई के साथ-साथ जन जागरण आवश्यक है।
 
(92 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2018सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer