समाचार
|| भारी बारिश की चेतावनी || जिले में चलाया जा रहा है मतदाता जागरूकता अभियान || विधानसभा चुनाव के संबंध में मास्टर ट्रेनर्स को दिया गया प्रशिक्षण || लोक निर्माण मंत्री ने 6 करोड़ 22 लाख रूपए की लागत के सड़क मार्ग का किया भूमिपूजन || प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत गुलाब बाई को मिला गैस कनेक्शन (सफलता की कहानी) || ग्राम स्वराज अभियान में राजगढ को राष्ट्रीय पुरूस्कार || सुदृढ़ सूचना तंत्र से निर्वाचन व्यवस्था सुगम बनायें || छात्रावासों के विद्यार्थियों के लिए खाद्यान्न आवंटित || प्रदेश में मद्य निषेध सप्ताह 2 से 8 अक्टूबर तक || अनजान व्यक्ति की फ्रेंड रिक्वेस्ट कभी भी स्वीकार नहीं करें
अन्य ख़बरें
47 शिक्षकों को जारी किया शौकॉज नोटिस
सहायक आयुक्त और अमले द्वारा निरीक्षण में पकड़ी गंभीर लापरवाही
खरगौन | 12-जुलाई-2018
 
       जनजातीय कार्य विभाग की सहायक आयुक्त श्रीमती शकुंतला डामोर द्वारा लगातार दो दिनों तक स्कूलों व छात्रावासों का निरीक्षण किया गया। नवीन सत्र में प्रारंभ हुए शैक्षणिक गुणवत्ता को सुधारने के लिए अमले द्वारा भी लगातार निरीक्षण किया जा रहा है। श्रीमती डामोर ने जानकारी देते हुए बताया कि उनके द्वारा 7 और 11 जुलाई को खरगोन के आसपास की स्कूलों का औचक निरीक्षण किया गया। इस दौरान उन्होंने 11 स्कूलों में घोर अनियमितता देखी गई। इसके लिए 47 शिक्षकों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किए गए है। साथ ही बीआरसी और जनशिक्षकों पर अनुशासनात्मक कार्यवाही प्रस्तावित की गई। श्रीमती डामोर ने बताया कि कई स्कूलों में कक्षा चौथी के छात्रों को हिंदी भी पढ़ते नहीं आई।
18 माह से गायब शिक्षक पर होगी विभागीय जांच
        सहायक आयुक्त श्रीमती डामोर ने बताया कि रहिमपुरा प्राथमिक विद्यालय के सहायक शिक्षक किशोर गांगले 18 महिने से बिना सूचना के अनुपस्थित पाए गए है। उन पर विभागीय जांच के उपरांत सेवा समाप्ति की कार्यवाही प्रस्तावित की गई है। इसी तरह प्राथमिक विद्यालय भमोरी खुर्द के सहायक शिक्षक संतोष सांवले को तत्काल प्रभाव से निंलबित किया गया। निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय भगवानपुरा बीओ कार्यालय निर्धारित किया गया है।
बीआरसी व जनशिक्षकों पर की गई कार्यवाही
      सहायक आयुक्त व अमले द्वारा किए गए औचक निरीक्षणों में खरगोन बीआरसी श्री मुरलीधर महाजन और गोगांवा बीआरसी मेहबुब खान को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए है। इसी तरह गोगांवा के जनशिक्षकों में दुष्यंत सोलंकी, केदार चौहान और देवराम बर्डे को भी कारण बताओ सूचना पत्र जारी किए गए है। निरीक्षण के दौरान स्कूलों में छात्रों की दर्ज संख्या के मान से बहुत कम पाई गई एवं स्कूल परिसरों में गंदगी सहित पाठ्य पुस्तकों का वितरण भी नहीं किया गया। साथ ही बेसलाईन टेस्ट की समीक्षा में शैक्षणिक स्तर निराशाजनक पाए जाने पर बीआरसी व जनशिक्षकों पर कार्यवाही की गई। घुघरियाखेड़ी, बड़गांव व गोपालपुरा की प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालया का औचक निरीक्षण कर लापरवाही देखी गई।
(72 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2018अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer