समाचार
|| शासन की योजनाओं का ठीक ढंग से हो क्रियान्वयन जिससे जनता को मिले ज्यादा से ज्यादा लाभ - मंत्री श्री सिंह || नेशनल लोक अदालत में मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा प्रकरणों का राजीनामा से निराकरण करने के लिये प्री-सिटिंग बैठकों का आयोजन आज और 20 जून को || खरीफ 2018 में वितरित अल्पकालीन फसल ऋण की देय तिथि में वृद्धि || चौरई में कानूनी साक्षरता शिविर संपन्न || नगर पालिका भिण्ड क्षेत्र अंतर्गत 197.18 करोड़ की लागत से बनने वाली वित्तपोषित पेयजल योजना का मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने किया भूमिपूजन || प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत पात्र कृषक परिवारों की सूची पी.एम.-किसान पोर्टल पर अपलोड करने के निर्देश || जिले में 16 जून से 15 अगस्त तक मत्स्याखेट, मत्स्य विक्रय और परिवहन प्रतिबंधित || निर्वाचन संबंधी ईआरओ नेट पोर्टल पुनः प्रारंभ || विद्युत बिल जमा करने की एटीपी मशीन अब जय स्तंभ पार्क के पास || जिला पंचायत की सामान्य सभा एवं सामान्य प्रशासन समिति की बैठक 21 को
अन्य ख़बरें
राजनैतिक दल आदर्श आचरण संहिता का अक्षरशः पालन करें - जिला निर्वाचन अधिकारी
-
अशोकनगर | 06-अक्तूबर-2018
 
   कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ.मंजू शर्मा की अध्यक्षता में शनिवार को संपन्न हुई राजनैतिक दलों की स्‍टेंडिंग कमेटी की बैठक्‍में बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विधानसभा आम निर्वाचन 2018 हेतु अधिसूचना जारी कर दी गई है। निर्वाचन कार्यक्रम के अनुसार नाम निर्देशन पत्र 2 नवंबर से 9 नवंबर 2018 तक प्राप्त किए जायेगे। नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा 12 नवंबर 2018 को की जाएगी। अभ्यर्थी अपनी अभ्यर्थिता 14 नवंबर 2018 तक वापस ले सकेंगे। मतदान 28 नवंबर को संपन्न होगा तथा मतगणना 11 दिसंबर 2018 को की जायेगी।  
   जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ.मंजू शर्मा ने बताया कि आदर्श आचरण संहिता का समस्त राजनैतिक दल अक्षरश:पालन करेंगे, जिससे स्वतंत्र व निष्पक्ष निर्वाचन सम्‍पन्‍न कराया जा सके। उन्होने बताया कि किसी दल या अभ्यर्थी को कोई ऐसे कार्य नही करना चाहिए जो विभिन्न जातियों, धार्मिक या भाषायी समुदायों के बीच विद्यमान मतभेतों को बढ़ायें। मत प्राप्त करने के लिये जातीय, सामुदायिक भावनाओं की दुहाई नहीं देनी चाहिए। सभी दलों व अभ्यर्थियों को ऐसे सभी कार्यों से ईमानदारी से बचना चाहिए जो निर्वाचन विधि के अधीन भ्रष्ट आचरण और अपराध की श्रेणी में आता है।
    उन्‍होंने बताया कि जिले में कुल 05 लाख 42 हजार 992 मतदाता है। जिसमें 02 लाख 89 हजार 400 पुरूष मतदाता एवं 02 लाख 53 हजार 581 महिला मतदाता त‍था 11 अन्‍य मतदाता शामिल है। विधानसभा क्षेत्र 32 अशोकनगर में कुल 01 लाख 85 हजार 879 मतदाता हैं। जिसमें 98 हजार 504 पुरूष एवं 87 हजार 369 महिला मतदाता तथा 06 अन्‍य मतदाता शामिल है। इसी प्रकार विधानसभा क्षेत्र 33 चंदेरी में कुल 01 लाख 72 हजार 615 मतदाता हैं। जिसमें 91 हजार 814 पुरूष एवं 80 हजार 798 महिला मतदाता तथा 03 अन्‍य मतदाता शामिल है। विधानसभा क्षेत्र 34 मुंगावली में कुल 01 लाख 84 हजार 498 मतदाता हैं। जिसमें 99 हजार 82 पुरूष एवं 85 हजार 414 महिला मतदाता तथा 02 अन्‍य मतदाता शामिल है।
     उन्‍होंने कहा कि कोई भी राजनैतिक दल या अभ्यर्थी किसी व्यक्ति को झण्डा खड़ा करने, बैनर लगाने, सूचनायें चिपकाने, नारे लिखने आदि के लिए जबरजस्ती मजबूर न करें, इसके लिये उस व्यक्ति की सहमति आवश्यक है, जिसके भूमि, अहाते या घर में उनके द्वारा उक्त कार्य कराया जायेगा। उन्होने कहा कि सभी राजनैतिक दल व उनके अभ्यर्थी यह सुनिष्चित कर लें कि दूसरे दल के जुलूस व सभाओं में विघ्न, व्यवधान पैदा नही करें तथा जुलूस, सभा आदि के लिये सक्षम अधिकारी की अनुमति अवश्य प्राप्त करें।
   उन्होने कहा कि राजनैतिक दल सभा या जुलूस के पहले यह सुनिश्चित कर लें कि जिस स्थान पर वे सभा कर रहे हैं, वहां कोई निर्बन्धात्मक या प्रतिबंधात्मक निषेधाज्ञा लागू तो नहीं है। ऐसा आदेश यदि लागू है तो उसका कड़ाई से पालन करें।
   जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि सभी राजनैतिक दलों व अभ्यर्थियों को चाहिए कि यह सुनिश्चित करें कि मतदान शांतिपूर्ण व सुव्यवस्थित तरीके से हो। अपने प्राधिकृत कार्यकर्ताओं को बिल्ले या पहचान पत्र दें, मतदान के दिन और उसके पूर्व 24 घण्टों के दौरान किसी को शराब पेश या वितरित न करें। मतदाताओं के सिवाय कोई भी व्यक्ति निर्वाचन आयोग द्वारा दिये गये विधिमान्य पास के बिना मतदान केन्द्रों में प्रवेश नहीं करेगा।
     जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि निर्वाचन आयोग प्रेक्षक नियुक्त कर रहा है, यदि निर्वाचन के संचालन के संबंध में अभ्यर्थियों या उनके अभिकर्ताओं को कोई विशिष्ट शिकायत या समस्या हो तो उसकी सूचना प्रेक्षक को दे सकते हैं। उन्होने कहा कि यदि किसी भी राजनैतिक दल या अभ्यर्थियों को जुलूस, सभा आदि की अनुमति प्राप्त करना है तो संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) से प्राप्त कर सकते हैं।
     जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा सुगम साप्टवेयर विकसित किया गया है जिसके माध्यम से अभ्यर्थी या राजनैतिक दल आनलाइन विभिन्न अनुमतियां सक्षम अधिकारी से प्राप्त कर सकेगे, इसके लिए उन्हें 72 से 48 घंटे के पूर्व आवेदन करना होगा, इसके अतिरिक्त आफलाइन आवेदन भी कर सकते है। संबंधित अधिकारी पहले आओ पहले पाओं प्राथमिकता के आधार पर यह अनुमतियां जारी करेंगे।इसके अतिरिक्त सी बिजिल साप्टवेयर के माध्यम से कोई भी व्यक्ति निर्वाचन संबंधी शिकायते फोटो एवं वीडियों के साथ कर सकता है लेकिन यह फोटो एवं वीडियो पांच मिनट के अंदर अपलोड होना आवश्यक है।  साथ ही टोल फ्री नंबर 1950 में भी निर्वाचन संबंधी शिकायते दर्ज कराई जा सकती है।
      पुलिस अधीक्षक श्री सुनील कुमार जैन ने बताया कि निर्वाचन के लिए पर्याप्‍त पुलिस बल की व्‍यवस्‍था की जायेगी। उन्‍होंने कहा कि जुलूस का आयोजन करने वाले दल या अभ्यर्थी को पहले ही यह बात तय करनी होगी, कि जुलूस किस स्थान से शुरू होगा और किस मार्ग से होकर जायेगा। कार्यक्रम में कोई फेरबदल नहीं होना चाहिए, आयोजनों को कार्यक्रम के बारे में स्थानीय पुलिस अधिकारियों को अग्रिम सूचना देना आवश्यक होगा।
      इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री सुनील कुमार जैन, अपर कलेक्‍टर डॉ.अनुज रोहतगी, संयुक्‍त कलेक्‍टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री भूपेन्‍द्र गोयल, अतिरिक्‍त मुख्‍य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री विशाल सिंह, समस्‍त रिटर्निंग एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारी एवं राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
(254 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2019जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer