समाचार
|| मतगणना के लिए किए गए हैं पुख्ता सुरक्षा इंतजाम || डिस्प्ले बोर्ड पर परिणाम प्रदर्शित करने के बाद ही प्रारंभ होगी अगले राउण्ड की गिनती || मीडिया प्रतिनिधी, मीडिया सेंटर तक ले जा सकेंगे मोबाइल, लैपटॉप || कमिश्नर डॉ. भार्गव ने गेहूँ उपार्जन केंद्रों का किया आकस्मिक निरीक्षण || मतगणना के लिए सभी तैयारियां पूर्ण || उपार्जन केन्द्रों का निरीक्षण कर कलेक्टर ने देखी व्यवस्थायें || मतगणना कार्य का मॉकड्रिल सम्पन्न, जिला निर्वाचन अधिकारी ने लिया जायजा || सिमी पर लगे प्रतिबंध को लेकर ट्रिब्यूनल करेगा 26 एवं 27 को जबलपुर में सुनवाई || मतगणना पश्चात ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपीएटी की सीलिंग || वेतन निर्धारण प्रकरणों का अनुमोदन शत-प्रतिशत कराने के निर्देश
अन्य ख़बरें
मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों की बैठक सम्पन्न
-
सागर | 11-मार्च-2019
 
   लोकसभा निर्वाचन 2019 की तैयारियों को लेकर मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों की बैठक सोमवार को सुबह 11 बजे से कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती प्रीति मैथिल नायक की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों से श्री संदीप सबलोक, श्री कमलेश बघेल, श्री रामेश्वर नामदेव, श्री चन्द्रकुमार कामरेड, श्री रामचरण लम्बरदार, श्री मूरत सिंह यादव सहित पुलिस अधीक्षक श्री अमित सांघी, नगर निगम आयुक्त श्री अनुराग वर्मा, जिला पंचायत सीईओ श्री चन्द्रशेखर शुक्ला, सिंटी मजिस्ट्रेट श्री राजेन्द्र सिंह मौजूद थे।
   बैठक में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती मैथिल ने अवगत कराया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लोकसभा निर्वाचन-2019 की घोषणा कर दी गई है। लोकसभा निर्वाचन की घोषणा के साथ ही जिले में आदर्श आचरण संहिता तत्काल प्रभावशील हो गई है। जारी कार्यक्रम के अनुसार लोकसभा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के लिए 16 अप्रेल 2019 से नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया प्रांरभ हो जायेगी। नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की अंतिम तिथि 23 अप्रैल होगी। नाम निर्देशन पत्रों की समीक्षा 24 अप्रैल, नाम निर्देशन पत्रों की वापिसी 26 अप्रैल, मतदान 12 मई तथा मतगणना 23 मई 2019 को होगी।   
   कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती मैथिल ने कहा कि सभी राजनैतिक दल आदर्श आचरण संहिता का कड़ाई से अक्षरश पालन सुनिश्चित करें।  भारत निर्वाचन आयोग द्वारा सुविधा, समाधान, सी-विजिल पोर्टल बनाए गए है। राजनैतिक दलों तथा अभ्यर्थियों को समस्त प्रकार की अनुमतियॉं ‘‘सुविधा पोर्टल’’ के माध्यम से दी जावेगी। अभ्यर्थी अथवा राजनैतिक दलों को सुविधा पोर्टल पर विभिन्न प्रकार की अनुमतियां जैसे- रैली, सभा, वाहन उपयोग की अनुमति, लाउडस्पीकर उपयोग करने की अनुमति के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।
   उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश कोलाहल नियंत्रण अधिनियम 1985 के प्रावधानों के तहत प्रातः 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग किया जा सकेंगा। सुगम पोर्टल के माध्यम से निर्वाचन में लगने वाले समस्त प्रकार के वाहनों का प्रबंधन किया जावेगा। निर्वाचन संबंधी विभिन्न माध्यमों यथा- काल सेन्टर, फैक्स, ई-मेल, डाक पत्र, मोबाईल एप, निर्वाचन आयोग का शिकायत निवारण पोर्टल आदि पर प्राप्त होने वाली समस्त प्रकार की शिकायते समाधान पोर्टल पर ही दर्ज होगी और इनका ऑनलाईन ही निराकरण पोर्टल पर दर्ज किया जावेगा।
   निर्वाचन आयोग द्वारा आम नागरिकों की निर्वाचन में अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका को दृष्टिगत रखते हुए नागरिकों द्वारा आदर्श आचरण संहिता के उल्लंघन की निगरानी और शिकायत के लिए सी-विजिल मोबाइल एप्लीकेशन बनवाई गई है। सी-विजिल द्वारा नागरिक किसी भी अवैध गतिविधि की शिकायत कर सकेंगे। सी-विजिल में रियल टाइम पर फोटो और वीडियो केप्चर की सुविधा दी गई है। सी-विजिल एंड्राइड यूजर्स के लिए उपलब्ध रहेगी। सी-विजिल पर प्राप्त शिकायतों का 100 मिनट के टाइम फ्रेंम में निराकरण किया जावेगा।
   पुलिस अधीक्षक श्री सांघी ने बताया कि प्रत्याषी को अपने सोशल मीडिया एकाउन्ट की जानकारी एफीडेविट में देनी होगी। जिलों की सीमाओं पर सी.सी.टी.वी. कैमरे भी लगाए जायेंगे। जिले में सभी शस्त्र लायसेंस निलंबित कर दिए गए है। सभी शस्त्र पुलिस थानों में जमा किए जावेंगे।
 
(73 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2019जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer