समाचार
|| अंतिम दिन तक भरे गए 25 व्यक्तियों द्वारा नाम निर्देशन पत्र || लोकसभा क्षेत्र टीकमगढ़ के लिए 20 अप्रैल को की जायेगी नामनिर्देशन पत्रों की संवीक्षा || मास्टर ट्रेनर्स का एक दिवसीय उन्मुखीकरण आज || टीकमगढ़ संसदीय क्षेत्र में आज 13 अभ्यर्थियों ने नाम निर्देशन पत्र जमा किये || अतिरिक्त बैलेट यूनिटों को स्ट्राँग रूम में रखा गया || सेक्टर एवं पुलिस अधिकारियों की संयुक्त बैठक सम्पन्न || एमएलबी में ईव्हीएम की कमीशनिंग आज से || नोडल अधिकारी अपना कार्य पूरी ईमानदारी, निष्ठा, सजगता एवं समन्वय के साथ करें कार्य - व्‍यय प्रेक्षक श्री तिवारी || पीठासीन अधिकारी को समस्‍या आने पर सहायता करने आवश्‍यक जानकारी रखें सेक्‍टर आफीसर - जिला निर्वाचन अधिकारी || नये वोटर आई.डी. कार्ड का 30 अप्रैल तक करायें वितरण
अन्य ख़बरें
निर्वाचन प्रक्रिया में सेक्टर मजिस्ट्रेटो की अहम भूमिका है- कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी
प्रशिक्षण में सेक्टर मजिस्ट्रेटो को मतदान प्रक्रिया की विस्तार से दी जानकारी
शिवपुरी | 02-अप्रैल-2019
 
   
  
  कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती अनुग्रहा पी ने सेक्टर मजिस्ट्रेटो के प्रशिक्षण को संबोधित करते हुए कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया में सेक्टर मजिस्ट्रेटो की अहम् भूमिका है, सेक्टर मजिस्ट्रेट प्रशिक्षण को पूरी गंभीरता और पूरी सजगता के साथ प्रशिक्षण प्राप्त करें, प्रशिक्षण में किसी भी प्रकार की शंका होने पर प्रशिक्षण के दौरान ही उनका निराकरण कराए। मतदान के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या आने पर संबंधित मतदान दल के सदस्यों के साथ-साथ सेक्टर मजिस्ट्रेट के विरूद्ध भी कार्यवाही की जाएगी।
    कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने उक्त आशय के निर्देश आज जिला पंचायत कार्यालय पोहरी रोड शिवपुरी में करैरा एवं पोहरी विधानसभा क्षेत्रों के सेक्टर मजिस्ट्रेटो के प्रशिक्षण कार्यक्रम में दिए। इस दौरान अपर कलेक्टर श्री आर.एस.बालोदिया एवं मास्टर ट्रेनर्स के रूप में श्री ए.पी.गुप्ता विशेष रूप से उपस्थित थे।
    कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया में सेक्टर मजिस्ट्रेटो की अहम भूमिका है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक सेक्टर मजिस्ट्रेट के अधीन एक से लेकर 10 तक मतदान केन्द्र रहेंगे। सभी सेक्टर ऑफिसर अपने मतदान केन्द्रों का एक बार भ्रमण कर मतदान केन्द्रों पर उपलब्ध कराई जाने वाली मूलभूत सुविधाए भी सुनिश्चित करें।
सेक्टर मजिस्ट्रेट सेक्टर के किसी एक मतदान केन्द्र पर रात्रि विश्राम करेंगे
    कलेक्टर ने निर्देश दिए कि सभी सेक्टर मजिस्ट्रेटो को उनके सेक्टर के अधीन आने वाले किसी भी मतदान केन्द्र पर 11 मई को रात्रि विश्राम करना होगा। जिससे 12 मई को सुबह वे प्रत्येक मतदान केन्द्र पर पहुंचकर समय पर मोकपोल आदि की जानकारी ले सके। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिए कि मतदान केन्द्रों पर रात्रि विश्राम न करने वाले सेक्टर मजिस्ट्रेटो के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने सेक्टर मजिस्ट्रेटो को निर्देश दिए कि उनके सेक्टर के अंदर किसी भी प्रकार की कानून व्यवस्था की स्थिति निर्मित होने पर तत्काल संबंधित क्षेत्र के अनुविभागीय दण्डाधिकारी को अवगत कराए। उन्होंने बताया कि प्रत्येक सेक्टर मजिस्ट्रेट के वाहन में जीपीएस व्यवस्था की गई है। जिसका नियंत्रण निर्वाचन आयोग द्वारा किया जाएगा।
    प्रशिक्षण के दौरान उन्होंने बताया कि मतदान के दौरान ऐसी ईव्हीएम मशीने जिसमें पोलिंग हुआ है, लेकिन वे किसी कारण से बंद हो गई है। उन मशीनों को मतदान दल के सदस्य मतगणना स्थल पर बनाए गए स्टांग रूम में जमा कराएंगे। जबकि ऐसी रिजर्व मशीने जिनमें एक भी मत भी नहीं डाला गया है। उन्हें पोलिटेक्निक महाविद्यालय में बनाए गए स्टांग रूम में सुरक्षित रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि उनके सेक्टर के तहत अगर किसी मतदान केन्द्र की ईव्हीएम मशीन करणवश बंद हो जाती है, तो उसे आधा घण्टे के अंदर बदलने की कार्यवाही भी सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने बताया कि अपने सेक्टर के अंदर आने वाले मतदान दल के सदस्यों को मतदान उपरांत क्लोज बटन दवाने की जानकारी अवश्य दें।
    अपर कलेक्टर श्री आर.एस.बालोदिया ने प्रशिक्षण को संबोधित करते हुए कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान छोटी से चूक या भूल बड़ी समस्या उत्पन्न कर सकती है। मतदान दल के सदस्य पूरी गंभीरता और आत्म विश्वास के साथ मतदान सम्पन्न कराए और पीठासीन की डायरी और मतपत्र लेखा बनाते समय एवं ईव्हीएम मशीन एवं वीवीपेट को जोड़ने वक्त विशेष सर्तकता एवं सावधानी भी बरतें। उन्होंने कहा कि सेक्टर मजिस्ट्रेट मतदान सामग्री वितरण के दौरान एवं मतदान सामग्री प्राप्ति के दौरान भी अपने सेक्टर के दलों के साथ आवश्यक रूप से उपस्थित रहे। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण में आए सभी सेक्टर अधिकारी ईव्हीएम मशीन एवं वीवीपेट की प्रक्रिया का संचालन करें।
    मास्टर ट्रेनर्स के रूप में श्री ए.पी.गुप्ता ने सेक्टर अधिकारियों को मतदान दल के सदस्य के रूप में मतदान अधिकारी क्रमांक-1, 2 एवं 3 एवं पीठासीन अधिकारी के कार्यों एवं दायित्वों की विस्तार से जानकारी प्रदाय करते हुए प्रोक्सी वोट, एएसडी वोट, दिव्यांग मतदाताओं के साथ आने वाले व्यक्ति से भरवाए जाने वाले घोषणा पत्र एवं चैलेज मत एवं मॉकपोल आदि के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रत्येक सेक्टर मजिस्ट्रेट को प्रत्येक दो घण्टे के मतदान की जानकारी अपने सेक्टर के तहत आने वाले मतदान केन्द्रों से एकत्रित करनी होगी।
(16 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2019मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer