समाचार
|| आदिवासी हितों के संरक्षण के प्रति सरकार प्रतिबद्ध || आदिवासी विकास विभाग में ऑनलाइन हुई स्थानांतरण प्रक्रिया || प्रदेश में वन अधिकार अधिनियम में प्राप्त दावों का लगभग सौ प्रतिशत निराकरण || महर्षि वाल्मीकि स्मृति पुरस्कार के लिए निर्णायक मण्डल गठित || जिले में अबतक 51.6 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज || किराना सामग्री एवं मोसमी हरी सब्‍जी के भाव पत्र 22 जून तक आमंत्रित || जिला स्तरीय आनंद सम्मेलन का आयोजन 27 जून 2019 को || वर्षा की स्थिति || नवागत कलेक्टर श्री तेजस्वी एस. नायक ने पदभार संभाला || किसानों के खातों में कर्ज़ माफी कि राशि नहीं खुशियाँ आई है (खुशियों की दास्ताँ)
अन्य ख़बरें
दिव्यांग, बुजुर्गों और गर्भवती महिलाओं को बिना लाइन में लगे वोट देने की सुविधा
-
इन्दौर | 17-अप्रैल-2019
 
 
    मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मध्यप्रदेश भोपाल श्री व्ही.एल.कांताराव की अध्यक्षता में आज कमिश्नर कार्यालय सभाकक्ष में मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ लोकसभा निर्वाचन-2019 की तैयारियों के संबंध में बैठक आयोजित की गयी। इस अवसर पर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री कांताराव ने कहा कि चुनाव आयोग स्वतंत्र,निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिये कृत संकल्पित है। इस संबंध में इंदौर संभाग में चुनाव की तैयारियां संतोषजनक हैं। आज इंदौर संभाग के सभी कलेक्टर और एसपी के साथ इस संबंध में आवश्यक बैठक आयोजित की गयी। बैठक में आदर्श आचार संहिता, कानून-व्यवस्था, संवदेनशील मतदान केन्द्रों के संबंध में बिन्दुवार समीक्षा की गयी।
    मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री कांताराव ने इस अवसर पर यह भी कहा कि इंदौर जिले में क्रिटिकल और बल्नरेवल मतदान केन्द्रों पर सीआरपीएफ के जवानों की ड्यूटी लगायी जायेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सी विजिल एप पर शिकायतों का 100 से 300 मिनट में समाधान किया जा रहा है। इसी प्रकार भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में जिला प्रशासन द्वारा 24 घण्टे में कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने कहा कि राजनैतिक दलों को सभा, रैली और हेलीकाप्टर उतरने के लिये परमिशन लेना अनिवार्य है। उन्हें यह परमिशन जिला प्रशासन द्वारा समय-सीमा में दी जायेगी।
    उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में बुजुर्गों, गर्भवती और धात्री माताओं तथा दिव्यांगों को बिना लाइन में लगे वोट देने की सुविधा दी जायेगी। सभी मतदान केन्द्रों पर लाइन में लगे मतदाताओं को छाया की व्यवस्था की जायेगी। उन्होंने बताया कि  शहरी क्षेत्र में मतदान का प्रतिशत कम रहता है और ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक। स्वीप प्लान के तहत शहरी क्षेत्रों में भी मतदान का प्रतिशत बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। हमारी कोशिश है कि आगामी लोकसभा चुनाव में प्रदेश में 75 प्रतिशत से अधिक मतदान हो। उन्होंने कहा कि सभी अभ्यर्थियों को जरूरत पड़ने पर मांग और जांच उपरांत पुलिस संरक्षण दिया जायेगा। मतगणना के दौरान प्रेक्षकों के सामने प्रत्येक विधानसभा की 5-5 व्हीव्हीपेट मशीन की गणना सुनिश्चित की जायेगी।
    उन्होंने कहा कि मतदाता सूची में नाम जोड़ने का सिलसिला अभी भी जारी है। मतदाता सूचीको 29 अप्रैल तक अंतिम रूप दिया जायेगा। मतदाता सूची की एक-एक प्रति सभी राजनैतिक दलों को उपलब्ध करायी जायेगी। ईव्हीएम मशीनों की फस्र्ट लेवल चेकिंग हो चुकी है। ईव्हीएम और व्हीव्हीपेट मशीन मतदान केन्द्र तक ले जाने वाले वाहनों में जीपीएस सिस्टम लगाया जा रहा है। प्रदेश में ऐसे वाहनों की संख्या लगभग 20 हजार होगी। निर्वाचन व्यय पर चुनाव आयोग द्वारा कड़ी नजर रखी जा रही है। आयकर, आबकारी और परिवहन विभाग द्वारा नियमित रूप से कार्यवाही की जा रही है।
    बैठक में सचिव भारत निर्वाचन आयोग श्री एस.बी.जोशी, अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संदीप यादव, संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी, एडीजीपी श्री वरूण कपूर, कलेक्टर श्री लोकेश कुमार जाटव मौजूद थे। बैठक में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी के प्रतिनिधि मौजूद थे।
 
(63 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2019जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer