समाचार
|| वित्तीय अनियमितता करने पर सचिव-सरपंचो को शोकाज नोटिस जारी || दो मुख्य कार्यपालन अधिकारी के खिलाफ कार्यपवाही के लिए प्रस्ताव भेजे || उपलब्ध जल का अपव्यय ना किया जाए || जिले में संचालित समस्त शैक्षणिक कोचिंग संस्थान की जांच हेतु दल गठित || पॉक्सो एक्ट : बच्चों को सुरक्षा की गारंटी || विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर जन-जागृति कार्यक्रम होंगे || पॉक्सो एक्ट : बच्चों को सुरक्षा की गारंटी || राजस्व अधिकारियों की बैठक 31 को || नगरीय निकायों एवं पंचायतों की मतदाता सूची के पुनरीक्षण के लिए प्रशिक्षण 3-4 जून को || आगामी नेशनल लोक अदालत 13 जुलाई को
अन्य ख़बरें
मलेरिया नियंत्रण की दिशा में सभी प्रकार के उपाय सुनिश्चित करें- कलेक्टर
विश्व मलेरिया दिवस पर अंतरविभागीय कार्यशाला आयोजित
श्योपुर | 25-अप्रैल-2019
 
   
 
   कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने कहा है कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में मलेरिया का प्रकोप अधिकांश देखने को मिलता है। जिसके कारण सर्दी और कंपन के साथ बुखार, उल्टी एवं सरदर्द के अलावा शरीर में थकावट व कमजोरी महसूस होती है। यह सब वाक्या डेंगू मच्छर के काटने से परिलक्षित होता है। इसलिए, मलेरिया नियंत्रण की दिशा में स्वास्थ्य एवं नगरीय निकाय संयुक्त अभियान चलाकर सभी प्रकार के उपाय सुनिश्चित करें। जिससे मच्छरों की पैदावार से होने वाले बुखार से लोगों को निजात मिलेगी। वे आज कलेक्टर कार्यालय श्योपुर के सभागार में विश्व मलेरिया दिवस पर आयोजित अंतरविभागीय कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे।
     कार्यशाला में सीएमएचओ डॉ. एनसी गुप्ता, सहायक आयुक्त आजाक श्रीएलआर मीणा, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास श्री रतन गुडिया, जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी श्री रिशु सुमन, सिविल सर्जन डॉ. आरबी गोयल, नगर पालिका के सीएमओ श्री ताराचंद धूलिया, मिली हेल्पइण्डिया परियोजना के जिला समन्वयक डॉ. संतोष भार्गव, अन्य विभागीय अधिकारी, ब्लाॅक मेडिकल आॅफिसर, चिकित्सक उपस्थित थे।
    कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि नगरीय क्षेत्रों में ड्रेनेज सिस्टम को सुधारा जाकर चोक नालियों में पानी भराव की निकासी नगरीय निकायों के माध्यम से सुनिश्चित की जावे। जिससे मच्छरों की पैदावार रूकेगी। साथ ही नालियों का गंदा पानी बाहर निकलकर दूरस्थ जगहों पर जाने में सहायक होगा। उन्होंने कहा कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के जलभराव वाले स्थानों पर मलेरिया रोधी दवाई डाली जावे। साथ ही तालाबों में जहां पानी रूकता हैं। वहां गंबूजिया मछली डालकर मच्छरों के लार्वा को नष्ट करने की कार्यवाही मलेरिया अधिकारी और अन्य विभागीय अधिकारी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि मलेरिया नियंत्रण की दिशा में पूरी प्लानिंग के साथ कार्यवाही की जावे। जिसमें ग्रामीण अंचलों के अलावा अरबन एरिया को फोकस किया जावे। जिसमें नगरीय निकायों के सीएमओ एवं मलेरिया अधिकारी की महत्वपूर्ण भूमिका है। जिसका निर्वहन निरंतर किया जावे। उन्होंने कहा कि फोगिंग मशीन के माध्यम से मच्छरों को भगाने और मारने की दिशा में आवश्यक कदम उठाए जावे। इस कार्यवाही से मलेरिया नियंत्रण की परिकल्पना साकार होगी।
     सीएमएचओ डॉ. एनसी गुप्ता ने कार्यशाला में अवगत कराया कि मलेरिया के लक्षण मुख्यतः शरीर में सर्दी व कंपन के साथ तेज बुखार आने पर तुरंत रक्त की जांच कराई जावे। इस जांच में मलेरिया की पुष्टी होने पर पूरा उपचार लिया जावे। खाली पेट दवा नहीं ली जावे। मलेरिया हेतु खून की जांच व उपचार सुविधा समस्त शासकीय अस्पतालों में निःशुक्ल उपलब्ध है।
     एस्प्रेड परियोजना फेमिलि हेल्प इण्डिया निःस्वार्थ संस्था के जिला समन्वयक डॉ. संतोष भार्गव ने कार्यशाला में स्लाइड के माध्यम से मलेरिया नियंत्रण के लक्षण, उपाय बताए साथ ही डेंगू व मलेरिया फैलाने वाले मच्छरों की पैदावार रोकने के संबंध में जानकारी दी।
मलेरिया नियंत्रण की दिशा में उपाय
    कलेक्टर श्री बसंत कुर्रे की अध्यक्षता में आयोजित अंतरविभागीय कार्यशाला में मलेरिया नियंत्रण की दिशा में उपाय बताए गए। जिसमें सोते समय मच्छरदानी का उपयोग, घर के आस-पास के गढ्ढो को भरने एवं टीमोफॉस, मिट्टी का तेल या जला हुआ इंजर ऑइल के साथ घर एवं आस-पास की अनुपयोगी सामग्री में पानी जमा होने से रोकने, सप्ताह में एक बार अपने टीन, डिब्बा, कूलर इत्यादी का पानी खाली करने, पानी के बर्तन को ढककर रखने के साथ हैंडपंप के पास पानी एकत्रित न होने के उपाय शामिल है।
(32 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2019जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer