समाचार
|| कलाकारों की प्रस्तुति से भोजपुर मंदिर प्रांगण हुआ भक्तिमय || प्रवर समिति की बैठक 23 फरवरी को || महाविद्यालयों में अध्ययनरत छात्र छात्राओं को उपयोगी जानकारी प्रदान करने हेतु ई-दिशा का शुभारंभ (खुशियों की दास्तां) || दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र (उड़ान) में दिव्यांग बच्चों के लिये कम्प्यूटर का बेसिक प्रशिक्षण प्रारंभ (खुशियों की दास्तां) || माताओं-बेटियों की जिन्दगी संवारने के लिये ग्राम पंचायत कन्नपुर में हुआ स्वास्थ्य संवाद (खुशियों की दास्तां) || अब शासकीय विभागों में बनाए जा रहे हैं आधार कार्ड (खुशियों की दास्तां) || श्रीराम के ओरछा आगमन की कथा से शुरू होगा महोत्सव (खुशियों की दास्तां) || हिन्दू-मुस्लिम सद्भाव का प्रतीक बना, नर्मदा गौ-कुंभ का शिवलिंग"खुशियों की दास्तां"" || वित्त मंत्री श्री तरूण भनोत ने किया नर्मदा गौ-कुंभ आयोजन स्थल का निरीक्षण || कुंभ के दौरान नर्मदा तट को रखेंगे साफ-सुथरा
अन्य ख़बरें
मतगणना का कार्य भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों का पालन करते हुए किया जावे (लोकसभा निर्वाचन-2019)
माईक्रो आब्जर्वर का प्रशिक्षण सम्पन्न
देवास | 16-मई-2019
 
   
   मतगणना में माईक्रो आब्जर्वर की भूमिका महत्वपूर्ण है। मतगणना की प्रक्रिया के दौरान पूरी निष्पक्षता व पारदर्शिता बरती जाए। सभी प्रशिक्षणार्थी गणना की प्रकिया को भली भांति समझ लेंवे और उसके अनुरूप कार्य संपादित करना सुनिश्चित करें। मतगणना का कार्य भारत निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए किया जाये। मतगणना स्थल पर निर्धारित समय पर उपस्थित रहें। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा गणना कक्ष में मोबाइल पूर्णत: प्रतिबंधित किया गया है।
   कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. श्रीकान्त पाण्डेय के मार्गदर्शन में बुधवार को जिला पंचायत सभाकक्ष में माईक्रो आब्जर्वर का प्रशिक्षण सम्पन्न हुआ। प्रशिक्षण में सामान्य प्रेक्षक श्री सी. रविशंकर विशेषतौर से उपस्थित थे। प्रशिक्षण मास्टर ट्रेनर्स डॉ. अजय काले, डॉ एसपीएस राणा एवं डॉ. समीरा नईम ने दिया।
   प्रशिक्षण में बताया गया कि माइक्रो आब्जर्वरों का विधानसभा क्षेत्रवार रेण्डोंमाइजेशन होगा, जिसमें माईक्रो आर्ब्जवर को विधानसभा क्षेत्र आवंटित होगा। इसके पश्चात गणना स्थल पर मतगणना के दिन माईक्रो आर्ब्जवरों का गणना कक्ष की टेबल आवंटन के लिए रेण्डोंमाइजेशन किया जायेगा।
   प्रेक्षक श्री सी. रविशंकर ने माइक्रो आब्जर्वरों को संबोधित करते हुए कहा कि वे निर्वाचन आयोग के तथा प्रेक्षक के प्रति उत्तरदायी हैं। उन्हें गलतियां नहीं ढूंढना है बल्कि सहयोगात्मक रवैया अपनाते हुए मतगणना को निर्विघ्न सम्पन्न करवाना है, किन्तु कोई बड़ी गलती हो तो उससे प्रेक्षक को अवश्य अवगत करवाने है।
   डॉ. काले ने विषय प्रवर्तन करते हुए केंद्रीय विद्यालय की व्यवस्थाओं के बारे में बताया। दो विधानसभा क्षेत्र की 14-14 टेबलें भूतल तथा तीन विधानसभा क्षेत्रों की 7-7 के हिसाब से टेबलें प्रथम तल पर छः कक्षों में लगाई जाएंगी।
   प्रशिक्षण में डा. समीरा नईम ने बताया कि मतगणना की शुरूआत आर ओ स्तर पर डाकमत पत्रों की गणना से होगी। ई.व्ही.एम. के मतों की गणना इसके आधे घंटे बाद प्रारम्भ होगी। ईवीएम की गणना पूर्ण होने पर प्रत्येक विधानसभा से पांच वीवीपीएटी रैंडम आधार पर निकाली जाएगी तथा इनकी पर्चियों की गणना इसके लिए बनाए गए विशेष वीवीपीएटी काउंटिंग बूथ (वी सी बी) में की जाएगी तथा अभ्यर्थी वार 25-25 पर्चियों की रबर बैंड से गड्डियां बनाई जाएंगी। गणना के उपरांत इन गड्डियों को वीवीपीएटी के ड्राप बॉक्स में रख कर सील कर दिया जाएगा।
   प्रशिक्षण में डॉ. राणा ने बताया कि मतगणना के पूर्व गणना पर्यवेक्षक ईवीएम के केरिंग केस पर लगे एड्रेस टैग के नंबर तथा मशीन पर अंकित नंबर का मिलान करेंगे और मशीन तथा सभी प्रकार की सीलों को अभ्यर्थी के एजेन्ट को भी दिखायेंगे। इसके बाद कंट्रोल यूनिट का रिजल्ट सेक्शन खोला जाएगा। फिर रिजल्ट बटन दबाकर डाले गये मतों की अभ्यर्थीवार संख्या को मतपत्र लेखा के पूर्व से मुद्रित भाग दो में अंकित किया जाएगा तथा प्रदर्शन खंड को एजेंट्स को भी दिखाया जाएगा।
(282 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2020मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
2425262728291
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer