समाचार
|| मलखंब दिवस पर मंत्री श्री पटवारी ने खिलाड़ियों के प्रदर्शन को देखा || किसी भी किसान को खाद-बीज के संबंध में दिक्कत नहीं आना चाहिये- प्रभारी मंत्री श्री पटवारी || समाज के सभी वर्गों के कल्याण और विकास के लिए सतत काम कर रही है प्रदेश सरकार- डॉ. चौधरी || पीईवी द्वारा आयोजित परीक्षा के लिये निःशुल्क परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण हेतु आवेदन आमंत्रित || फोटोकॉपी हेतु निविदायें आमंत्रित || वाहन हेतु निविदा आमंत्रित || 25 सितम्बर को होगा फोटोयुक्त मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन || मध्य प्रदेश पुलिस (बैंड) के पद पर भर्ती || भारतीय थल सेना में रिलेसन के आधार पर सैनिकों की भर्ती || आज का अधिकतम तापमान 41.0 डि.से.
अन्य ख़बरें
सभी अधिकारी अधिक से अधिक हितग्राहियों को शासन की योजनाओं का लाभ दिलायें
जहां पेयजल की समस्या है, वहां सबसे पहले पूर्ति करायें, शत्-प्रतिशत किसानों के खाते में उपार्जित गेहूं की राशि जमा करायें, दिव्यांजनों की आवश्यकताओं का आंकलन कर लें और कैंप लगाकर उन्हें ट्राईसाईकिल और मोटराईज्ड साईकिल उपलब्ध करायें, मंत्री श्री राठौर ने विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान दिये निर्देश
टीकमगढ़ | 05-जून-2019
 
 
  म.प्र. शासन के वाणिज्य कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष टीकमगढ़ में जिले के अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा की। इस अवसर पर जिला पंचायत की मुख्यकार्यपालन अधिकारी एवं प्रभारी कलेक्टर श्रीमती नीतू माथुर, एसपी श्री अनुराग सुजानिया, अपर कलेक्टर श्री एसके अहिरवार, एसडीएम टीकमगढ़ श्री सीपी पटेल, एसडीएम जतारा श्री आरएस बांकना, एसडीएम बल्देवगढ़ सुश्री वंदना राजपूत, डिप्टी कलेक्टर श्री विकास आनंद एवं श्री पीएस गुर्जर, एसई विद्युत मंडल श्री एलपी खटीक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. वर्षा राय, जिला पंचायत के एडिशनल सीईओ श्री चंद्रसेन सिंह एवं संबंधित जिला अधिकारी उपस्थित रहे। बैठक में स्वास्थ्य, लोक-स्वास्थ्य यांत्रिकी, विद्युत, महिला एवं बाल विकास, कृषि, सिंचाई सहित संबंधित विभागों ने पावर प्वाईंट प्रेजन्टेशनल के माध्यम से जानकारी प्रस्तुत की।
   मंत्री श्री राठौर ने कहा कि सभी अधिकारी अधिक से अधिक हितग्राहियों को शासन की योजनाओं का लाभ दिलायें। उन्होंने कहा कि साथ ही आप हमें बतायें कि किस प्रकार  शासन स्तर से हम जिले के लिये विकास के लिये अधिक से अधिक कार्य करा सकें, जिससे लोगों के जीवन स्तर में सुधार हो। उन्होंने कहा कि किसानों को खाद, पानी और बिजली समय पर तथा पर्याप्त मिले यह सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि इस हेतु सभी मिलकर प्रयास करें। उन्होंने कहा जहां समस्या आये तो मुझे तुरंत सूचित करें, जिससे उसका समाधान किया जा सके।
   मंत्री श्री राठौर ने कहा कि जहां पेयजल की समस्या है, वहां सबसे पहले पूर्ति करायें। उन्होंने कहा कि कहीं भी पेयजल की समस्या नहीं हो, यह सुनिश्चित किया जाये। साथ ही इस हेतु स्थायी कार्य योजना बनायें, जिससे जिले में पानी की समस्या का स्थाई समाधान हो सके। उन्होंने कहा कि टीलादांत बांध, जामनी नदी एवं अन्य बड़े जल स्त्रोतों से स्थाई प्रकार के जल स्त्रोत तैयार करायें। उन्होंने कहा कि जलनिगम भीतरी पाईपलाईन को सड़क से कम से कम एक मीटर दूर रखें जिससे सड़क चौड़ी होने पर पाईप लाईन में समस्या नहीं हो।
   श्री राठौर ने कहा कि गेहूं उपार्जन में शत्-प्रतिशत किसानों के खाते में उपार्जित गेहूं की राशि जमा हो, यह सुनिश्चित किया जाये। बैठक में बताया गया कि जिले में 90 प्रतिशत किसानों का भुगतान हो चुका है। मंत्री श्री राठौर ने निर्देशित किया कि शेष किसानों का भुगतान एक सप्ताह में किया जाये। उन्होंने कहा कि किसान परेशान नहीं हो, इसका ख्याल रखा जाये, इसकी औचक जांच भी करायें।
   महिला एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा करते हुये मंत्री श्री राठौर ने कहा कि 6 माह के अंदर पोषण आहार एवं अन्य सेवाओं की शत-प्रतिशत पूर्ति सुनिश्चित करायें। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि किसानों को शासन की सभी योजनाओं का लाभ मिले, यह सुनिश्चित किया जाये। उद्यानिकी विभाग की समीक्षा करते हुये उन्होंने कहा कि जिले में उद्यानिकी विकास की अनेक संभावनायें हैं, जिससे गरीब किसानों को अतिरिक्त लाभ हो सकता है। योजनाओं का प्रचार प्रसार करायें जिससे अधिक से अधिक लोग इसका लाभ ले सकें।
दिव्यांजनों की आवश्यकताओं का आंकलन कर लें और कैंप लगाकर उन्हें ट्राईसाईकिल और मोटराईज्ड साईकिल उपलब्ध करायें
   मंत्री श्री राठौर ने ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा के दौरान निर्देशित किया कि पीएमएवाई के लंबित प्रकरणों का कार्य शीघ्र पूर्ण करायें। उन्होंने बताया कि मनरेगा में जहां लापरवाही हो रही है उनके विरूद्ध सख्त कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि जिले में दिव्यांजनों की आवश्यकताओं का आंकलन कर लें और कैंप लगाकर उन्हें ट्राईसाईकिल और मोटराईज्ड साईकिल उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि नदियों और तालाबों को लिंक करके इस तरह योजना प्रस्तावित करें, जिससे नदी एवं तालाबों में 12 महीने पानी की उपलब्धता रहे। सामाजिक न्याय विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन की बढ़ी हुई राशि हितग्राहियों को अप्रैल 2019 से मिलना शुरू हो गई है।
   बैठक में जिला पंचायत की मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्रीमती नीतू माथुर ने ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा के दौरान बताया कि पीएमएवाई के लंबित प्रकरणों का कार्य शीघ्र पूर्ण कराने का प्रयास किया जा रहा है। शेष एक रूम कच्चे वाले घरों के हितग्राहियों के नवीन आवास के प्रकरणों का पंजीयन कराया गया है तथा पोर्टल प्रारंभ होते ही पंजीयन कराकर कार्य प्रारंभ कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि जिले में नदियों एवं तालाबों के पुर्नजीवन का कार्य कराया जा रहा है। उन्होने कहा कि नदियों एवं तालाबों में जलसंरक्षण के कार्य कराये जा रहे है। इसके अलावा जिले में अन्य नदियों में जलसंरक्षण एवं जल संवर्धन के लिये कार्य कराये जाने की कार्य योजना बनाई जा रही है। उन्होंने बताया कि जिन क्षेत्रों मे ग्रीष्मकाल में कुऐ और हैण्डपंप सूख जाते है, उन क्षेत्र में जलसंरक्षण एवं संवर्धन के व्यापक स्तर पर कार्य कराये जायेगे। जलसंरक्षण और संवर्धन के प्रति लोगों में जागरूकता लाने के लिये ग्राम पंचायत के सचिव उद्यानिकी विभाग, आजीविका मिशन के सदस्य और कृषि विभाग के मैदानी कर्मचारी गांवो में जाकर लोगो को जलसंरक्षण एवं संवर्धन का महत्व बतायेगे तथा उन्हें जलसंरक्षण संरचनाएं बनाने के लिये प्रेरित और प्रोत्साहित करेंगे।
सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं किया गया
   बैठक में सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं किया गया। इसके तहत सभी को कांच के ग्लास में पानी पिलाया गया तथा कांच के कप में ही चाय पिलाई गई। इस संबंध में जिला पंचायत की मुख्यकार्यपालन अधिकारी एवं प्रभारी कलेक्टर श्रीमती नीतू माथुर ने बताया कि भारत सरकार द्वारा वर्ष 2022 तक सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग को फेज आउट करने का संकल्प लिया गया है। भारत सरकार द्वारा लिये गये संकल्प के अनुरूप मध्यप्रदेश शासन के समस्त कार्यालयों को सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त घोषित किया गया है। उन्होंने बताया कि कार्यालयों में होने वाले सार्वजनिक कार्यक्रमों के दौरान डिस्पोजेबिल प्लास्टिक वस्तुयें, प्लास्टिक कैरी बैग्स, फूड पैकेजिंग, प्लास्टिक फ्लावर पार्ट, बैनर, झंडे, पैट बाट्ल्स, कटलरी प्लेट्स, कप ग्लास, स्ट्रा, फोकर्स, स्पून्स, पाउच/शेसे आदि तथा थर्माकॉल से निर्मित सजावट एवं अन्य सामान को प्रतिबंधित किया गया है।
   इस अवसर पर उपसंचालक कृषि श्री एसके श्रीवास्तव, ईई पीडब्ल्यूडी श्री केके शर्मा, विद्युत मंडल श्री विकास सिंह, श्री आरएस चतुर्वेदी, जिला योजना अधिकारी श्री रामबाबू गुप्ता, जिला परिवहन अधिकारी श्री विमलेश गुप्ता, सहायक संचालक मत्स्य श्री आरके मिश्रा, महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री बृजेश त्रिपाठी, डीपीओ एनआरएलएम श्रीमती अर्पणा पांडे, जिला प्रबंधक ई-गवर्नेंस श्री मनीष खरे सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।
(11 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2019जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer