समाचार
|| ग्राम पंचायत स्तरीय जनसुनवाई में मौजूद रहेंगे जिला स्तरीय अधिकारी || लंबित प्रकरणों का निराकरण तत्परता से करें || राजस्व अधिकारियों की बैठक 23 जुलाई को || जिले की जानकारी अब एक क्लिक पर उपलब्ध || अमरवाड़ा में विकासखंड स्तरीय उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन आज || डीम्ड असेसमेन्ट योजनान्तर्गत 25 जुलाई तक आवेदन पत्र प्रस्तुत करें || स्वतंत्रता दिवस मुख्य समारोह की पूर्व तैयारियां संबंधी बैठक आयोजित || राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत कुष्ठ रोगी खोज अभियान संबंधी बैठक संपन्न || कलेक्टर ने बैठक में सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों की समीक्षा कर अधिकारियों को निराकरण करने के दिये निर्देश || समय सीमा के पत्रों की समीक्षा बैठक संपन्न
अन्य ख़बरें
कृषि आय को दुगनी करने रोडमैप का क्रियान्वयन गंभीरता पूर्वक करें - कलेक्टर
कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन एवं संबद्ध विभागों की समीक्षा
कटनी | 11-जून-2019
 
      कलेक्टर शशिभूषण सिंह ने कृषि और संबद्ध विभागों के अधिकारियों को पांच वर्ष में किसानो की आय दुगनी करने तैयार रोडमैप की गतिविधियों का क्रियान्वयन गंभीरता पूर्वक करने के निर्देश दिये हैं। उन्होने कहा कि जैविक खेती और समन्वित कृषि को बढ़ावा देते हुये जिले के अधिक से अधिक किसानों को इसके दायरे में शामिल करें। कलेक्टर श्री सिंह ने मंगलवार को कृषि, उद्यानिकी, पशुपालन, दुग्धसंघ, मत्स्य विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय गतिविधियों की समीक्षा भी की। इस मौके पर उप संचालक कृषि ए.के. राठौर, उप संचालक पशु चिकित्सा डॉ. आर.पी.एस. गहरवार, सहायक संचालक मत्स्य अजय केलकर, उद्यानिकी से जी.एल. प्रजापति, परियोजना संचालक आत्मा एवं वेटनरी सर्जन भी उपस्थित थे।

   कलेक्टर श्री सिंह ने विगतदिनों संभागस्तरीय कृषि उत्पादन आयुक्त की समीक्षा बैठक में प्राप्त निर्देशों की जानकारी देते हुये कहा कि कृषि फसल बीमा योजना में अऋणी किसानों को अधिक से अधिक रुप से शामिल करे। जिले में मृदा परीक्षण के वितरण होने से शेष रहे स्वाईल टेस्ट कार्ड 20 जून तक अनिवार्य रुप से किसानों को वितरित करायें। जिले में गौशाला स्थापना के निर्धारित लक्ष्य 30 के विरुद्ध 21 गौशाला चिन्हांकन के दृष्टिगत कलेक्टर ने शेष 9 गौशालाओं की स्थापना के लिये तहसीलदार से संपर्क कर स्थल का चिन्हांकन करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि विकासखण्ड स्तरीय पशुकल्याण समितियों का गठन 3 दिवस के भीतर पूर्ण करें तथा बीमार पशुओं के उपचार के लिये पशुधन संजीवनी योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार करें। ताकि ज्यादा से ज्यादा पशु पालक इसका लाभ उठा सकें। टोलफ्री कॉल सेन्टर के नम्बर 1962 का भी प्रचार करने के निर्देश दिये गये।

   कलेक्टर श्री सिंह ने पांच साल में किसानों की आय दुगना करने के तैयार रोडमैप के तहत 5 वर्ष के भौतिक लक्ष्य, वार्षिक लक्ष्य, रोडमैप की 2018-19 की प्रगति और वर्ष 2019़-20 के रोडमैप के लक्ष्य और गतिविधियों की समीक्षा की। उन्होने कहा कि उद्यानिकी फसलें, दुग्ध उत्पादन, मत्स्य पालन, कुक्कुट पालन, डेयरी आदि की गतिविधियों के साथ ही समन्वित खेती और जैविक खेती को बढ़ावा देकर लक्ष्यों की प्राप्ति की जा सकती है। उन्होने कहा कि जायद खेती में ग्रीष्मकालीन मूंग और मक्के की खेती को प्राथमिकता दें। यह किसानों की अतिरिक्त आय होगी।

   उन्होने कहा कि अर्न्तवर्तीय फसलों और धान की एसआरआई पद्धति तथा कृषि की उन्नत तकनीकों को अपनाने कृषि विज्ञान केन्द्र, आत्मा परियोजना, कृषि विभाग के अमले के दल गठित कर क्लस्टरवाईज किसानों को प्रशिक्षण दें। अमानक स्तर के खाद-बीज के नमूनों की जांच की कार्यवाही सतत् चलनी चाहिये। अमानक स्तर के कृषि सामग्री विक्रय पर लाइसेन्स निरस्त करने के साथ ही पुलिस में प्रकरण भी दर्ज करायें।

   उप संचालक कृषि ने बताया कि जिले में 2 लाख 20 हजार हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि है, जिसमें खरीफ सीजन के लिये संशोधित रुप से एक लाख 77 हजार हैक्टेयर में क्षेत्राच्छादन का लक्ष्य रखा गया है। खरीफ सीजन के लिये 2019-20 में 38 हजार क्विंटन बीज और 30 हजार 85 मेट्रिक टन उर्वरक की आवश्यकता होगी। अर्न्तवर्तीय फसलों में अरहर, उड़द तथा ज्वार, उड़द को बढ़ावा दिया जा रहा है। कटनी से स्लीमनाबाद वाले क्षेत्र में सालभर स्वीटकॉर्न उत्पादन करने की योजना है। ढीमरखेड़ा और बहोरीबंद क्षेत्र के क्लस्टर में जैविक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है। उद्यानिकी विभाग के तहत आम, अमरुद, नींबू और आंवले के फलोद्यान और मछली पालन विभाग के तहत मत्स्य जलाशयों में मत्स्य पालन के साथ ही सिंघाड़ा उत्पादन की भी कार्ययोजना तैयार की गई है।
(41 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2019अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
24252627282930
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer